अनमोल वचन Hindi SMS

ईश्वर चित्र में नहीं चरित्र में बस्ता है;<br/>
इसलिए अपनी आत्मा को पवित्र बनाओ।
ईश्वर चित्र में नहीं चरित्र में बस्ता है;
इसलिए अपनी आत्मा को पवित्र बनाओ।
दूसरों को सहयोग देना ही उन्हें अपना सहयोगी बनाना है।
दूसरों को सहयोग देना ही उन्हें अपना सहयोगी बनाना है।
दुनिया में कोई भी चीज़ अपने आपके लिए नहीं बनी है। जैसे:
दरिया - खुद अपना पानी नहीं पीता।
पेड़ - खुद अपना फल नहीं खाते।
सूरज - अपने लिए उजाला नहीं करता।
फूल - अपनी खुशबु अपने लिए नहीं बिखेरते।
मालूम है क्यों?
क्योंकि दूसरों के लिए ही जीना ही असली जिंदगी है।
मनुष्य सुबह से शाम तक काम करके उतना नहीं थकता;<br/>
जितना क्रोध और चिंता से एक क्षण में थक जाता है।
मनुष्य सुबह से शाम तक काम करके उतना नहीं थकता;
जितना क्रोध और चिंता से एक क्षण में थक जाता है।
अगर आपका मित्र आपकी सफलता से ईर्ष्या करता है तो यह बात स्पष्ट है कि वो आपका कभी मित्र था ही नहीं।
अगर आपका मित्र आपकी सफलता से ईर्ष्या करता है तो यह बात स्पष्ट है कि वो आपका कभी मित्र था ही नहीं।
महान बनने की चाहत तो हर एक में है, पर महान बनने के चक्कर में हम इंसान बनना भूल जाते हैं।
महान बनने की चाहत तो हर एक में है, पर महान बनने के चक्कर में हम इंसान बनना भूल जाते हैं।
कष्ट और विपत्ति मनुष्य को शिक्षा देने वाले श्रेष्ठ गुण हैं। जो साहस के साथ उनका सामना करते हैं, वे विजयी होते हैं।
बुलंदी की उडान पर हो तो जरा सबर रखो;<br/>

परिंदे बताते हैं कि आसमान में ठिकाने नही होते।
बुलंदी की उडान पर हो तो जरा सबर रखो;
परिंदे बताते हैं कि आसमान में ठिकाने नही होते।
दो तरह से देखने में चीज़ें छोटी नज़र आती हैं;<br/>
दूर से और गुरूर से।
दो तरह से देखने में चीज़ें छोटी नज़र आती हैं;
दूर से और गुरूर से।
रफ़्तार ज़िंदगी की कुछ यूँ बनाये रखिये कि दुश्मन कोई आगे निकल ना पाये दोस्त कोई पीछे छूट ना जाये।

Quotes

अगर कोई इंसान गलत रास्ते पर जा रहा है तो उसे प्रेरणा की आवश्यकता नहीं है कि वो तेज़ी से वहां से गुज़र जाये बल्कि उसे शिक्षा की आवश्यकता है ताकि वो वहां से वापस मुड़ सके।

Trivia

Studies show that people who spend more time on the Internet are more likely to develop social problems and self-esteem issues.

Graffiti

A closed mouth gathers no foot!