• मिजाज़ ए इश्क़ होम्योपैथिक है उनका,<br/>
ना सुइयाँ, ना बोतल, ना एक्सरे, ना दाखिला;<br/>
हम दर्द बयाँ करते रहे और वो मीठी गोलियाँ देते रहे!
    मिजाज़ ए इश्क़ होम्योपैथिक है उनका,
    ना सुइयाँ, ना बोतल, ना एक्सरे, ना दाखिला;
    हम दर्द बयाँ करते रहे और वो मीठी गोलियाँ देते रहे!
  • कितना शरीफ शख्स है पत्नी पर फिदा है,<br/>
कितना शरीफ शख्स है पत्नी पर फिदा है;<br/>
और उस पर यह गज़ब की अपनी पर फिदा है!
    कितना शरीफ शख्स है पत्नी पर फिदा है,
    कितना शरीफ शख्स है पत्नी पर फिदा है;
    और उस पर यह गज़ब की अपनी पर फिदा है!
  • वो उम्र भर कहते रहे तुम्हारे `सीने में दिल` ही नहीं;<br/>
दिल का दौरा` क्या पड़ा, ये दाग भी धुल गया!
    वो उम्र भर कहते रहे तुम्हारे "सीने में दिल" ही नहीं;
    दिल का दौरा" क्या पड़ा, ये दाग भी धुल गया!
  • अर्ज़ किया है:<br />
वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;<br />

ज़रा गौर फरमाइये:<br />
वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;<br />
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो।
    अर्ज़ किया है:
    वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
    ज़रा गौर फरमाइये:
    वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो;
    बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना, पहले कुत्ते की तरह घसीटो।
  • हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब;<br/>

उसने दिन को रात कहा और हमने पैग बना लिया।
    हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब;
    उसने दिन को रात कहा और हमने पैग बना लिया।
  • तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया;<br/>बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया;<br/>तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया;<br/>बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया। ​
    तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया;
    बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया;
    तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया;
    बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया। ​
  • वो ज़हर देकर मारते तो दुनिया की नज़र में आ जाते;<br/>
अंदाजे कत्ल तो देखो मोहब्बत करके हमसे शादी ही कर ली।
    वो ज़हर देकर मारते तो दुनिया की नज़र में आ जाते;
    अंदाजे कत्ल तो देखो मोहब्बत करके हमसे शादी ही कर ली।
  • शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;<br/> 
शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;<br/>
चुपचाप सुन लो नहीं तो जान से हाथ धो बैठोगे;<br/>
क्योंकि मेरे पास है छुरी!
    शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;
    शायर हूँ शायरी अर्ज़ करता हूँ जो इतनी भी नहीं है बुरी;
    चुपचाप सुन लो नहीं तो जान से हाथ धो बैठोगे;
    क्योंकि मेरे पास है छुरी!
  • मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;<br/>
अर्ज़ किया है;  <br/>
मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;<br/>
और जो कमबख्त उसे मोहब्बत समझे वो सबसे बड़ा गधा है!
    मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;
    अर्ज़ किया है;
    मुस्कुरा कर लडको को पागल बनाना तो हसीनो की इक अदा है;
    और जो कमबख्त उसे मोहब्बत समझे वो सबसे बड़ा गधा है!
  • मत छीनों बच्चों से मोबाइल;<br/>
ये अकेले रहने से बहुत डरते हैं;<br/>
ले लो एग्जाम भी SMS पर ही, क्योंकि;<br/>
यही है जो वो मन लगाकर करते है!
    मत छीनों बच्चों से मोबाइल;
    ये अकेले रहने से बहुत डरते हैं;
    ले लो एग्जाम भी SMS पर ही, क्योंकि;
    यही है जो वो मन लगाकर करते है!