Join our FaceBook Group
पप्पू परीक्षा में खाली बैठा हुआ था। कुछ भी लिख नहीं रहा था। 
टीचर: तुम कुछ लिख क्यों नहीं रहे? 
पप्पू: कुछ आ नहीं रहा। 
टीचर: कुछ तो आ रहा होगा? 
पप्पू: हाँ। 
टीचर: क्या? 
पप्पू: रोना।
पप्पू परीक्षा में खाली बैठा हुआ था। कुछ भी लिख नहीं रहा था।
टीचर: तुम कुछ लिख क्यों नहीं रहे?
पप्पू: कुछ आ नहीं रहा।
टीचर: कुछ तो आ रहा होगा?
पप्पू: हाँ।
टीचर: क्या?
पप्पू: रोना।
गर्लफ्रेंड: तुम्हें 'बर्ड्स' पसंद हैं? 
पप्पू: हाँ। 
गर्लफ्रेंड: कौन से? 
पप्पू: सिर्फ चिकन, कभी तंदूरी तो कभी टिक्का।
गर्लफ्रेंड: तुम्हें 'बर्ड्स' पसंद हैं?
पप्पू: हाँ।
गर्लफ्रेंड: कौन से?
पप्पू: सिर्फ चिकन, कभी तंदूरी तो कभी टिक्का।
टीचर: इतने दिन कहाँ थे? 
पप्पू: बर्ड फ्लू हो गया था। 
टीचर: पर ये तो बर्ड्स को होता है इंसानो में नहीं। 
पप्पू: इंसान समझा ही कहाँ है अपने, रोज़ तो मुर्गा बना देते हो।
टीचर: इतने दिन कहाँ थे?
पप्पू: बर्ड फ्लू हो गया था।
टीचर: पर ये तो बर्ड्स को होता है इंसानो में नहीं।
पप्पू: इंसान समझा ही कहाँ है अपने, रोज़ तो मुर्गा बना देते हो।
हैप्पी होली,
हैप्पी होली,
हैप्प...
.
.
.
धड़ाम!
.
.
.
.
.
.
.
पप्पू: मैंने तुझे पहले ही कहा था धीरे चला। अब लग गयी ना!
पप्पू: यार मैं चाहता हूँ कि जब मैं मरने लगूं तो भगवान मुझे पांच मिनट और दे दे। 
बंटी: क्यों, तू अपने पापों का प्राश्चित करना चाहते हो? 
पप्पू: अबे नहीं मोबाइल भी तो फॉर्मेट करना पड़ेगा, नहीं तो मरने के बाद भी घर वाले गालियाँ देंगे।
पप्पू: यार मैं चाहता हूँ कि जब मैं मरने लगूं तो भगवान मुझे पांच मिनट और दे दे।
बंटी: क्यों, तू अपने पापों का प्राश्चित करना चाहते हो?
पप्पू: अबे नहीं मोबाइल भी तो फॉर्मेट करना पड़ेगा, नहीं तो मरने के बाद भी घर वाले गालियाँ देंगे।
टीचर: पप्पू, क्या तुम सोने से पहले भगवान से प्रार्थना करते हो? 
पप्पू: मैं नहीं करता, मेरी मम्मी करती हैं। मेरे बिस्तर पर लेटने के बाद वह हर रात को कहती है, 'शुक्र है भगवान का... सो गया कम्ब्खत।'
टीचर: पप्पू, क्या तुम सोने से पहले भगवान से प्रार्थना करते हो?
पप्पू: मैं नहीं करता, मेरी मम्मी करती हैं। मेरे बिस्तर पर लेटने के बाद वह हर रात को कहती है, "शुक्र है भगवान का... सो गया कम्ब्खत।"
टीचर: चुम्बकीय शक्ति प्रभाव किसे कहते हैं? 
पप्पू: जब कोई लड़की स्कूटी पर जाते हुए किसी बाइक सवार लड़के के पास से गुजरती है तो उस लड़के की बाइक की गति अपने आप ही बढ़ जाती है। लड़की द्वारा उत्पन्न किये गये इस गति परिवर्तन को ही 'चुम्बकीय शक्ति प्रभाव'
कहते हैं और यदि ये प्रक्रिया नहीं होती है तो इसका सीधा अर्थ ये है कि लड़के में आयरन की कमी है।
टीचर: चुम्बकीय शक्ति प्रभाव किसे कहते हैं?
पप्पू: जब कोई लड़की स्कूटी पर जाते हुए किसी बाइक सवार लड़के के पास से गुजरती है तो उस लड़के की बाइक की गति अपने आप ही बढ़ जाती है। लड़की द्वारा उत्पन्न किये गये इस गति परिवर्तन को ही "चुम्बकीय शक्ति प्रभाव" कहते हैं और यदि ये प्रक्रिया नहीं होती है तो इसका सीधा अर्थ ये है कि लड़के में आयरन की कमी है।
टीचर पप्पू को डाँटते हुए: तुम्हारे इतने कम नंबर क्यों हैं? कुछ पढ़ा नहीं था क्या? 
पप्पू: टीचर मैं तो सुबह चार बजे उठ गया था पढ़ने के लिए। 
टीचर: फिर? 
पप्पू: फिर मैं बाथरूम गया और वहीं सो गया।
टीचर पप्पू को डाँटते हुए: तुम्हारे इतने कम नंबर क्यों हैं? कुछ पढ़ा नहीं था क्या?
पप्पू: टीचर मैं तो सुबह चार बजे उठ गया था पढ़ने के लिए।
टीचर: फिर?
पप्पू: फिर मैं बाथरूम गया और वहीं सो गया।
टीचर: पप्पू, अगर पहाड़ा याद नहीं है तो मुर्गा बन जा। 
पप्पू: सर कौन सा, सूखा या तरी वाला।
टीचर: पप्पू, अगर पहाड़ा याद नहीं है तो मुर्गा बन जा।
पप्पू: सर कौन सा, सूखा या तरी वाला।
टीचर में क्लास में पढ़ा रहा था तो अचानक एक लड़का उठ कर बाहर चला गया।<br/>
टीचर: इसे क्या हुआ?<br/>
पप्पू: सर, इसे नींद में चलने की आदत है और आप के लेक्चर से तो कोई भी सो जाये।
टीचर में क्लास में पढ़ा रहा था तो अचानक एक लड़का उठ कर बाहर चला गया।
टीचर: इसे क्या हुआ?
पप्पू: सर, इसे नींद में चलने की आदत है और आप के लेक्चर से तो कोई भी सो जाये।