• इतना तो बता जाओ खफा होने से पहले;<br/>
वो क्या करें जो तुम से खफा हो नहीं सकते।
    इतना तो बता जाओ खफा होने से पहले;
    वो क्या करें जो तुम से खफा हो नहीं सकते।
  • मैं मर भी जाऊँ, तो उसे ख़बर भी ना होने देना;<br/>
मशरूफ़ सा शख्स है, कहीं उसका वक़्त बर्बाद ना हो जाये!
    मैं मर भी जाऊँ, तो उसे ख़बर भी ना होने देना;
    मशरूफ़ सा शख्स है, कहीं उसका वक़्त बर्बाद ना हो जाये!
  • बहुत याद आते हैं तुम्हारे साथ बिताए हुए पल;<br/>
वरना मुझे मर - मर के जीने का कोई शौंक नहीं!
    बहुत याद आते हैं तुम्हारे साथ बिताए हुए पल;
    वरना मुझे मर - मर के जीने का कोई शौंक नहीं!
  • तुम हँसो तो खुशी मुझे होती है, तुम रूठी तो आँखें मेरी रोती हैं;<br/>
तुम दूर जाओ तो बेचैनी मुझे होती है, महसूस करके देखो मोहब्बत ऐसी होती है!
    तुम हँसो तो खुशी मुझे होती है, तुम रूठी तो आँखें मेरी रोती हैं;
    तुम दूर जाओ तो बेचैनी मुझे होती है, महसूस करके देखो मोहब्बत ऐसी होती है!
  • माँ तेरे दूध का हक मुझसे अदा क्या होगा;<br/>
तू है नाराज तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा!
    माँ तेरे दूध का हक मुझसे अदा क्या होगा;
    तू है नाराज तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा!
  • काश एक दिन ऐसा भी आये;<br/>
तू मुझ से लिपट कर कहे बस और नहीं रहा जाता तेरे बिना!
    काश एक दिन ऐसा भी आये;
    तू मुझ से लिपट कर कहे बस और नहीं रहा जाता तेरे बिना!
  • जब हम आपको याद करते हैं, रब से यही फरियाद करते हैं।<br/>
हमारी भी उम्र लग जाये आपको, क्योंकि खुद से ज्यादा हम आपको प्यार करते हैं।
    जब हम आपको याद करते हैं, रब से यही फरियाद करते हैं।
    हमारी भी उम्र लग जाये आपको, क्योंकि खुद से ज्यादा हम आपको प्यार करते हैं।
  • आँसू तेरे निकले पर आँखें मेरी हों, दिल तेरे धड़के पर धड़कन मेरी हो;<br/>
हम दोनों का प्यार इतना गहरा हो, कि साँसें तेरी रुकें, पर मौत मेरी हो!
    आँसू तेरे निकले पर आँखें मेरी हों, दिल तेरे धड़के पर धड़कन मेरी हो;
    हम दोनों का प्यार इतना गहरा हो, कि साँसें तेरी रुकें, पर मौत मेरी हो!
  • मिल जाएंगे तुमको और भी चाहने वाले दुनिया में;<br/>
मगर कर न पाएगा कोई मुकाबला मोहब्बत का मेरी!
    मिल जाएंगे तुमको और भी चाहने वाले दुनिया में;
    मगर कर न पाएगा कोई मुकाबला मोहब्बत का मेरी!
  • क्यों बयान करूँ अपने दर्द को?<br/>

यहाँ सुनने वाले बहुत हैं, पर समझने वाला कोई नहीं!
    क्यों बयान करूँ अपने दर्द को?
    यहाँ सुनने वाले बहुत हैं, पर समझने वाला कोई नहीं!