Join our FaceBook Group
हमारी सल्तनत में देख कर कदम रखना ऐ दोस्त;<br/>
क्योंकि हमारी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।
हमारी सल्तनत में देख कर कदम रखना ऐ दोस्त;
क्योंकि हमारी दोस्ती की क़ैद में जमानत नहीं होती।
कुछ दोस्त खजाने की तरह होते हैं...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
मन करता है, जमीन मे गाढ दूँ।
कुछ दोस्त खजाने की तरह होते हैं...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
मन करता है, जमीन मे गाढ दूँ।
लोग दौलत देखते हैं, हम इज़्ज़त देखते हैं;<br/>
लोग मंज़िल देखते हैं, हम सफ़र देखते हैं;<br/>
लोग दोस्ती बनाते हैं, हम उसे निभाते हैं।
लोग दौलत देखते हैं, हम इज़्ज़त देखते हैं;
लोग मंज़िल देखते हैं, हम सफ़र देखते हैं;
लोग दोस्ती बनाते हैं, हम उसे निभाते हैं।
बस साथ चलते रहो ऐ दोस्त,<br/>
कुछ पल की नही, यह दोस्ती हमें उम्र भर चाहिए।
बस साथ चलते रहो ऐ दोस्त,
कुछ पल की नही, यह दोस्ती हमें उम्र भर चाहिए।
जो दोस्त 'कमीने' नहीं होते;<br/>
वो कमीने 'दोस्त' ही नहीं होते।
जो दोस्त 'कमीने' नहीं होते;
वो कमीने 'दोस्त' ही नहीं होते।
इश्क़ में नस काट लेना भी आसान था पर दोस्त इतने कमीने थे कि...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
सालों ने दारु पिला के उसी की बारात में नचवा दिया।
दोस्त फेल हो जाए तो दुःख होता है।<br/>
लेकिन अगर दोस्त First आ जाये तो ज़्यादा दुःख होता है।
दोस्त फेल हो जाए तो दुःख होता है।
लेकिन अगर दोस्त First आ जाये तो ज़्यादा दुःख होता है।
जब को कोई दोस्त बीमार होता है तो
रिश्तेदार: कुछ नहीं होगा तुझे, समय पर दवाई लेते रहना, भगवान सब ठीक करेगा
दोस्त: मर जा साले तू, मरने से पहले अपना Xbox मुझे दे दे यार, पता है मेरे दादा जी भी ऐसे ही मरे थे।
मित्रता आनंद को दुगुना और दुख को आधा कर देती है।
महक दोस्ती की इश्क़ से कम नहीं होती,<br/>
इश्क़ से ज़िन्दगी शुरू या खत्म नहीं होती,<br/>
अगर साथ हो ज़िन्दगी में अच्छे दोस्तों का,<br/>
तो यह ज़िन्दगी भी जन्नत से कम नहीं होती।
महक दोस्ती की इश्क़ से कम नहीं होती,
इश्क़ से ज़िन्दगी शुरू या खत्म नहीं होती,
अगर साथ हो ज़िन्दगी में अच्छे दोस्तों का,
तो यह ज़िन्दगी भी जन्नत से कम नहीं होती।