• पांच सौ रूपए दूंगा!

    एक बार बंता संता के घर गया, उसने डोरबेल बजाई, संता की पत्नी ने दरवाजा खोला तो बंता ने पूछा जी, क्या संता जी घर पर है?

    संता की पत्नी ने जवाब दिया जी नहीं, वे बाजार गए है, अगर जरुरी काम है तो आप इन्तजार करें वे आते ही होंगे!

    बंता अन्दर चला गया थोड़ी देर बैठने के बाद इधर उधर की बातें होती रही फिर बंता एक दम से बोल पड़ा:

    जीतो जी, एक बात कहूँ आपके वक्ष काफी बड़े और सुन्दर हैं, और मैंने आज तक इतने बड़े वक्ष नहीं देखे है, अगर आप मुझे अपना एक वक्ष दिखा दें तो मैं आपको 500 रूपए दूंगा!

    जीतो ने थोड़ी देर सोचा और कहा क्या 500 रूपए सिर्फ दिखाने के!

    जीतो ने जल्दी से एक वक्ष कमीज से बाहर निकाला और बंता को दिखाया!

    बंता ने उसकी तारीफ करते हुए कहा कि अगर आप मुझे दूसरा वक्ष भी दिखा दो तो मैं तुम्हें और 500 रूपए दूंगा मैं तुम्हारे दोनों वक्षों को में देखना चाहता हूँ!

    जीतो ने तुरंत अपना कमीज को ऊपर उठाया और दोनों वक्ष उसके सामने कर दिए!

    बंता ने उन्हें देखा और 500 रूपए टेबल पर फेंकता हुआ उठ गया और कहने लगा अब मैं चलता हूँ और बंता वहां से निकल गया!

    बंता के जाने के थोड़ी देर बाद संता जब घर पहुंचा तो उसकी बीवी ने ख़ुशी प्रकट करते हुए कहा आज आपके एक बहुत अच्छे दोस्त आये थे उनका नाम बंता है और उन्होंने...... अभी उसकी बात पूरी भी नहीं हुई थी कि संता बोल पड़ा!

    क्या उसने हजार रूपए दिए, जो वो मुझसे उधार ले गया था?
  • शराब का सुरूर!

    एक बार एक बादशाह ने अपने राज्य में एलान करवा दिया कि जो भी आदमी तीन ड्रम शराब पीकर, एक शेर के दाँत तोड़ेगा और एक लड़की के साथ तब तक सेक्स करेगा जब तक वो बेहोश न हो जाये, उसे मुँह माँगा इनाम दिया जायेगा।

    एलान सुन कर दूर-दूर से बहुत सारे लोग आये लेकिन हर कोई एक या दो ड्रम शराब पीने के बाद ही चित हो जाते।
    अंत में एक पठान भी आया। पठान ने तीन ड्रम शराब पी और शेर के पिंजरे में घुस गया।

    बहुत देर के बाद पठान पिंजरे से बाहर आया और बोला, "कहाँ है वो लड़की जिसके दांत तोड़ने हैं?"
  • आप 10:00 बजे आना!

    एक सेवानिवृत सिपाई एक सरकारी कार्यालय में नौकरी के लिए इंटरव्यू देने जाता है!

    साक्षात्कारकर्त्ता उससे पूछता है, क्या तुम एक पुराने सिपाही हो?

    आदमी उत्तर देता है, हाँ, वास्तव में मैं पाकिस्तान से लड़ी गयी दो लड़ाइयों में शामिल था!

    बहुत अच्छे साक्षात्कारकर्त्ता कहता है, यह तुम्हारे पक्ष में जाता है, क्या तुम्हें नौकरी के दौरान चोट इत्यादि से कोई विकलांगता तो नहीं हुई!

    आदमी उत्तर देता है, वास्तव में मैं 100% विकलांग हूँ एक युद्ध के दौरान एक विस्फोट के कारण मेरे गुप्तांगों को हटाना पड़ा, अतः मुझे भी विकलांग घोषित कर दिया गया, यद्यपि इससे मेरे कार्यक्षमता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा!

    आपके द्वारा उठायी गयी हानि को सुनकर दुःख हुआ, पर आपके लिए मेरे पास शुभ समाचार है, मैं आपको तुरन्त नौकरी पर रखता हूँ!

    हमारी कार्यावधि 8:00 सुबह से लेकर 4:00 शाम तक है, आप काम पर 10:00 के लगभग आ जाईए, और आप काम करना प्रारम्भ कर दीजिए!

    आदमी कहता है यदि कार्यावधि 8:00 बजे से 4:00 बजे तक है तो आप क्यों चाहते हैं कि मैं 10:00 बजे आऊँ?

    देखिए, यह एक सरकारी कार्यालय है हम पहले दो घण्टे कुछ नहीं करते हैं बस बैठकर अपने अंडकोषों को खुजलाते हैं, तो आप तो उन दो घण्टों में वह भी नहीं कर सकते!
  • तुम कैसे खोलोगे!

    एक रात, एक लड़का और उसकी गर्लफ्रेंड अपने अपार्टमेन्ट में जाने ही वाले थे, कि बस दरवाज़ा खोलने से पहले, लड़की ने कहा, “एक मिनट रूको, तुम्हारे दरवाज़ा खोलने के तरीके से बता सकती हूँ की तुम किसी महिला को किस तरह प्यार करते होगे!

    लड़का कहता है अच्छा, मुझे कुछ उदाहरण देकर बताओ!

    एक और आदमी जो आता है और ताले के छेद को टटोलता है और उसे छेद नहीं मिलता इसका मतलब वह अनुभवहीन है, और ऐसा आदमी भी मुझे नहीं चाहिए!

    उसके बाद लड़की ने लड़के से पूछा तुम दरवाज़ा कैसे खोलते हो?

    लड़के ने उत्तर दिया, मैं तो कुछ भी करने से पहले ताले को चाटता हूँ!