• रिश्वत भी नहीं लेता कमबख्त जान छोड़ने की;<br/>
ये तेरा इश्क मुझे बहुत ईमानदार लगता है!Upload to Facebook
    रिश्वत भी नहीं लेता कमबख्त जान छोड़ने की;
    ये तेरा इश्क मुझे बहुत ईमानदार लगता है!
  • वो नकाब लगा कर खुद को इश्क से महफूज़ समझते रहे;<br/>
नादां इतना भी नहीं समझते कि इश्क चेहरे से नहीं आँखों से शुरू होता है!Upload to Facebook
    वो नकाब लगा कर खुद को इश्क से महफूज़ समझते रहे;
    नादां इतना भी नहीं समझते कि इश्क चेहरे से नहीं आँखों से शुरू होता है!
  • दिलों की जरुरत कोई क्या समझेगा;<br/>
रिश्तों की अहमियत कोई क्या समझेगा;<br/>
तेरी मुस्कान ही है मेरी ख़ुशी;<br/>
इस ख़ुशी की कीमत कोई क्या समझेगा!Upload to Facebook
    दिलों की जरुरत कोई क्या समझेगा;
    रिश्तों की अहमियत कोई क्या समझेगा;
    तेरी मुस्कान ही है मेरी ख़ुशी;
    इस ख़ुशी की कीमत कोई क्या समझेगा!
  • किसी का क्या जो क़दमों पर जबीं-ए-बंदगी रख दी;<br/> 
हमारी चीज़ थी हमने जहां जानी वहां रख दी;<br/>
जो दिल माँगा तो वो बोले ठहरो याद करने दो;<br/>
ज़रा सी चीज़ थी हमने जाने कहाँ रख दी!Upload to Facebook
    किसी का क्या जो क़दमों पर जबीं-ए-बंदगी रख दी;
    हमारी चीज़ थी हमने जहां जानी वहां रख दी;
    जो दिल माँगा तो वो बोले ठहरो याद करने दो;
    ज़रा सी चीज़ थी हमने जाने कहाँ रख दी!
  • हमें पता था की उसकी मोहब्बत के जाम में ज़हर है;<br/>
पर उसका पिलाने का अंदाज़ ही इतना प्यारा था की हम ठुकरा न सके! Upload to Facebook
    हमें पता था की उसकी मोहब्बत के जाम में ज़हर है;
    पर उसका पिलाने का अंदाज़ ही इतना प्यारा था की हम ठुकरा न सके!
  • तुम्हें नींद नहीं आती तो कोई और वजह होगी;<br />
अब हर ऐब के लिए कसूरवार इश्क तो नहीं।Upload to Facebook
    तुम्हें नींद नहीं आती तो कोई और वजह होगी;
    अब हर ऐब के लिए कसूरवार इश्क तो नहीं।
  • हर खामोशी का मतलब इंकार नहीं होता;<br/>
हर नाकामयाबी का मतलब हार नहीं होता;<br/>
तो क्या हुआ अगर हम तुम्हें न पा सके;<br/>
सिर्फ पाने का मतलब प्यार नहीं होता!Upload to Facebook
    हर खामोशी का मतलब इंकार नहीं होता;
    हर नाकामयाबी का मतलब हार नहीं होता;
    तो क्या हुआ अगर हम तुम्हें न पा सके;
    सिर्फ पाने का मतलब प्यार नहीं होता!
  • जब से तूने मुझे दीवाना बना रखा है;<br/>
संग हर शख्स ने हाथों में उठा रखा है;<br/>
उसके दिल पर भी कड़ी इश्क में गुजरी होगी;<br/>
नाम जिसने भी मोहब्बत का सज़ा रखा है!Upload to Facebook
    जब से तूने मुझे दीवाना बना रखा है;
    संग हर शख्स ने हाथों में उठा रखा है;
    उसके दिल पर भी कड़ी इश्क में गुजरी होगी;
    नाम जिसने भी मोहब्बत का सज़ा रखा है!
  • हमने कब माँगा है तुमसे वफाओं का सिलसिला;<br />
बस दर्द देते रहा करो, मोहब्बत बढ़ती जायेगी।Upload to Facebook
    हमने कब माँगा है तुमसे वफाओं का सिलसिला;
    बस दर्द देते रहा करो, मोहब्बत बढ़ती जायेगी।
  • ज़िन्दगी सिर्फ मोहब्बत नहीं कुछ और भी है;<br/> 
ज़ुल्फ़-ओ-रुखसार की जन्नत नहीं कुछ और भी है;<br/> 
भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में;<br/>
इश्क ही इक हकीकत नहीं कुछ और भी है!Upload to Facebook
    ज़िन्दगी सिर्फ मोहब्बत नहीं कुछ और भी है;
    ज़ुल्फ़-ओ-रुखसार की जन्नत नहीं कुछ और भी है;
    भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में;
    इश्क ही इक हकीकत नहीं कुछ और भी है!
    ~ Sahir Ludhianvi