• पिता: रामायण के आज के एपिसोड से हमें क्या सीख मिलती है?<br/>
पुत्र: ये ही कि बाली घर से बाहर निकला और मारा गया!<br/>
#StayHomeStaySafe
    पिता: रामायण के आज के एपिसोड से हमें क्या सीख मिलती है?
    पुत्र: ये ही कि बाली घर से बाहर निकला और मारा गया!
    #StayHomeStaySafe
  • बहुत पसंद था ना बिग बॉस शो?<br/>
अब कैसा लग रहा है बिग बॉस असलियत में खेल कर!
    बहुत पसंद था ना बिग बॉस शो?
    अब कैसा लग रहा है बिग बॉस असलियत में खेल कर!
  • आज तो मेरा तकिया और बिस्तर भी बोल पड़ा,<br/>
जा भाई थोड़ा घर के अंदर टहल ले, छत्त पर घूम ले, हम भी थोड़ी साँस ले लें!
    आज तो मेरा तकिया और बिस्तर भी बोल पड़ा,
    जा भाई थोड़ा घर के अंदर टहल ले, छत्त पर घूम ले, हम भी थोड़ी साँस ले लें!
  • मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके हौसलों में जान होती है;<br/>
बंद ठेकों से बोतल उन्हीं को मिलती है जिनकी ठेकों पर पहचान होती है!
    मंजिल उन्हीं को मिलती है जिनके हौसलों में जान होती है;
    बंद ठेकों से बोतल उन्हीं को मिलती है जिनकी ठेकों पर पहचान होती है!
  • शराब की दुकानें बंद पत्नियां खुश!<br/>
सुनार की दुकानें बंद पति खुश!<br/>
चारों ओर ख़ुशी का माहौल!
    शराब की दुकानें बंद पत्नियां खुश!
    सुनार की दुकानें बंद पति खुश!
    चारों ओर ख़ुशी का माहौल!
  • टेस्ट मैच की तरह दिन कट रहा है...<br/>
और साल है 20-20
    टेस्ट मैच की तरह दिन कट रहा है...
    और साल है 20-20
  • ताली और थाली पीटने से जो वायरस मर गए थे!<br/>
मोमबत्ती से उनका दाह संस्कार भी तो करना था!
    ताली और थाली पीटने से जो वायरस मर गए थे!
    मोमबत्ती से उनका दाह संस्कार भी तो करना था!
  • आज की नई खोज:<br/>
घर पे कौआ चाहे कितनी भी बार चिल्लाए...<br/>
फिर भी मेहमान आने वाले नही हैं!
    आज की नई खोज:
    घर पे कौआ चाहे कितनी भी बार चिल्लाए...
    फिर भी मेहमान आने वाले नही हैं!
  • लॉकडाउन खत्म होने के बाद जिसके पास सबसे ज़्यादा काम होगा... <br/>
वो है सैलून और पार्लर वाले!
    लॉकडाउन खत्म होने के बाद जिसके पास सबसे ज़्यादा काम होगा...
    वो है सैलून और पार्लर वाले!
  • कुछ दिन पहले जो स्टेटस डालते थे कि `शेरों का कोई ठिकाना नही होता है!`<br/>

आज वो घर में बैठकर `लहसुन` छिल रहें हैं!
    कुछ दिन पहले जो स्टेटस डालते थे कि "शेरों का कोई ठिकाना नही होता है!"
    आज वो घर में बैठकर "लहसुन" छिल रहें हैं!