• ज़ुबा पर जब किसी के दर्द का अफ़साना आता है;<br />
हमें रह-रह के याद अपना दिल-ए-दीवाना आता है।
    ज़ुबा पर जब किसी के दर्द का अफ़साना आता है;
    हमें रह-रह के याद अपना दिल-ए-दीवाना आता है।
    ~ Sadiq Jaisi