Join our FaceBook Group
पति रोज़ अपनी नाराज़ बीवी के घर फ़ोन करता था।<br/>
सास: कितनी बार कहा है, वो तुम्हारे लिए मर चुकी है, तो बार-बार फ़ोन क्यों करते हो?<br/>
पति: सुन कर अच्छा  लगता है।
पति रोज़ अपनी नाराज़ बीवी के घर फ़ोन करता था।
सास: कितनी बार कहा है, वो तुम्हारे लिए मर चुकी है, तो बार-बार फ़ोन क्यों करते हो?
पति: सुन कर अच्छा लगता है।
लघु कथा:<br/>
12 साल बाद वो जेल से छूटा। मैले कपडों में थका हुआ घर पहुंचा।<br/>
बीवी: कहाँ घूम रहे थे इतनी देर, रिहाई तो 2 घंटे पहले हो गई थी?<br/>
आदमी वापिस जेल चला गया।
लघु कथा:
12 साल बाद वो जेल से छूटा। मैले कपडों में थका हुआ घर पहुंचा।
बीवी: कहाँ घूम रहे थे इतनी देर, रिहाई तो 2 घंटे पहले हो गई थी?
आदमी वापिस जेल चला गया।
मेरे एक शुभचिंतक ने मुझे यह सुझाव दिया कि लोगों से बहस से नहीं जीतो, बल्कि अपनी मुस्कान से हराओ।<br/>
मैंने प्रयास किया तो बीवी बोली, 'बहुत ज्यादा हंसी आ रही है तुमको आजकल?'
मेरे एक शुभचिंतक ने मुझे यह सुझाव दिया कि लोगों से बहस से नहीं जीतो, बल्कि अपनी मुस्कान से हराओ।
मैंने प्रयास किया तो बीवी बोली, "बहुत ज्यादा हंसी आ रही है तुमको आजकल?"
पत्नी: मेरी ये समझ में नहीं आता कि कई साल से मैं करवा चौथ का व्रत नहीं रख रही, फिर भी तुम पूर्ण स्वस्थ कैसे हो?<br/>
पति: मैं बहुत नियम संयम से रहता हूँ इसलिए।<br/>
पत्नी: मुझे बेवक़ूफ़ समझ रखा है क्या? सच-सच बताओ वह कौन है जो तुम्हारे लिए करवा चौथ का व्रत रखती है?
पत्नी: मेरी ये समझ में नहीं आता कि कई साल से मैं करवा चौथ का व्रत नहीं रख रही, फिर भी तुम पूर्ण स्वस्थ कैसे हो?
पति: मैं बहुत नियम संयम से रहता हूँ इसलिए।
पत्नी: मुझे बेवक़ूफ़ समझ रखा है क्या? सच-सच बताओ वह कौन है जो तुम्हारे लिए करवा चौथ का व्रत रखती है?
माँ और पत्नी दोनों की इज़्ज़त करो।<br/>
क्योंकि अगर एक ने तुम्हें सूरज दिखाया है तो दूसरी ने दिन में तारे।
माँ और पत्नी दोनों की इज़्ज़त करो।
क्योंकि अगर एक ने तुम्हें सूरज दिखाया है तो दूसरी ने दिन में तारे।
एक सर्वे के मुताबिक:<br/>
शादीशुदा आदमी के वज़न बढ़ने का कारण दोस्तों के साथ किए भरपेट नाश्ते के बाद घर पे पत्नी के डर से ज़्यादा खा लेना भी हो सकता है।
एक सर्वे के मुताबिक:
शादीशुदा आदमी के वज़न बढ़ने का कारण दोस्तों के साथ किए भरपेट नाश्ते के बाद घर पे पत्नी के डर से ज़्यादा खा लेना भी हो सकता है।
शादी मतलब:<br/>
आप मुझे नसीब से मिले हो से लेकर नसीब फूटे थे जो तुम मिले, तक का सफर!
शादी मतलब:
आप मुझे नसीब से मिले हो से लेकर नसीब फूटे थे जो तुम मिले, तक का सफर!
शादी मतलब:<br/>
अजी सुनते हो, से लेकर बहरे हो गए हो क्या? तक का सफर!
शादी मतलब:
अजी सुनते हो, से लेकर बहरे हो गए हो क्या? तक का सफर!
शादी मतलब:<br/>
तुम्हें ही याद कर रही थी से लेकर याद करने के अलावा और भी बहुत काम हैं, तक का सफर!
शादी मतलब:
तुम्हें ही याद कर रही थी से लेकर याद करने के अलावा और भी बहुत काम हैं, तक का सफर!
आदमी: गुरू जी, मुझे बताइये, मैं कैसे अपने अंदर झाँकू? कैसे अपनी कमियां ढूँढू?<br/>
गुरु जी: बेटा बहुत आसान है, शादी कर लो। तुम्हारी पत्नी न केवल तुम्हारी, बल्कि तुम्हारे पूरे ख़ानदान की कमियां इतनी बार गिनवाएगी कि तुम्हें याद हो जाएँगी।
आदमी: गुरू जी, मुझे बताइये, मैं कैसे अपने अंदर झाँकू? कैसे अपनी कमियां ढूँढू?
गुरु जी: बेटा बहुत आसान है, शादी कर लो। तुम्हारी पत्नी न केवल तुम्हारी, बल्कि तुम्हारे पूरे ख़ानदान की कमियां इतनी बार गिनवाएगी कि तुम्हें याद हो जाएँगी।