Join our FaceBook Group
टीचर: सबसे ज्यादा इज्ज़त किसके पास है? 
पप्पू: सर, प्रेम चोपड़ा, शक्ति कपूर और रंजीत के पास। 
टीचर: कैसे? 
पप्पू: सर, सबसे ज्यादा इज्ज़त इन्हीं लोगों ने लूट रखी है।
टीचर: सबसे ज्यादा इज्ज़त किसके पास है?
पप्पू: सर, प्रेम चोपड़ा, शक्ति कपूर और रंजीत के पास।
टीचर: कैसे?
पप्पू: सर, सबसे ज्यादा इज्ज़त इन्हीं लोगों ने लूट रखी है।
पप्पू कक्षा में अपने हाथ पर लिख रहा था।
टीचर: पप्पू, यह हाथ पर क्यों लिख रहे हो?
पप्पू: टीचर वो फेसबुक पे स्टेटस डालना है, बाद में याद नहीं रहता।
परीक्षा हॉल में टीचर पप्पू से, 'पप्पू, अभी तक तुमने सवाल हल क्यों नहीं किये?' 
पप्पू: जी, अभी तक मुझे नक़ल करने का मौका ही नहीं मिला।
परीक्षा हॉल में टीचर पप्पू से, "पप्पू, अभी तक तुमने सवाल हल क्यों नहीं किये?"
पप्पू: जी, अभी तक मुझे नक़ल करने का मौका ही नहीं मिला।
केमिस्ट्री की कक्षा में: 
टीचर: पानी का फॉर्मूला बताओ। 
पप्पू: H2O + MgCl2 + CaSO4 + AlCl3 + NaOH + KOH + HNO3 + HCl + CO2 
टीचर: ये उत्तर गलत है। 
पप्पू: मैडम, ये नाले का पानी है।
केमिस्ट्री की कक्षा में:
टीचर: पानी का फॉर्मूला बताओ।
पप्पू: H2O + MgCl2 + CaSO4 + AlCl3 + NaOH + KOH + HNO3 + HCl + CO2
टीचर: ये उत्तर गलत है।
पप्पू: मैडम, ये नाले का पानी है।
पप्पू परीक्षा में खाली बैठा हुआ था। कुछ भी लिख नहीं रहा था। 
टीचर: तुम कुछ लिख क्यों नहीं रहे? 
पप्पू: कुछ आ नहीं रहा। 
टीचर: कुछ तो आ रहा होगा? 
पप्पू: हाँ। 
टीचर: क्या? 
पप्पू: रोना।
पप्पू परीक्षा में खाली बैठा हुआ था। कुछ भी लिख नहीं रहा था।
टीचर: तुम कुछ लिख क्यों नहीं रहे?
पप्पू: कुछ आ नहीं रहा।
टीचर: कुछ तो आ रहा होगा?
पप्पू: हाँ।
टीचर: क्या?
पप्पू: रोना।
गर्लफ्रेंड: तुम्हें 'बर्ड्स' पसंद हैं? 
पप्पू: हाँ। 
गर्लफ्रेंड: कौन से? 
पप्पू: सिर्फ चिकन, कभी तंदूरी तो कभी टिक्का।
गर्लफ्रेंड: तुम्हें 'बर्ड्स' पसंद हैं?
पप्पू: हाँ।
गर्लफ्रेंड: कौन से?
पप्पू: सिर्फ चिकन, कभी तंदूरी तो कभी टिक्का।
टीचर: इतने दिन कहाँ थे? 
पप्पू: बर्ड फ्लू हो गया था। 
टीचर: पर ये तो बर्ड्स को होता है इंसानो में नहीं। 
पप्पू: इंसान समझा ही कहाँ है अपने, रोज़ तो मुर्गा बना देते हो।
टीचर: इतने दिन कहाँ थे?
पप्पू: बर्ड फ्लू हो गया था।
टीचर: पर ये तो बर्ड्स को होता है इंसानो में नहीं।
पप्पू: इंसान समझा ही कहाँ है अपने, रोज़ तो मुर्गा बना देते हो।
हैप्पी होली,
हैप्पी होली,
हैप्प...
.
.
.
धड़ाम!
.
.
.
.
.
.
.
पप्पू: मैंने तुझे पहले ही कहा था धीरे चला। अब लग गयी ना!
पप्पू: यार मैं चाहता हूँ कि जब मैं मरने लगूं तो भगवान मुझे पांच मिनट और दे दे। 
बंटी: क्यों, तू अपने पापों का प्राश्चित करना चाहते हो? 
पप्पू: अबे नहीं मोबाइल भी तो फॉर्मेट करना पड़ेगा, नहीं तो मरने के बाद भी घर वाले गालियाँ देंगे।
पप्पू: यार मैं चाहता हूँ कि जब मैं मरने लगूं तो भगवान मुझे पांच मिनट और दे दे।
बंटी: क्यों, तू अपने पापों का प्राश्चित करना चाहते हो?
पप्पू: अबे नहीं मोबाइल भी तो फॉर्मेट करना पड़ेगा, नहीं तो मरने के बाद भी घर वाले गालियाँ देंगे।
टीचर: पप्पू, क्या तुम सोने से पहले भगवान से प्रार्थना करते हो? 
पप्पू: मैं नहीं करता, मेरी मम्मी करती हैं। मेरे बिस्तर पर लेटने के बाद वह हर रात को कहती है, 'शुक्र है भगवान का... सो गया कम्ब्खत।'
टीचर: पप्पू, क्या तुम सोने से पहले भगवान से प्रार्थना करते हो?
पप्पू: मैं नहीं करता, मेरी मम्मी करती हैं। मेरे बिस्तर पर लेटने के बाद वह हर रात को कहती है, "शुक्र है भगवान का... सो गया कम्ब्खत।"