• आज का ज्ञान:<br/>
कुछ लड़कियों को इतना भी रेस्पेक्ट नहीं देना चाहिए कि वो समझे आप उसे लाइन मार रहे हो।Upload to Facebook
    आज का ज्ञान:
    कुछ लड़कियों को इतना भी रेस्पेक्ट नहीं देना चाहिए कि वो समझे आप उसे लाइन मार रहे हो।
  • बचपन में माँ डराती थी, `बेटा! बाबा पकड़ कर ले जायेगा।`<br/>
ससुरा बाबा ही पकड़ा गया।<br/>
और कितने अच्छे दिन चाहिए?Upload to Facebook
    बचपन में माँ डराती थी, "बेटा! बाबा पकड़ कर ले जायेगा।"
    ससुरा बाबा ही पकड़ा गया।
    और कितने अच्छे दिन चाहिए?
  • हनीप्रीत यदि नेपाल की जगह लन्दन भागती तो...<br/>
विजय माल्या उसको बाबा की कमी महसूस होने नहीं देता।Upload to Facebook
    हनीप्रीत यदि नेपाल की जगह लन्दन भागती तो...
    विजय माल्या उसको बाबा की कमी महसूस होने नहीं देता।
  • कायदे से अब ABP न्यूज़ का नाम बदल कर हनीप्रीत न्यूज़ कर देना चाहिए।Upload to Facebook
    कायदे से अब ABP न्यूज़ का नाम बदल कर हनीप्रीत न्यूज़ कर देना चाहिए।
  • कुछ लड़कियाँ इतना सज धज के मंदिर जाती हैं...<br/>
समझ नहीं आता देवी जी के दर्शन करने आई हैं या खुद के दर्शन कराने आई हैं।Upload to Facebook
    कुछ लड़कियाँ इतना सज धज के मंदिर जाती हैं...
    समझ नहीं आता देवी जी के दर्शन करने आई हैं या खुद के दर्शन कराने आई हैं।
  • दुनिया के सारे दुःख एक तरफ,<br/>
पुराने प्यार का अपनी पति संग डीपी लगाना एक तरफ।Upload to Facebook
    दुनिया के सारे दुःख एक तरफ,
    पुराने प्यार का अपनी पति संग डीपी लगाना एक तरफ।
  • मैं प्यार लिखता रहा, वो प्याज़ पढ़ती रही,<br/>
एक  वर्ड ने मेरी मोहब्बत का सलाद बना दिया।e!Upload to Facebook
    मैं प्यार लिखता रहा, वो प्याज़ पढ़ती रही,
    एक वर्ड ने मेरी मोहब्बत का सलाद बना दिया।e!
  • 12.09.17 को iPhone 8 का लॉन्च हुआ।<br/>
इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये लगातार 8वां ऐसा फ़ोन है, जो मेरे पास नही होगा।Upload to Facebook
    12.09.17 को iPhone 8 का लॉन्च हुआ।
    इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये लगातार 8वां ऐसा फ़ोन है, जो मेरे पास नही होगा।
  • लगातार मैसेज करते रहने से लोग बेरोजगार समझ लेते हैं।<br/>
इसलिए मैं बीच-बीच में गायब हो जाता हूँ।Upload to Facebook
    लगातार मैसेज करते रहने से लोग बेरोजगार समझ लेते हैं।
    इसलिए मैं बीच-बीच में गायब हो जाता हूँ।
  • हवेलियाँ तो यूँ ही बदनाम हो गयी ग़ालिब,<br/>
सच्चे सौदे तो डेरे पर होते रहे।Upload to Facebook
    हवेलियाँ तो यूँ ही बदनाम हो गयी ग़ालिब,
    सच्चे सौदे तो डेरे पर होते रहे।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT