• सेल्फ़ी निकालना तो सेकंड्स का काम है!<br/>
वक़्त तो `इमेज़` बनाने में लगता है!
    सेल्फ़ी निकालना तो सेकंड्स का काम है!
    वक़्त तो "इमेज़" बनाने में लगता है!
  • हम जब छोटे थे तो मम्मी पापा टीवी देखने नही देते थे...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
जब बड़े हुए तो हमें बच्चे टीवी देखने नही देते! करें तो करें क्या?
    हम जब छोटे थे तो मम्मी पापा टीवी देखने नही देते थे...
    .
    .
    .
    .
    जब बड़े हुए तो हमें बच्चे टीवी देखने नही देते! करें तो करें क्या?
  • भूतकाल के बारे में सोचोगे तो पछताओगे, वर्तमान के बारे में सोचोगे तो मुस्कराओगे!
    भूतकाल के बारे में सोचोगे तो पछताओगे, वर्तमान के बारे में सोचोगे तो मुस्कराओगे!
  • कड़वा है मगर सच है!<br/>
मोबाइल के कारण बच्चे माता-पिता के कवरेज एरिया से बाहर होते जा रहे हैं!
    कड़वा है मगर सच है!
    मोबाइल के कारण बच्चे माता-पिता के कवरेज एरिया से बाहर होते जा रहे हैं!
  • थोड़ा बहुत शतरंज का आना भी ज़रूरी है साहब,<br/>
कई बार सामने वाला मोहरे चल रहा होता है और हम रिश्ते निभाते रह जाते हैं!
    थोड़ा बहुत शतरंज का आना भी ज़रूरी है साहब,
    कई बार सामने वाला मोहरे चल रहा होता है और हम रिश्ते निभाते रह जाते हैं!
  • अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!<br/>
क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
    अपने किरदार की हिफाजत जान से बढ़ कर कीजिये!
    क्योंकि इसे ज़िन्दगी के बाद भी याद किया जाता है!
  • जब से सभी के अलग अलग मकान हो गए,<br/>
पूरा बचपन साथ बिताने वाले भाई भी आज एक दूसरे के मेहमान हो गए!
    जब से सभी के अलग अलग मकान हो गए,
    पूरा बचपन साथ बिताने वाले भाई भी आज एक दूसरे के मेहमान हो गए!
  • किसे धोरै लाइसेंस भी ना हो,<br/>
पी कै गाड़ी भी चलाण लाग रह्या हो,<br/>
<br/>
सीट बेल्ट भी ना लगा रह्या हो,<br/>
रेड लाइट भी जम्प कर ज्यावै,<br/><br/>

ओवर स्पीड म भी हो,<br/>
इंसोरेन्स भी एक्सपायर हो रह्या हो,<br/><br/>

उसका तो किल्ले बेचे ए पैंडा छूटैगा।
    किसे धोरै लाइसेंस भी ना हो,
    पी कै गाड़ी भी चलाण लाग रह्या हो,

    सीट बेल्ट भी ना लगा रह्या हो,
    रेड लाइट भी जम्प कर ज्यावै,

    ओवर स्पीड म भी हो,
    इंसोरेन्स भी एक्सपायर हो रह्या हो,

    उसका तो किल्ले बेचे ए पैंडा छूटैगा।
  • जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!<br/>
चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
    जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता है!
    चाहे वो नींद से हो, अहम से हो या फिर वहम से!
  • गुरूर किस बात का है साहब,<br/>
आज मिट्टी के ऊपर कल मिट्टी के नीचे होंगे!
    गुरूर किस बात का है साहब,
    आज मिट्टी के ऊपर कल मिट्टी के नीचे होंगे!