• जो लोग प्रतिभाशाली होते है वह सम्मानित नहीं होते |
    जो लोग प्रतिभाशाली होते है वह सम्मानित नहीं होते |
    ~ George Bernard Shaw
  • उसकी इन्सान का मन पवित्र नहीं है उसकी कभी जय नहीँ हो सकती है|
    उसकी इन्सान का मन पवित्र नहीं है उसकी कभी जय नहीँ हो सकती है|
    ~ Swami Ramtirth
  • इंसान किसी घटना को बदल नहीं सकता, पर वह उसके साथ आगे बढ़ सकता है!
    इंसान किसी घटना को बदल नहीं सकता, पर वह उसके साथ आगे बढ़ सकता है!
    ~ Otto Von Bismarck
  • इन्सान का आभूषण उसकी नम्रता और उसके मीठे वचन होते हैं। और बाकी सब नाम मात्र के भूषण हैं।
    इन्सान का आभूषण उसकी नम्रता और उसके मीठे वचन होते हैं। और बाकी सब नाम मात्र के भूषण हैं।
    ~ Saint Thiruvalluvar
  • शूरवीरता, विद्या, बल, दक्षता और धैर्य, ये पांच इन्सान के स्वाभाविक मित्र हैं। और एक बुद्धिमान इन्सान हमेशा इनके साथ रहता हैं।
    शूरवीरता, विद्या, बल, दक्षता और धैर्य, ये पांच इन्सान के स्वाभाविक मित्र हैं। और एक बुद्धिमान इन्सान हमेशा इनके साथ रहता हैं।
    ~ Maharshi Vedvyas
  • निरोग रहना, कर्ज न होना, अच्छे-अच्छे लोगों से मेल-जोल रखना, अपनी आमदनी से जीविका चलाना और निभर्य होकर रहना यही इन्सान के सुख हैं।
    निरोग रहना, कर्ज न होना, अच्छे-अच्छे लोगों से मेल-जोल रखना, अपनी आमदनी से जीविका चलाना और निभर्य होकर रहना यही इन्सान के सुख हैं।
    ~ Maharshi Vedvyas
  • यदि आपके पास कुछ भी नहीं तो कोई बात नहीं, कम से कम आप दूसरों से भीख मांगने से तो बेहतर ही है |
    यदि आपके पास कुछ भी नहीं तो कोई बात नहीं, कम से कम आप दूसरों से भीख मांगने से तो बेहतर ही है |
    ~ Abu Ali Sina
  • हमें आनंद तभी प्राप्त होता है जब हम आनंद की तलाश नहीं करते हैं ।
    हमें आनंद तभी प्राप्त होता है जब हम आनंद की तलाश नहीं करते हैं ।
    ~ Adi Shankaracharya
  • सत्य उसी वाणी को सम्भालता है जो वाणी सत्य को सम्भालती है|
    सत्य उसी वाणी को सम्भालता है जो वाणी सत्य को सम्भालती है|
    ~ Vinoba Bhave
  • इन्सान का आभूषण उसकी नम्रता और उसके मीठे वचन होते हैं। और बाकी सब नाम मात्र के भूषण हैं।
    इन्सान का आभूषण उसकी नम्रता और उसके मीठे वचन होते हैं। और बाकी सब नाम मात्र के भूषण हैं।
    ~ Saint Thiruvalluvar