• हरियाणवी फ्लर्ट:<br/>
छोरा: कुणसी क्रीम लगाया करे तू बैरण?<br/>
छोरी: कोयसी भी ना।<br/>
छोरा: फेर लगाया कर `भुंडी सकल की`।
    हरियाणवी फ्लर्ट:
    छोरा: कुणसी क्रीम लगाया करे तू बैरण?
    छोरी: कोयसी भी ना।
    छोरा: फेर लगाया कर "भुंडी सकल की"।
  • जेब में ज़रा सा सुराख़ क्या हुआ,<br/>
सिक्कों से ज़्यादा रिश्ते गिर पडे।
    जेब में ज़रा सा सुराख़ क्या हुआ,
    सिक्कों से ज़्यादा रिश्ते गिर पडे।
  • अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,<br/>
कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!
    अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,
    कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!
  • उत्तराखंड सी हो गई है ज़िंदगी,<br/>
खूबसूरत तो बहुत है पर आपदाएं कम नहीं हो रहीं।
    उत्तराखंड सी हो गई है ज़िंदगी,
    खूबसूरत तो बहुत है पर आपदाएं कम नहीं हो रहीं।
  • चारों तरफ जय माता दी छाई हुई है;<br/>
फिर ये वृद्धआश्रमों मे किसकी मां आई हुई है।
    चारों तरफ जय माता दी छाई हुई है;
    फिर ये वृद्धआश्रमों मे किसकी मां आई हुई है।
  • किराने की दुकान में बणिया 500 रूपये का नोट बहुत ध्यान से चेक कर रहा था।<br/>
जाट: लाला जी, कितणै भी ध्यान तैं देख ले गाँधी की जगह कटरीना ना दिखैगी।
    किराने की दुकान में बणिया 500 रूपये का नोट बहुत ध्यान से चेक कर रहा था।
    जाट: लाला जी, कितणै भी ध्यान तैं देख ले गाँधी की जगह कटरीना ना दिखैगी।
  • क्लास में एक छोरा मास्टर तै बोल्या, `थोड़ा सा मूत आऊ जी?`<br/>
मास्टर: सारा ऐ मूत आ। बाकी का के जलजीरा बनावेगा।
    क्लास में एक छोरा मास्टर तै बोल्या, "थोड़ा सा मूत आऊ जी?"
    मास्टर: सारा ऐ मूत आ। बाकी का के जलजीरा बनावेगा।
  • ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में सेहत का भी ख्याल रखिए...<br/>
ऐसा ना हो कि आप पीछे रह जाएं और पेट आगे निकल जाए।
    ज़िन्दगी की भाग-दौड़ में सेहत का भी ख्याल रखिए...
    ऐसा ना हो कि आप पीछे रह जाएं और पेट आगे निकल जाए।
  • पैसा कमाने के लिए इतना समय खर्च ना करो कि,<br/>
पैसा खर्च करने के लिए ज़िंदगी में समय ही ना बचे।
    पैसा कमाने के लिए इतना समय खर्च ना करो कि,
    पैसा खर्च करने के लिए ज़िंदगी में समय ही ना बचे।
  • आपकी पढाई का कोई महत्तव नहीं रह जाता यदि आपके द्वारा फेंका गया कचरा, अगली सुबह कोई अनपढ़ व्यक्ति उठाता है।<br/>
शिक्षित हो समझदार बनो!
    आपकी पढाई का कोई महत्तव नहीं रह जाता यदि आपके द्वारा फेंका गया कचरा, अगली सुबह कोई अनपढ़ व्यक्ति उठाता है।
    शिक्षित हो समझदार बनो!