• होंठों पे उल्फत के फ़साने नहीं आते;<br />
जो बीत गए फिर वो ज़माने नहीं आते;<br />
दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द;<br />
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।Upload to Facebook
    होंठों पे उल्फत के फ़साने नहीं आते;
    जो बीत गए फिर वो ज़माने नहीं आते;
    दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द;
    कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।
  • दोस्ती होती नहीं, भूल जाने के लिए;<br />
दोस्त मिलते नहीं, बिखर जाने के लिए;
दोस्ती करके खुश रहोगे इतना;<br />
की वक़्त ही नहीं मिलेगा, आंसू बहाने के लिए।Upload to Facebook
    दोस्ती होती नहीं, भूल जाने के लिए;
    दोस्त मिलते नहीं, बिखर जाने के लिए; दोस्ती करके खुश रहोगे इतना;
    की वक़्त ही नहीं मिलेगा, आंसू बहाने के लिए।
  • इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है,<br />
दोस्ती कभी बड़ी नहीं होती, निभाने वाले हमेशा बड़े होते हैं।Upload to Facebook
    इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है,
    दोस्ती कभी बड़ी नहीं होती, निभाने वाले हमेशा बड़े होते हैं।
  • गुण मिलने पर शादी होती है;<br />
और अवगुण मिलने पर दोस्ती!<br />
दोस्ती मुबारक!Upload to Facebook
    गुण मिलने पर शादी होती है;
    और अवगुण मिलने पर दोस्ती!
    दोस्ती मुबारक!
  • मेरी सल्तनत में देख कर कदम रखना;<br />
मेरी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।Upload to Facebook
    मेरी सल्तनत में देख कर कदम रखना;
    मेरी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।
  • दोस्ती कोई खोज नहीं होती;<br />
दोस्ती हर किसी से हर रोज़ नहीं होती;<br />
अपनी जिंदगी में हमारी मौजूदगी को बेवजह मत समझना;<br />
क्योंकि पलकें आँखों पर कभी बोझ नहीं होती।Upload to Facebook
    दोस्ती कोई खोज नहीं होती;
    दोस्ती हर किसी से हर रोज़ नहीं होती;
    अपनी जिंदगी में हमारी मौजूदगी को बेवजह मत समझना;
    क्योंकि पलकें आँखों पर कभी बोझ नहीं होती।
  • कितनी नन्ही से परिभाषा है दोस्ती की;<br />
मैं शब्द...<br />
तुम अर्थ...<br />
तुम बिन मैं व्यर्थ।Upload to Facebook
    कितनी नन्ही से परिभाषा है दोस्ती की;
    मैं शब्द...
    तुम अर्थ...
    तुम बिन मैं व्यर्थ।
  • यकीन पे यकीन दिलाते हैं दोस्त; <br />
राह चलते को बेवकूफ बनाते हैं दोस्त; <br />
शरबत बोल कर दारू पिलाते हैं दोस्त; <br />
पर कुछ भी कहो साले बहुत याद आते हैं दोस्त।Upload to Facebook
    यकीन पे यकीन दिलाते हैं दोस्त;
    राह चलते को बेवकूफ बनाते हैं दोस्त;
    शरबत बोल कर दारू पिलाते हैं दोस्त;
    पर कुछ भी कहो साले बहुत याद आते हैं दोस्त।
  • दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं;<br />
पर दोस्ती के मामले में सच्चे हैं;<br />
हमारी सच्चाई बस इस बात पर कायम है;<br />
कि हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे हैं।Upload to Facebook
    दुनियादारी में हम थोड़े कच्चे हैं;
    पर दोस्ती के मामले में सच्चे हैं;
    हमारी सच्चाई बस इस बात पर कायम है;
    कि हमारे दोस्त हमसे भी अच्छे हैं।
  • प्यार करने वालों की किस्मत खराब होती है;<br />
हर वक़्त इम्तिहान की घडी साथ होती है;<br />
वक़्त मिले तो कभी रिश्तों की किताब खोल कर देखना;<br />
दोस्ती हर रिश्ते से लाजवाब होती है।Upload to Facebook
    प्यार करने वालों की किस्मत खराब होती है;
    हर वक़्त इम्तिहान की घडी साथ होती है;
    वक़्त मिले तो कभी रिश्तों की किताब खोल कर देखना;
    दोस्ती हर रिश्ते से लाजवाब होती है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT