• सर्दियों का गंभीर विचार:<br/>
पेटीकोट ही एक मात्र ऐसा कोट है, जिसे उतारने के बाद सर्दी नहीं लगती।Upload to Facebook
    सर्दियों का गंभीर विचार:
    पेटीकोट ही एक मात्र ऐसा कोट है, जिसे उतारने के बाद सर्दी नहीं लगती।
  • लोग कहते हैं किआजकल के गाने वलगर हैं।<br/>
पहले के क्या थे... लागा चुनरी में दाग़ छुपाऊँ कैसे?<br/>
अब कोई पूछे चुनरी नीचे बिछा के ज़रूर मरवानी थी।Upload to Facebook
    लोग कहते हैं किआजकल के गाने वलगर हैं।
    पहले के क्या थे... लागा चुनरी में दाग़ छुपाऊँ कैसे?
    अब कोई पूछे चुनरी नीचे बिछा के ज़रूर मरवानी थी।
  • ज्ञान और ध्यान की वाट तभी लग जाती है...<br/>
जब कोई लड़की झुककर झाड़ू लगाती है!Upload to Facebook
    ज्ञान और ध्यान की वाट तभी लग जाती है...
    जब कोई लड़की झुककर झाड़ू लगाती है!
  • आज का कुविचार:<br/>
ज़िंदगी  में कुछ पकड़ना है तो बुलंदियों को पकड़ो;<br/>
बात-बात पर लंड पकड़ने से कुछ नहीं मिलेगा।Upload to Facebook
    आज का कुविचार:
    ज़िंदगी में कुछ पकड़ना है तो बुलंदियों को पकड़ो;
    बात-बात पर लंड पकड़ने से कुछ नहीं मिलेगा।
  • चाहता तो हूँ कि ये दुनिया बदल दूँ पर...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
चूत के जुगाड़ में लगे रहने से फुर्सत नहीं मिलती!Upload to Facebook
    चाहता तो हूँ कि ये दुनिया बदल दूँ पर...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    चूत के जुगाड़ में लगे रहने से फुर्सत नहीं मिलती!
  • ना जाने कैसी नजर लगी है जमाने की,<br/>
जगह ही नहीं मिल रही है बजाने की।Upload to Facebook
    ना जाने कैसी नजर लगी है जमाने की,
    जगह ही नहीं मिल रही है बजाने की।
  • सिमट गया मेरा प्यार चंद अल्फ़ाजों में जब उसने कहा...<br/>
खूंटे पर बैठ कर फाड़ लूँगी पर तुझे नही दूंगी।Upload to Facebook
    सिमट गया मेरा प्यार चंद अल्फ़ाजों में जब उसने कहा...
    खूंटे पर बैठ कर फाड़ लूँगी पर तुझे नही दूंगी।
  • दम तोड़ जाती है हर शिकायत लबों पे आकर, जब मासूमियत से वो कहती है,<br/>
`थूक-थाक कुछ तो लगालो... बिल्कुल जान निकालोगे क्या?`Upload to Facebook
    दम तोड़ जाती है हर शिकायत लबों पे आकर, जब मासूमियत से वो कहती है,
    "थूक-थाक कुछ तो लगालो... बिल्कुल जान निकालोगे क्या?"
  • सारी खुदाई एक तरफ;<br/>
झांट खुजाई एक तरफ।Upload to Facebook
    सारी खुदाई एक तरफ;
    झांट खुजाई एक तरफ।
  • साला मुझे लगता है कि लंड के पास भी कान हैं...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
पता नहीं साला चूत का नाम सुनते ही खड़ा हो जाता है।Upload to Facebook
    साला मुझे लगता है कि लंड के पास भी कान हैं...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पता नहीं साला चूत का नाम सुनते ही खड़ा हो जाता है।