• पप्पू: पापा, आप इंजीनियर कैसे बने?<br/>

संता: उसके लिए बहुत दिमाग की जरुरत पड़ती है।<br/>

पप्पू: इसीलिए तो पूछ रहा हूँ क्योंकि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आप कैसे इंजीनियर बने?
    पप्पू: पापा, आप इंजीनियर कैसे बने?
    संता: उसके लिए बहुत दिमाग की जरुरत पड़ती है।
    पप्पू: इसीलिए तो पूछ रहा हूँ क्योंकि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आप कैसे इंजीनियर बने?
  • पप्पू पहले दिन स्कूल गया।<br/>

टीचर: आज आपका स्कूल में पहला दिन है, कुछ पूछना हो तो पूछ सकते हो।<br/>

पप्पू: यहाँ छुट्टियाँ कब से शुरू होंगी?
    पप्पू पहले दिन स्कूल गया।
    टीचर: आज आपका स्कूल में पहला दिन है, कुछ पूछना हो तो पूछ सकते हो।
    पप्पू: यहाँ छुट्टियाँ कब से शुरू होंगी?
  • पप्पू: माँ, पापा बहुत ही शरीफ हैं।<br/>

जीतो: वो कैसे?<br/>

पप्पू: पापा जब भी किसी खूबसूरत लड़की को देखते हैं तो अपनी एक आँख बंद कर लेते हैं।
    पप्पू: माँ, पापा बहुत ही शरीफ हैं।
    जीतो: वो कैसे?
    पप्पू: पापा जब भी किसी खूबसूरत लड़की को देखते हैं तो अपनी एक आँख बंद कर लेते हैं।
  • बंटी पप्पू से: तुम्हारे पिताजी का नाम कमाल है क्या?<br/>
पप्पू: नहीं तो, तुमसे किसने कहा?<br/>
बंटी: कल सर कह रहे थे कि पप्पू कमाल का लड़का है।
    बंटी पप्पू से: तुम्हारे पिताजी का नाम कमाल है क्या?
    पप्पू: नहीं तो, तुमसे किसने कहा?
    बंटी: कल सर कह रहे थे कि पप्पू कमाल का लड़का है।
  • अध्यापक: बेटा, बिजली कहां से आती है?<br/>
पप्पू: मामा के यहां से।<br/>
अध्यापक: वो कैसे?<br/>
पप्पू: जब भी बिजली जाती है तो पापा बोलते हैं काट दी 'सालों' ने।
    अध्यापक: बेटा, बिजली कहां से आती है?
    पप्पू: मामा के यहां से।
    अध्यापक: वो कैसे?
    पप्पू: जब भी बिजली जाती है तो पापा बोलते हैं काट दी 'सालों' ने।
  • पप्पू अपने पिता संता से: पापा मुझे मोटरसाइकिल लेकर दो।<br/>
संता: भगवान जी ने दो टांगें किस लिए दी हैं?<br/>
पप्पू: एक टांग किक मारने के लिए और दूसरी गियर डालने के लिए।
    पप्पू अपने पिता संता से: पापा मुझे मोटरसाइकिल लेकर दो।
    संता: भगवान जी ने दो टांगें किस लिए दी हैं?
    पप्पू: एक टांग किक मारने के लिए और दूसरी गियर डालने के लिए।
  • पप्पू अपने पिता संता से: क्या बताऊ पापा, सामने वाले मकान मे एक लड़की हर
रोज़ खिड़की में से रुमाल हिलाती है पर खिड़की का शीशा कभी नही खोलती।<br/>
संता: बहको मत बेटे, वह तुझे देख कर रुमाल नही हिलाती। दरअसल वह इस मकान
की नौकरानी है जो रोज़ खिड़की के शीशे साफ करती है।
    पप्पू अपने पिता संता से: क्या बताऊ पापा, सामने वाले मकान मे एक लड़की हर रोज़ खिड़की में से रुमाल हिलाती है पर खिड़की का शीशा कभी नही खोलती।
    संता: बहको मत बेटे, वह तुझे देख कर रुमाल नही हिलाती। दरअसल वह इस मकान की नौकरानी है जो रोज़ खिड़की के शीशे साफ करती है।
  • अध्यापक: अगर तुम्हारा दोस्त और गर्लफ्रेंड किसी कश्ती में डूब रहे हों तो तुम किसको बचाओगे?<br/>
पप्पू: मरने दो दोनों को...<br/>
अध्यापक: क्यों?<br/>
पप्पू: साले दोनों एक साथ कश्ती में कर क्या रहे थे?
    अध्यापक: अगर तुम्हारा दोस्त और गर्लफ्रेंड किसी कश्ती में डूब रहे हों तो तुम किसको बचाओगे?
    पप्पू: मरने दो दोनों को...
    अध्यापक: क्यों?
    पप्पू: साले दोनों एक साथ कश्ती में कर क्या रहे थे?
  • बंटी: यार, तुमने स्कूल आना क्यों छोड़ दिया?<br/>
पप्पू : मेरे पापा कह रहे थे के एक जगह बार-बार जाने से इज्ज़त कम हो जाती है। इसीलिए।
    बंटी: यार, तुमने स्कूल आना क्यों छोड़ दिया?
    पप्पू : मेरे पापा कह रहे थे के एक जगह बार-बार जाने से इज्ज़त कम हो जाती है। इसीलिए।
  • संता: बेटा, अमेरिका मे 15 साल के बच्‍चे भी अपने पैरों पे खड़े हो जाते हैं।<br/>
पप्पू: लेकिन पापा भारत मे तो दो साल का बच्‍चा भागने भी लगता है।
    संता: बेटा, अमेरिका मे 15 साल के बच्‍चे भी अपने पैरों पे खड़े हो जाते हैं।
    पप्पू: लेकिन पापा भारत मे तो दो साल का बच्‍चा भागने भी लगता है।