• सब के सब ठरकी!

    अदालत में कोई मुक़दमा चल रहा था और बचाव पक्ष का वकील अलग-अलग गवाहों से जिरह कर रहा था। इतने में एक खूबसूरत सी लड़की को बुलाया गया।

    बचाव पक्ष के वकील ने अपने तीव्र अंदाज़ में लड़की से पूछा, "सोमवार की रात तुम कहाँ पर थी?"

    लड़की ने जवाब दिया, "जी, मैं अपने एक दोस्त के साथ थी।"

    वकील ने फिर से पूछा, "मंगलवार की रात को तुम कहाँ थी?"

    लड़की ने जवाब दिया, "जी मैं अपने एक दोस्त के साथ थी?"

    वकील ने तीसरा सवाल किया, "कल रात तुम क्या कर रही हो?"

    इससे पहले की लड़की कोई जवाब देती विपक्षी वकील अपनी कुर्सी से खड़ा हुआ और चिल्लाया, "मुझे इस सवाल पर ऐतराज़ है।"

    जज: क्यों ऐतराज़ है?

    विपक्षी वकील: जज साहब कल रात के लिए पहले मैंने पूछा है!
  • बुढ़ापे की परेशानियां!

    एक बार एक मरीज़ डॉक्टर के पास आया और बोला, "डॉक्टर साहब, मैं बहुत परेशान हूँ।"

    डॉक्टर: क्यों क्या परेशानी है बताओ?

    मरीज़: डॉक्टर साहब पहली पर चढ़ने के बाद मैं थक जाता हूँ, दूसरी के बाद मेरी सांस फूंल जाती है, तीसरी के बाद मेरा दिल ढोल की तरह बजने लग जाता है और चौथी के बाद मुझे ठंडा पसीना छूट जाता है।

    डॉक्टर: आप की उम्र कितनी है?

    मरीज़: 70 साल।

    डॉक्टर: उम्र तो ज्यादा है, इस उम्र में तो आपको पहली पर ही रुक जाना चाहिए।

    मरीज़: पहली पर कैसे रुक सकता हूँ, मेरा घर तो चौथी मंज़िल पर है!
  • समझदार खरगोश!

    एक बार एक परी ने देखा कि एक शेर खरगोश का पीछा कर रहा है।

    परी ने शेर को रोक कर कहा कि अगर तुम ऐसा ना करो तो मैं तुम दोनों की 3-3 इच्छा पूरी करुँगी।

    शेर इस बात से सहमत हो गया।

    परी: ठीक है बताओ तुम्हारी इच्छा क्या है?

    शेर: मैं चाहता हूँ कि तुम इस जंगल में मेरे इलावा सभी शेरों को शेरनियां बना दो।

    खरगोश: मुझे एक हेलमेट चाहिए।

    शेर: साथ वाले जंगल के सभी शेरों को भी शेरनियां बना दो।

    खरगोश: एक मोटरसाइकिल चाहिए।

    शेर: सारी दुनिया के जंगलों के शेरों को शेरनियां बना दो।

    खरगोश ने मोटरसाइकिल स्टार्ट की हेलमेट पहना और बोला, "इस शेर को समलैंगिक बना दो।"
  • होनी को कौन टाल सकता है!

    दो भूत मरने के बाद आपस में बात कर रहे थे।

    पहला भूत: तुम कैसे मरे?

    दूसरा भूत: ठण्ड के कारण।

    पहला भूत: पर आज-कल तो गर्मी का मौसम है।

    दूसरा भूत: बस किसी चुतिये की वजह से। तुम बताओ तुम कैसे मरे?

    पहला भूत: मुझे अपनी घरवाली पर शक था। एक दिन उसको रंगे हाथों पकड़ने के लिए मैं घर जल्दी पहुँच गया। पूरा घर छान मारा लेकिन उसका आशिक़ कहीं न मिला तो शर्म के मारे मैंने आत्महत्या कर ली।

    दूसरा भूत: साले भोसड़ी के जहाँ पूरा घर देख लिया था तो फ्रिज खोल कर भी देख लेता तो आज हम दोनों ज़िंदा होते!