• सुहानी सुबह में सूरज का साथ हो;<br />
गुन गुनाते पंछियों की आवाज हो;<br />
हाथ में चाय का प्याला हो;<br />
और मन में एक दूसर की याद हो।<br />
ऐसी ही हमारी और तुम्हारी सुप्रभात हो।Upload to Facebook
    सुहानी सुबह में सूरज का साथ हो;
    गुन गुनाते पंछियों की आवाज हो;
    हाथ में चाय का प्याला हो;
    और मन में एक दूसर की याद हो।
    ऐसी ही हमारी और तुम्हारी सुप्रभात हो।
  • फूल खिलने का वक़्त हो गया;<br />
सूरज निकलने का वक़्त हो गया;<br />
मीठी नींद से जागो मेरे प्यारो;<br />
सपने हक़ीकत में लाने  का वक़्त हो गया।<br />
सुप्रभात।
Upload to Facebook
    फूल खिलने का वक़्त हो गया;
    सूरज निकलने का वक़्त हो गया;
    मीठी नींद से जागो मेरे प्यारो;
    सपने हक़ीकत में लाने का वक़्त हो गया।
    सुप्रभात।
  • नई सुबह;<br />
नई किरणें;<br />
नई आशा;<br />
नई उम्मीदें;<br />
नये रास्ते;<br />
इन सब के साथ आपको दिल से - सुप्रभात।Upload to Facebook
    नई सुबह;
    नई किरणें;
    नई आशा;
    नई उम्मीदें;
    नये रास्ते;
    इन सब के साथ आपको दिल से - सुप्रभात।
  • सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है;<br />
आँख खुलते ही आपकी याद आती है;<br />
खुशियों के फूल हो आपके आँचल में;<br />
ये मेरे होंठो पर पहली फ़रियाद होती है।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    सुबह होते ही जब दुनिया आबाद होती है;
    आँख खुलते ही आपकी याद आती है;
    खुशियों के फूल हो आपके आँचल में;
    ये मेरे होंठो पर पहली फ़रियाद होती है।
    सुप्रभात।
  • खुदा करे रात चाँद बनकर आये;<br />
दिन का उजाला शान बनकर आये;<br />
कभी दूर न हो आपके चेहरे से हंसी;<br />
नया दिन ऐसा मेहमान बनकर आये।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    खुदा करे रात चाँद बनकर आये;
    दिन का उजाला शान बनकर आये;
    कभी दूर न हो आपके चेहरे से हंसी;
    नया दिन ऐसा मेहमान बनकर आये।
    सुप्रभात।
  • नए दिन की नई सुबह का नया-नया अंदाज़;<br />
सारे दिन की झोली में छुपे हुए हैं कुछ राज़;<br />
तुझको मुझको हर किसी को मिलना है कुछ आज;<br />
तो आओ यारों ख़ुशी ख़ुशी कर लें दिन का आग़ाज़।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    नए दिन की नई सुबह का नया-नया अंदाज़;
    सारे दिन की झोली में छुपे हुए हैं कुछ राज़;
    तुझको मुझको हर किसी को मिलना है कुछ आज;
    तो आओ यारों ख़ुशी ख़ुशी कर लें दिन का आग़ाज़।
    सुप्रभात।
  • कोई वफ़ा नहीं फिर भी इंतज़ार था;<br />
दूर होने के बाद भी आपकी दोस्ती से प्यार था;<br />
आपके चेहरे की मुस्कुराहट बता रही है;<br />
आपको मेरे ही मैसेज का इंतज़ार था।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    कोई वफ़ा नहीं फिर भी इंतज़ार था;
    दूर होने के बाद भी आपकी दोस्ती से प्यार था;
    आपके चेहरे की मुस्कुराहट बता रही है;
    आपको मेरे ही मैसेज का इंतज़ार था।
    सुप्रभात।
  • ख़्वाबों के जहाँ से अब लौट भी आओ;<br />
हुई है सुबह अब जाग भी जाओ;<br />
चाँद-तारों को अब कह भी दो 'बाय';<br />
और प्यारी सी सुबह को कहो, 'हाय'।<br />
गुड मोर्निंग।Upload to Facebook
    ख़्वाबों के जहाँ से अब लौट भी आओ;
    हुई है सुबह अब जाग भी जाओ;
    चाँद-तारों को अब कह भी दो 'बाय';
    और प्यारी सी सुबह को कहो, 'हाय'।
    गुड मोर्निंग।
  • सूरज की पहली किरण ख़ुशी दे आपको;<br />
दूसरी किरण प्यारी सी हंसी दे आपको;<br />
तीसरी किरण अच्छा स्वास्थ और तरक्की दे आपको;<br />
बस अब और गर्मी नहीं, लगेगी आपको।<br />
सुप्रभात।Upload to Facebook
    सूरज की पहली किरण ख़ुशी दे आपको;
    दूसरी किरण प्यारी सी हंसी दे आपको;
    तीसरी किरण अच्छा स्वास्थ और तरक्की दे आपको;
    बस अब और गर्मी नहीं, लगेगी आपको।
    सुप्रभात।
  • `मधुरम् मधुरम्` `प्रातःकाले` `शीतलम् शीतलम्` `पवनः` `ऊष्णम् ऊष्णम्` `ऊष्णोदकम्` सर्वे जनाः कथयन्ति शुभ प्रभातम्।Upload to Facebook
    "मधुरम् मधुरम्" "प्रातःकाले" "शीतलम् शीतलम्" "पवनः" "ऊष्णम् ऊष्णम्" "ऊष्णोदकम्" सर्वे जनाः कथयन्ति शुभ प्रभातम्।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT