Join our FaceBook Group
ज़िन्दगी उस मुकाम पर है कि अगर पहाड़ों की हसीन वादियों में भी जाकर ज़ोर से पुकारे ज़िन्दगी तो वापस सुनाई देगा झंड है, झंड है, झंड है!
ज़िन्दगी उस मुकाम पर है कि अगर पहाड़ों की हसीन वादियों में भी जाकर ज़ोर से पुकारे ज़िन्दगी तो वापस सुनाई देगा झंड है, झंड है, झंड है!
पति-पत्नी स्पेशल:<br/>
मांग भरने की सजा कुछ इस कदर पा रहा हूँ कि मांग पूरी करते करते अब मांग-मांग के खा रहा हूँ!
पति-पत्नी स्पेशल:
मांग भरने की सजा कुछ इस कदर पा रहा हूँ कि मांग पूरी करते करते अब मांग-मांग के खा रहा हूँ!
बीवी क्या होती है<br/>
बीवी भगवान के प्रसाद जैसे होती है, जिसमें चाहते हुए भी कोई नुक्स नहीं निकाल सकते; श्रद्धा और मज़बूरी के साथ चुपचाप खाए जाओ!
बीवी क्या होती है
बीवी भगवान के प्रसाद जैसे होती है, जिसमें चाहते हुए भी कोई नुक्स नहीं निकाल सकते; श्रद्धा और मज़बूरी के साथ चुपचाप खाए जाओ!
जब से रॉयल एनफील्ड वालों ने सेल्फ-स्टार्ट की सुविधा दी है तब से एक थप्पड़ में गिर जाने वाले लड़के भी बुल्ट लहराते घूमते हैं!
जब से रॉयल एनफील्ड वालों ने सेल्फ-स्टार्ट की सुविधा दी है तब से एक थप्पड़ में गिर जाने वाले लड़के भी बुल्ट लहराते घूमते हैं!
किसी अनजान लड़की को मैसेज कर दो तो वह ऐसी अकड़ के रिप्लाई करती है जैसे कि वह अमेरिका की रानी है!
किसी अनजान लड़की को मैसेज कर दो तो वह ऐसी अकड़ के रिप्लाई करती है जैसे कि वह अमेरिका की रानी है!
कुछ बच्चे सड़क पर अपने पटाखे चला रहे थे! अभी एक पटाखे में चिंगारी लगाई ही थी कि सामने से एक आंटी आती दिखी! सब चिल्लाने लगे आंटी पटाखा है, आंटी पटाखा है, आंटी पटाखा है!<br/>
आंटी: नहीं रे पगलो, अब पहले जैसी बात कहाँ!
कुछ बच्चे सड़क पर अपने पटाखे चला रहे थे! अभी एक पटाखे में चिंगारी लगाई ही थी कि सामने से एक आंटी आती दिखी! सब चिल्लाने लगे आंटी पटाखा है, आंटी पटाखा है, आंटी पटाखा है!
आंटी: नहीं रे पगलो, अब पहले जैसी बात कहाँ!
टीचर: बताओ बच्चों खाना बैड पर क्यूँ नहीं खाना चाहिये?<br/>
बच्चा: कभी भी बैड पर खाना नहीं खाना चाहिये क्यूंकि अगर खाना बैड पर गिरा तो खाने के साथ साथ माँ की गालियॉँ भी खानी पड़ती हैं!
टीचर: बताओ बच्चों खाना बैड पर क्यूँ नहीं खाना चाहिये?
बच्चा: कभी भी बैड पर खाना नहीं खाना चाहिये क्यूंकि अगर खाना बैड पर गिरा तो खाने के साथ साथ माँ की गालियॉँ भी खानी पड़ती हैं!
अचानक खुशनुमा मौसम में ये आंधी कैसी आने लगी,<br/>
छुट्टियां पूरी हुई अब, बीवियां सबकी घर आने लगी!
अचानक खुशनुमा मौसम में ये आंधी कैसी आने लगी,
छुट्टियां पूरी हुई अब, बीवियां सबकी घर आने लगी!
रुपयों में कितनी गर्मी होती है इस बात का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि हर ATM में 24 घंटे A.C. चलता है!
रुपयों में कितनी गर्मी होती है इस बात का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि हर ATM में 24 घंटे A.C. चलता है!
अलमारी खोलने पर हर औरत की दो मुख्य समस्याएँ होती हैं!<br/>
पहनने के लिए कपडे नहीं हैं और रखने के लिए जगह ही नहीं है!
अलमारी खोलने पर हर औरत की दो मुख्य समस्याएँ होती हैं!
पहनने के लिए कपडे नहीं हैं और रखने के लिए जगह ही नहीं है!