• एक लड़की किये गए सेक्स के बारे में नहीं भूलती है, वह एक न एक दिन किसी मर्द से जरूर बात करेगी ।
    एक लड़की किये गए सेक्स के बारे में नहीं भूलती है, वह एक न एक दिन किसी मर्द से जरूर बात करेगी ।
    ~ Oliver Wendell Holmes
  • रोचक तथ्य कई हैं, लेकिन सच एक ही है।
    रोचक तथ्य कई हैं, लेकिन सच एक ही है।
    ~ Rabindranath Tagore
  • सिनेमा दो तरह का होता हैं - बुरा और अच्छा।
    सिनेमा दो तरह का होता हैं - बुरा और अच्छा।
    ~ Yash Chopra
  • पत्रकार एक ऐसा इंसान है, जो कई बार अपनी ही आवाज को सुनने के लिए असमर्थ हो जाता है।
    पत्रकार एक ऐसा इंसान है, जो कई बार अपनी ही आवाज को सुनने के लिए असमर्थ हो जाता है।
    ~ Otto von Bismarck
  • एक सज्जन इन्सान वह होता है, जो दुनिया वालो से जितना लेता है उससे आधिक दुनिया वालो को देता है|
    एक सज्जन इन्सान वह होता है, जो दुनिया वालो से जितना लेता है उससे आधिक दुनिया वालो को देता है|
    ~ George Bernard Shaw
  • निरोग रहना, कर्ज न होना, अच्छे-अच्छे लोगों से मेल-जोल रखना, अपनी आमदनी से जीविका चलाना और निभर्य होकर रहना यही इन्सान के सुख हैं।
    निरोग रहना, कर्ज न होना, अच्छे-अच्छे लोगों से मेल-जोल रखना, अपनी आमदनी से जीविका चलाना और निभर्य होकर रहना यही इन्सान के सुख हैं।
    ~ Maharshi Vedvyas
  • यदि आपके पास कुछ भी नहीं तो कोई बात नहीं, कम से कम आप दूसरों से भीख मांगने से तो बेहतर ही है |
    यदि आपके पास कुछ भी नहीं तो कोई बात नहीं, कम से कम आप दूसरों से भीख मांगने से तो बेहतर ही है |
    ~ Abu Ali Sina
  • वह इन्सान जो एक दिन में अमीर बनना चाहता है, उस इन्सान को एक ही दिन में फांसी पर लटका दिया जायेगा।
    वह इन्सान जो एक दिन में अमीर बनना चाहता है, उस इन्सान को एक ही दिन में फांसी पर लटका दिया जायेगा।
    ~ Leonardo da Vinci
  • हमें आनंद तभी प्राप्त होता है जब हम आनंद की तलाश नहीं करते हैं ।
    हमें आनंद तभी प्राप्त होता है जब हम आनंद की तलाश नहीं करते हैं ।
    ~ Adi Shankaracharya
  • अच्छे और विनम्र शब्दों के ज्ञान होने के बावजूद भी दूसरो के साथ गलत शब्दों का इस्तेमाल करना बिल्कुल वैसे हो जाता है, जैसे पेड़ पर पके हुए फल लगे होने के बावजूद कच्चे फल खाना।
    अच्छे और विनम्र शब्दों के ज्ञान होने के बावजूद भी दूसरो के साथ गलत शब्दों का इस्तेमाल करना बिल्कुल वैसे हो जाता है, जैसे पेड़ पर पके हुए फल लगे होने के बावजूद कच्चे फल खाना।
    ~ Saint Thiruvalluvar