• हम वो आशिक हैं जो सुबह को शाम बना देते हैं,<br/>
छोटी छोटी मौसमबियों को आम बना देते हैं,<br/>
हम से पंगा न ले छोरी,<br/>
हम तो वो हैं जो छोटी सी दुकान का भी गोदाम बना देते हैं!
    हम वो आशिक हैं जो सुबह को शाम बना देते हैं,
    छोटी छोटी मौसमबियों को आम बना देते हैं,
    हम से पंगा न ले छोरी,
    हम तो वो हैं जो छोटी सी दुकान का भी गोदाम बना देते हैं!
  • चाईनीज मोहब्बत थी साहब, टूट कर बिखर गई,<br/>

पर लण्ड हिन्दुस्तानी था, टाँका भिड़ा के दूसरी चोद ली!
    चाईनीज मोहब्बत थी साहब, टूट कर बिखर गई,
    पर लण्ड हिन्दुस्तानी था, टाँका भिड़ा के दूसरी चोद ली!
  • गम में भी हमको जीना आता है;<br/>
सेक्स करके भी पसीना आता है;<br/>
एक हम हैं कि तुम्हें अक्सर मैसेज करते हैं;<br/>
एक तुम्हारा मैसेज है, जैसे औरतों को महीना आता है।
    गम में भी हमको जीना आता है;
    सेक्स करके भी पसीना आता है;
    एक हम हैं कि तुम्हें अक्सर मैसेज करते हैं;
    एक तुम्हारा मैसेज है, जैसे औरतों को महीना आता है।