• यहाँ खुदा है, वहां खुदा है, जहाँ देखो खुदा ही खुदा है;<br />
और<br />
जहाँ नहीं खुदा है, वहां कल खुदेगा।<br />
PWD
    यहाँ खुदा है, वहां खुदा है, जहाँ देखो खुदा ही खुदा है;
    और
    जहाँ नहीं खुदा है, वहां कल खुदेगा।
    PWD
  • कभी हौसला भी आजमा लेना चाहिए;<br />
बुरे वक़्त में मुस्कुरा लेना चाहिए;<br />
अगर सांतवे दिन भी खुजली ना मिटे तो;<br />
आठवें दिन नहा लेना चाहिए।
    कभी हौसला भी आजमा लेना चाहिए;
    बुरे वक़्त में मुस्कुरा लेना चाहिए;
    अगर सांतवे दिन भी खुजली ना मिटे तो;
    आठवें दिन नहा लेना चाहिए।
  • मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना;<br />
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना;<br />
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, 'फराज़';<br />
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।
    मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना;
    साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना;
    मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, 'फराज़';
    बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।
  • लैला ने तो प्यार किया;<br />
पर मजनू की किस्मत जाग गई;<br/>
मजनू ने इतने प्रेम पत्र लिखे कि;<br/> 
लैला डाकिये के साथ भाग गयी।
    लैला ने तो प्यार किया;
    पर मजनू की किस्मत जाग गई;
    मजनू ने इतने प्रेम पत्र लिखे कि;
    लैला डाकिये के साथ भाग गयी।
  • खुशबु ने फूलों को ख़ास बनाया;<br/>
फूलों ने माली को ख़ास बनाया;<br/>
और कमबख्त मोहब्बत ने;<br/>
कितनो को देवदास बनाया!
    खुशबु ने फूलों को ख़ास बनाया;
    फूलों ने माली को ख़ास बनाया;
    और कमबख्त मोहब्बत ने;
    कितनो को देवदास बनाया!
  • वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;<br />
वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;<br />
अरे यार! देख जरा शेरनी कितना रो रही है।
    वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
    वाह गालिब तूने क्या शेर मारा है;
    अरे यार! देख जरा शेरनी कितना रो रही है।
  • अय दोस्त मत कर इन हसीनाओं से मोहब्बत;<br />
वह आँखों और बातों से वार करती हैं;<br />
मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है;<br />
वो मुझसे भी प्यार करती है।
    अय दोस्त मत कर इन हसीनाओं से मोहब्बत;
    वह आँखों और बातों से वार करती हैं;
    मैंने तेरी वाली की आँखों में देखा है;
    वो मुझसे भी प्यार करती है।
  • दिल की धड़कन रुक सी गई;<br />
सांसें मेरी थम सी गई;<br />
पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला;<br />
कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जम सी गई।
    दिल की धड़कन रुक सी गई;
    सांसें मेरी थम सी गई;
    पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला;
    कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जम सी गई।
  • कैसे मुमकिन था किसी और दवा से इलाज़?<br/>
अय ग़ालिब।<br/>
इश्क का रोग था;<br/>
. <br/>
. .<br/>
`माँ की चप्पल से ही आराम आया।`
    कैसे मुमकिन था किसी और दवा से इलाज़?
    अय ग़ालिब।
    इश्क का रोग था;
    .
    . .
    "माँ की चप्पल से ही आराम आया।"
  • चली जाती है आये दिन वो बियुटी पार्लोर में यूं;<br />
उनका मकसद है, `मिशाल-ए-हूर` हो जाना;<br />
मगर ये बात किसी भी बेगम की समझ में क्यों नहीं आती;<br />
कि मुमकिन नहीं 'किशमिश' का फिर से 'अंगूर' हो जाना।
    चली जाती है आये दिन वो बियुटी पार्लोर में यूं;
    उनका मकसद है, "मिशाल-ए-हूर" हो जाना;
    मगर ये बात किसी भी बेगम की समझ में क्यों नहीं आती;
    कि मुमकिन नहीं 'किशमिश' का फिर से 'अंगूर' हो जाना।