Join our FaceBook Group
अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,<br/>
कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!
अगर कोई आपको कहे थोड़ी तमीज सीख लो तो,
कोशिश ज़रूर करना बाकी भगवान की मर्ज़ी!
अगर आप किसी के हमदर्द नहीं बन सकते, तो कृपया सिरदर्द भी ना बने।
अगर आप किसी के हमदर्द नहीं बन सकते, तो कृपया सिरदर्द भी ना बने।
आज खूब मजे करो क्योंकि ज़िन्दगी न मिलेगी 2/12 (दो-बारा)!
आज खूब मजे करो क्योंकि ज़िन्दगी न मिलेगी 2/12 (दो-बारा)!
रावण की 20 आँखें थी पर नज़र सिर्फ एक औरत पे, जबकि आपकी 2 आँखें और नज़र हर औरत पे,<br/>
तो असली रावण कौन?
रावण की 20 आँखें थी पर नज़र सिर्फ एक औरत पे, जबकि आपकी 2 आँखें और नज़र हर औरत पे,
तो असली रावण कौन?
ज़िंदगी में आगे बढ़ना है तो एक बात गांठ बांध लो।<br/>
Excuse Me बोलते जाओ, आगे बढ़ते जाओ।
ज़िंदगी में आगे बढ़ना है तो एक बात गांठ बांध लो।
Excuse Me बोलते जाओ, आगे बढ़ते जाओ।
कुछ लोग खाने के इतने शौक़ीन होते हैं कि,<br/>
वो दूसरों की खुशियाँ भी खा जाते हैं।
कुछ लोग खाने के इतने शौक़ीन होते हैं कि,
वो दूसरों की खुशियाँ भी खा जाते हैं।
बचपन की जिद्द समझौते में बदल जाती है,<br/>
उम्र बदलने के साथ।
बचपन की जिद्द समझौते में बदल जाती है,
उम्र बदलने के साथ।
आदमी ही आदमी का रास्ता काट रहा है,<br/>
बिल्लियाँ तो बेचारी बेरोज़गार बैठी हैं।
आदमी ही आदमी का रास्ता काट रहा है,
बिल्लियाँ तो बेचारी बेरोज़गार बैठी हैं।
'शेरों' की तरह जीते थे जब तक कमाते नहीं थे।<br/>
जब कमाना शुरू किया ज़िंदगी 'शेरू' की तरह हो गई।
"शेरों" की तरह जीते थे जब तक कमाते नहीं थे।
जब कमाना शुरू किया ज़िंदगी "शेरू" की तरह हो गई।
बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे;<br/>
ना दोस्ती का मतलब पता था, ना मतलब की दोस्ती थी।
बचपन के वो दिन भी क्या खूब थे;
ना दोस्ती का मतलब पता था, ना मतलब की दोस्ती थी।