इंतज़ार Hindi SMS

इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा;<br/>

यादें कटती हैं ले ले कर नाम तेरा;<br/>

मुद्दत से बैठे हैं यह आस पाले;<br/>

कि कभी तो आएगा कोई पैगाम तेरा।
इंतज़ार रहता है हर शाम तेरा;
यादें कटती हैं ले ले कर नाम तेरा;
मुद्दत से बैठे हैं यह आस पाले;
कि कभी तो आएगा कोई पैगाम तेरा।
दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे;<br/>
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे;<br/>
ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन;<br/>
ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे।
दिल में इंतज़ार की लकीर छोड़ जायेंगे;
आँखों में यादों की नमी छोड़ जायेंगे;
ढूंढ़ते फिरोगे हमें हर जगह एक दिन;
ज़िन्दगी में ऐसी अपनी कमी छोड़ जायेंगे।
किस्मत ने तुमसे दूर कर दिया;<br/>
अकेलेपन ने दिल को मज़बूर कर दिया;<br/>
हम भी ज़िंदगी से मुँह मोड़ लेते मगर;<br/>
तुम्हारे इंतज़ार ने जीने पर मज़बूर कर दिया।
किस्मत ने तुमसे दूर कर दिया;
अकेलेपन ने दिल को मज़बूर कर दिया;
हम भी ज़िंदगी से मुँह मोड़ लेते मगर;
तुम्हारे इंतज़ार ने जीने पर मज़बूर कर दिया।
बिन आपके कुछ भी अच्छा नहीं लगता;<br/>
अब मेरा वजूद भी सच्चा नहीं लगता;<br/>
सिर्फ आपके इंतज़ार में कट रही है ये ज़िंदगी;<br/>
वरना अब तक तो मौत के आगोश में सो जाती ये ज़िंदगी।
बिन आपके कुछ भी अच्छा नहीं लगता;
अब मेरा वजूद भी सच्चा नहीं लगता;
सिर्फ आपके इंतज़ार में कट रही है ये ज़िंदगी;
वरना अब तक तो मौत के आगोश में सो जाती ये ज़िंदगी।
लम्हा-लम्हा इंतज़ार किया उस लम्हे के लिए;<br/>
और वो लम्हा आया भी तो बस एक लम्हे के लिए;<br/>
गुज़ारिश है यह खुदा से कि काश;<br/>
वो लम्हा फिर से मिल जाये बस एक लम्हे के लिए।
लम्हा-लम्हा इंतज़ार किया उस लम्हे के लिए;
और वो लम्हा आया भी तो बस एक लम्हे के लिए;
गुज़ारिश है यह खुदा से कि काश;
वो लम्हा फिर से मिल जाये बस एक लम्हे के लिए।
भले ही राह चलते तू औरों का दामन थाम ले;<br/>
मगर मेरे प्यार को भी तू थोड़ा पहचान ले;<br/>
कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में मैंने;<br/>
ज़रा इस दिल की बेताबी को भी तू जान ले।
भले ही राह चलते तू औरों का दामन थाम ले;
मगर मेरे प्यार को भी तू थोड़ा पहचान ले;
कितना इंतज़ार किया है तेरे इश्क़ में मैंने;
ज़रा इस दिल की बेताबी को भी तू जान ले।
कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर;<br/>
वो मिले भी तो एक किनारा बनकर;<br/>
हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह;<br/>
बस एक इंतज़ार है साथ सहारा बनकर।
कोई मिलता ही नहीं हमसे हमारा बनकर;
वो मिले भी तो एक किनारा बनकर;
हर ख्वाब टूट के बिखरा काँच की तरह;
बस एक इंतज़ार है साथ सहारा बनकर।
बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ;<br/>
वो तो खुशबु है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ;<br/>
उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नहीं लेकिन;<br/>
दिल चाहता है आखिरी सांस तक उसका इंतज़ार करूँ।
बड़ी मुश्किल में हूँ कैसे इज़हार करूँ;
वो तो खुशबु है उसे कैसे गिरफ्तार करूँ;
उसकी मोहब्बत पर मेरा हक़ नहीं लेकिन;
दिल चाहता है आखिरी सांस तक उसका इंतज़ार करूँ।
उस अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है;<br/>
इंकार करने पर भी चाहत का इकरार क्यों है;<br/>
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद;<br/>
फिर हर मोड़ पे उसी का इंतज़ार क्यों है।
उस अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है;
इंकार करने पर भी चाहत का इकरार क्यों है;
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद;
फिर हर मोड़ पे उसी का इंतज़ार क्यों है।
आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं;<br/>
हर वक़्त आपको ही तो याद करती हैं;<br/>
जब तक देख न लें चेहरा आपका;<br/>
तब तक हर घडी आपका इंतज़ार करती हैं।
आँखें भी मेरी पलकों से सवाल करती हैं;
हर वक़्त आपको ही तो याद करती हैं;
जब तक देख न लें चेहरा आपका;
तब तक हर घडी आपका इंतज़ार करती हैं।

Quotes

अवगुण नाव की पेंदी के छेद के समान है, जो चाहे छोटा हो या बड़ा, एक दिन उसे डुबो देगा।

Trivia

The word 'Baklava' is derived from an old Mongolian word, Baγla: to pile up or layer.

Graffiti

In democracy, your vote counts. In feudalism, your count votes!