• अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!<br/>
क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
    अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!
    क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
  • जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!<br/>
चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
    जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!
    चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
  • कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया और कौन कितना बचायेगा!<br/>
इसलिए ईश्वर ने आसान गणित लगाया सबको खाली हाथ भेज दिया! <br/>
खाली हाथ ही बुलायेगा!
    कौन हिसाब रखे किसको कितना दिया और कौन कितना बचायेगा!
    इसलिए ईश्वर ने आसान गणित लगाया सबको खाली हाथ भेज दिया!
    खाली हाथ ही बुलायेगा!
  • कल शीशा था सब देख-देख कर जाते थे, आज टूट गया तो सब बच-बच कर जाते हैं!<br/>
ये वक़्त है साहब, कभी किसी का एक जैसा नहीं रहता!
    कल शीशा था सब देख-देख कर जाते थे, आज टूट गया तो सब बच-बच कर जाते हैं!
    ये वक़्त है साहब, कभी किसी का एक जैसा नहीं रहता!
  • दिमाग से दुनिया जीती जा सकती है पर दिल तो दिल से ही जीता जा सकता है!
    दिमाग से दुनिया जीती जा सकती है पर दिल तो दिल से ही जीता जा सकता है!
  • अपनी आलोचना को धैर्य से सुनें, यह हमारी ज़िन्दगी का मैल हटाने में, साबुन का काम करती है !
    अपनी आलोचना को धैर्य से सुनें, यह हमारी ज़िन्दगी का मैल हटाने में, साबुन का काम करती है !
  • अपने अहम् को थोड़ा-सा झुका के चलिये;<br/>
सब अपने लगेंगे ज़रा-सा मुस्कुरा के चलिये।
    अपने अहम् को थोड़ा-सा झुका के चलिये;
    सब अपने लगेंगे ज़रा-सा मुस्कुरा के चलिये।
  • गलत हो कर खुद को सही साबित करना उतना मुश्किल नहीं, <br/>
जितना सही हो कर खुद को सही साबित करना!
    गलत हो कर खुद को सही साबित करना उतना मुश्किल नहीं,
    जितना सही हो कर खुद को सही साबित करना!
  • सुन लेने से कितने सारे सवाल सुलझ जाते हैं,<br/>
सुना देने से हम फिर से वहीं उलझ जाते हैं!
    सुन लेने से कितने सारे सवाल सुलझ जाते हैं,
    सुना देने से हम फिर से वहीं उलझ जाते हैं!
  • जिस दिन आप अपनी हँसी के मालिक ख़ुद बन जाओगे!<br/>
तब आपको कोई भी नहीं रुला सकता!
    जिस दिन आप अपनी हँसी के मालिक ख़ुद बन जाओगे!
    तब आपको कोई भी नहीं रुला सकता!