• जहां तुम हो वही से शुरू करो, जो कुछ भी तुम्हारे पास है उसका उपयोग करो और वह करो जो तुम कर सकते हो|
    जहां तुम हो वही से शुरू करो, जो कुछ भी तुम्हारे पास है उसका उपयोग करो और वह करो जो तुम कर सकते हो|
    ~ Author Unknown
  • मुझे किसी दूसरी वस्तु की इतनी आवश्यकता नहीं है जितनी की आत्मपूजा की भूख के पोषण की।
    मुझे किसी दूसरी वस्तु की इतनी आवश्यकता नहीं है जितनी की आत्मपूजा की भूख के पोषण की।
    ~ Author Unknown
  • जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते हैं, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते।
    जब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों की वजह दूसरों को मानते हैं, तब तक आप अपनी समस्याओं एंव कठिनाइयों को मिटा नहीं सकते।
    ~ Author Unknown
  • पूर्णता का ढोंग करने से गलतियाँ करना बेहतर है।
    पूर्णता का ढोंग करने से गलतियाँ करना बेहतर है।
    ~ Author Unknown
  • जो चुनौतियों का सामना करने से डरता है, उसका असफल होना तय है।
    जो चुनौतियों का सामना करने से डरता है, उसका असफल होना तय है।
    ~ Author Unknown
  • बिना चाभी के आज तक कोई ताला नहीं बना, इसी तरह भगवान ने बिना हल के कोई समस्या नहीं बनाई।
    बिना चाभी के आज तक कोई ताला नहीं बना, इसी तरह भगवान ने बिना हल के कोई समस्या नहीं बनाई।
    ~ Author Unknown
  • जो काम भी आ जाये, साधना समझ कर पूरा करो।
    जो काम भी आ जाये, साधना समझ कर पूरा करो।
    ~ Author Unknown
  • किसी लेखक के लेखन में से सामग्री लेकर अपने लेखन में इस्तेमाल करने को साहित्यिक चोरी कहते हैं,​ ​और ​अ​​नेक लेखकों के लेखन में से थोड़ा-थोड़ा लेकर अपना लेख तैयार कर लेने को शोध कहते है​।
    किसी लेखक के लेखन में से सामग्री लेकर अपने लेखन में इस्तेमाल करने को साहित्यिक चोरी कहते हैं,​ ​और ​अ​​नेक लेखकों के लेखन में से थोड़ा-थोड़ा लेकर अपना लेख तैयार कर लेने को शोध कहते है​।
    ~ Author Unknown
  • बीमारी, शत्रु और कर्ज अपने आप बढ़ते हैं। इन्हें तुंरत जड़ से ख़त्म कर देना चाहिए।​
    बीमारी, शत्रु और कर्ज अपने आप बढ़ते हैं। इन्हें तुंरत जड़ से ख़त्म कर देना चाहिए।​
    ~ Author Unknown
  • जब जादू के पास छिपाने के लिए कुछ नहीं होता तो वह कला बन जाता हैं।
    जब जादू के पास छिपाने के लिए कुछ नहीं होता तो वह कला बन जाता हैं।
    ~ Author Unknown