• पैर में घाव हुआ तो डॉक्टर के पास गया ओर इंजेक्शन लगवाके आया!<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
पहले ठीक से चल नही पा रहा था, अब ठीक से बैठ नही पा रहा!
    पैर में घाव हुआ तो डॉक्टर के पास गया ओर इंजेक्शन लगवाके आया!
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पहले ठीक से चल नही पा रहा था, अब ठीक से बैठ नही पा रहा!
  • धोखे से कमाए हुए पैसे को पुण्य के काम में लगाओगे तो पुण्य उसे ही मिलेगा जिसे तुमने धोखा दिया है!<br/>
~ गुरु नानक देव जी<br/>
आप सभी की गुरु नानक देव जी के गुरपुरब की हार्दिक बधाई!
    धोखे से कमाए हुए पैसे को पुण्य के काम में लगाओगे तो पुण्य उसे ही मिलेगा जिसे तुमने धोखा दिया है!
    ~ गुरु नानक देव जी
    आप सभी की गुरु नानक देव जी के गुरपुरब की हार्दिक बधाई!
  • तन महि मैल नाही मन राता ॥<br/>
गुर बचनी सच सबदि पछाता ॥<br/>
तेरा ताण नाम की वडिआई ॥<br/>
नानक रहणा भगति सरणाई ॥४॥१०॥<br/><br/>

जिसका मन प्रभु के अभ्यस्त है, उसके शरीर में कोई प्रदूषण नहीं है;<br/>
गुरु के शब्द के माध्यम से सच्चे शब्द का एहसास होता है;<br/>
सभी शक्तियां तुम्हारे नाम के माध्यम से तुम्हारी हैं;<br/>
नानक अपने भक्तों के अभयारण्य में पालन करता है।<br/>
गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की शुभ कामनायें!
    तन महि मैल नाही मन राता ॥
    गुर बचनी सच सबदि पछाता ॥
    तेरा ताण नाम की वडिआई ॥
    नानक रहणा भगति सरणाई ॥४॥१०॥

    जिसका मन प्रभु के अभ्यस्त है, उसके शरीर में कोई प्रदूषण नहीं है;
    गुरु के शब्द के माध्यम से सच्चे शब्द का एहसास होता है;
    सभी शक्तियां तुम्हारे नाम के माध्यम से तुम्हारी हैं;
    नानक अपने भक्तों के अभयारण्य में पालन करता है।
    गुरु नानक देव जी के प्रकाश पुरब की शुभ कामनायें!
  • जो कर सूरज निक्ल्या;<br/>
तारे छुपे हनेर पलोआ;<br/>
मिट्टी धुन्ध जग चानन होआ;<br/>
कल तारण गुरु नानक आया!<br/>
गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव की हार्दिक बधाई!
    जो कर सूरज निक्ल्या;
    तारे छुपे हनेर पलोआ;
    मिट्टी धुन्ध जग चानन होआ;
    कल तारण गुरु नानक आया!
    गुरु नानक देव जी के प्रकाश उत्सव की हार्दिक बधाई!
  • घरवाले मुझे रामायण दिखाते थे ताकि मैं राम बन सकूं...<br/>
पर असर उल्टा हुआ, और मैं कुंभकरण बन गया!
    घरवाले मुझे रामायण दिखाते थे ताकि मैं राम बन सकूं...
    पर असर उल्टा हुआ, और मैं कुंभकरण बन गया!
  • जिसका ये ऐलान है कि वो मज़े में है,<br/>
या तो वो फ़कीर है या नशे में है!
    जिसका ये ऐलान है कि वो मज़े में है,
    या तो वो फ़कीर है या नशे में है!
  • पहले 20 रुपये की लैदर बॉल के लिए 11 दोस्त पैसे इकट्ठे करते थे!<br/>
अब बॉल तो अकेले ले सकते हैं लेकिन 11 दोस्त इकट्ठे नहीं होते!
    पहले 20 रुपये की लैदर बॉल के लिए 11 दोस्त पैसे इकट्ठे करते थे!
    अब बॉल तो अकेले ले सकते हैं लेकिन 11 दोस्त इकट्ठे नहीं होते!
  • कुछ रिश्तों के नाम नहीं होते;<br/>
कुछ रिश्ते नाम के ही होते हैं!
    कुछ रिश्तों के नाम नहीं होते;
    कुछ रिश्ते नाम के ही होते हैं!
  • इंसान ख़ुद की नज़र में साफ़ होना चाहिए बाक़ी दुनिया तो भगवान से भी दुखी है!<br/>
सुप्रभात!
    इंसान ख़ुद की नज़र में साफ़ होना चाहिए बाक़ी दुनिया तो भगवान से भी दुखी है!
    सुप्रभात!
  • एक बस में दो लड़के बैठे थे और बीच में एक सीट खाली थी!<br/>
मैंने पूछा, यहाँ कौन बैठा है तो बोले, `हमारी उम्मीद`!
    एक बस में दो लड़के बैठे थे और बीच में एक सीट खाली थी!
    मैंने पूछा, यहाँ कौन बैठा है तो बोले, "हमारी उम्मीद"!