• बेइज़्ज़ती की नयी परिभाषा!

    शादी के बाद दो दोस्तों की मुलाकात हुई तो एक दूसरे का हाल पूँछने लगे।

    पहला: और भाई कैसे गुजर रहा है?

    दूसरा: सब खैरियत है। आपस में बहुत ही अंडरस्टैंडिंग है। सुबह दोनों मिलकर नाश्ता बनाते हैं, फिर बातों बातों में बर्तन धो लेते हैं।प्यार प्यार से मिल बांट कर सारे कपड़े धो लेते हैं। कभी वह किसी खास डिश की फरमाइश कर देती हैं और कभी मैं अपनी मर्जी से कुछ पका लेता हूँ। मेरी बीबी बहुत सफाई पसंद है, इसलिये घर की साफ सफाई मेरी जिम्मेदारी है।

    फिर दूसरे ने पहले से पूछा, "आप सुनाओ आपकी कैसे गुजर रही है?"

    पहला: भाईजान बेइज्जती तो मेरी भी इतनी ही हो रही है जितनी आपकी। लेकिन मुझे आपकी तरह Power Point Presentation बनाना नहीं आता।
  • हाज़िर जवाबी!

    रात भर पति पत्नी लड़ते लड़ते सो गये। दूसरे दिन सुबह हुई तो पति उठा और लेटी हुई पत्नी के लिए गरमा-गरम दूध लेकर हाजिर हुआ।

    पत्नी: तो इस तरह तुम रात की लड़ाई के लिए माफी माग रहे हो।

    पति: किसने कहा माफी मांग रहा हूं। आज नागपंचमी है, नागिन दूध पी ले।

    यह कहकर पति दफ्तर चला गया।

    शाम को पति ने घर पर फोन किया और पत्नी से पूछा,"शाम के खाने में क्या बनाया है?"

    पत्नी: आज जल्दी आ जाओ, जहर बनाया है।

    पति: दरअसल आज रात दफ्तर में देर हो जायेगी, ऐसा करो तुम खाकर सो जाओ।
  • पत्नी के फायदे!

    पहले मैं बहुत प्रेशान रहता था हमेशा सोता रहता था। मुझसे काम नही हो पाता था। घर वालों के ताने सुनकर रो दिया करता था।

    फिर मैंने इस नए प्रोडक्ट के बारे में सुना, जिसका नाम है 'पत्नी'।

    यह सच में बहुत लाजवाब है। अब मैं अपनी नींद केवल 2-3 घंटे में ही पूरी कर लेता हूँ और हर तरह का काम कर लेता हूँ। दुनिया भर के ताने और गलियाँ हँसते-हँसते सह लेता हूँ। कितनी भी मुसीबत आए हमेशा खुश रहता हूँ। दुःख सुख की फिक्र से ऊपर उठ गया हूँ। नरक और स्वर्ग यहीं है इसका भेद समझ गया हूँ। मुझे अपने दुश्मनों से भी प्यार हो गया है। सच में पत्नी असरदार है।

    इसलिए अपनी पत्नी की फोटो हमेशा अपने पास रखो और जब भी तुम्हें किसी प्रकार की कोई घबराहट हो तो अपनी पत्नी की फोटो देख लो। तुम ज़रूर कामयाब हो जाओगे क्योंकि अगर तुम अपनी पत्नी को सह सकते हो तो सच में तुम कुछ भी कर सकते हो।
  • पत्नी के बदलते रंग!

    शादी के बाद पत्नी कैसे बदलती है, जरा गौर कीजिए:

    पहले साल: मैंने कहा जी खाना खा लीजिए, आपने काफी देर से कुछ नहीं खाया।

    दूसरे साल: जी खाना तैयार है, लगा दूं।

    तीसरे साल: खाना बन चुका है, जब खाना हो तब बता देना।

    चौथे साल: खाना बनाकर रख दिया है, मैं बाजार जा रही हूं, खुद ही निकालकर खा लेना।

    पांचवे साल: मैं कहती हूं आज मुझसे खाना नहीं बनेगा, होटल से ले आओ।

    छठे साल: जब देखो खाना, खाना और खाना, अभी सुबह ही तो खाया था।