आज कल बच्चों में भी इतना Attitude हो गया है। आज सवेरे मैंने एक छोटे बच्चे से पूछा,<br/>
'कौन से स्कूल में जाते हों?'<br/>
बच्चा: मैं जाता नहीं... मुझे भेजते हैं।
आज कल बच्चों में भी इतना Attitude हो गया है। आज सवेरे मैंने एक छोटे बच्चे से पूछा,
"कौन से स्कूल में जाते हों?"
बच्चा: मैं जाता नहीं... मुझे भेजते हैं।
<b>दूसरे लोग फ़ोन पर बात करते वक़्त:</b><br/>
और कैसे हो?<br/>
घर पे सब कैसे हैं?<br/>
बड़े दिनों बाद बात हुई।<br/>
चलो मिलते हैं।<br/><br/>

<b>ਪੰਜਾਬੀ ਗੱਲ ਕਰਦੇ ਸਮੇਂ:</b><br/>
ਕਿੱਧਾਂ ਕੰਜਰਾ, ਜਿਉਂਦਾ ਹੈਂ ਅਜੇ?<br/>
ਬੁੜ੍ਹੇ ਆਪਣੇ ਨੂੰ ਕਦੀ ਫੋਨ ਵੀ ਕਰ ਲਿਆ ਕਰ।<br/>
ਚਲ ਹੁਣ ਬਕਵਾਸ ਬੰਦ ਕਰ ਵਿਹਲਾ ਸਾਲਾ।<br/>
ਚੱਲ ਦਫ਼ਾ ਹੋ।
दूसरे लोग फ़ोन पर बात करते वक़्त:
और कैसे हो?
घर पे सब कैसे हैं?
बड़े दिनों बाद बात हुई।
चलो मिलते हैं।

ਪੰਜਾਬੀ ਗੱਲ ਕਰਦੇ ਸਮੇਂ:
ਕਿੱਧਾਂ ਕੰਜਰਾ, ਜਿਉਂਦਾ ਹੈਂ ਅਜੇ?
ਬੁੜ੍ਹੇ ਆਪਣੇ ਨੂੰ ਕਦੀ ਫੋਨ ਵੀ ਕਰ ਲਿਆ ਕਰ।
ਚਲ ਹੁਣ ਬਕਵਾਸ ਬੰਦ ਕਰ ਵਿਹਲਾ ਸਾਲਾ।
ਚੱਲ ਦਫ਼ਾ ਹੋ।
साला यहाँ तो फ़ोन की भी सेटिंग है<br/>
पर मेरी नहीं!
साला यहाँ तो फ़ोन की भी सेटिंग है
पर मेरी नहीं!
अपने देश में माँ - बाप का अपने बच्चे के लिए सबसे पसंदीदा डायलॉग -<br/>
'दिमाग तो बहुत है इसका बस पढाई पे ध्यान नहीं देता'।
अपने देश में माँ - बाप का अपने बच्चे के लिए सबसे पसंदीदा डायलॉग -
"दिमाग तो बहुत है इसका बस पढाई पे ध्यान नहीं देता"।
सिर्फ घूमने आये हो तो सही सलामत जाओगे अपने द्वार;
और अगर व्यापमं की बात की तो पहुँच जाओगे सीधे हरिद्वार।

म प्र टूरिज्म
कभी कभी सोचता हूँ कि काली मिर्च 1000/- रुपये किलो है।<br/>
कहीं गलती से साली गोरी होती तो कितना भाव खाती?
कभी कभी सोचता हूँ कि काली मिर्च 1000/- रुपये किलो है।
कहीं गलती से साली गोरी होती तो कितना भाव खाती?
बकरी ने रोमांटिक होते हुए बकरे से कहा, 'आई लव यू'।<br/>
बकरा (मायूस होकर): अब क्या फायदा, थोड़े दिनों बाद तो ईद आने वाली है।
बकरी ने रोमांटिक होते हुए बकरे से कहा, "आई लव यू"।
बकरा (मायूस होकर): अब क्या फायदा, थोड़े दिनों बाद तो ईद आने वाली है।
सास: कितनी बार कहा है, बाहर जाओ तो बिन्दी लगाकर जाया कर।<br/>
बहु: पर जीन्स पर बिन्दी कौन लगाता है?<br/>
सास: तो मैंने कब कहा जीन्स पर लगानी है, माथे पर लगा।
सास: कितनी बार कहा है, बाहर जाओ तो बिन्दी लगाकर जाया कर।
बहु: पर जीन्स पर बिन्दी कौन लगाता है?
सास: तो मैंने कब कहा जीन्स पर लगानी है, माथे पर लगा।
कुछ रिश्ते अनजाने में बन जाते हैं;<br/>
पहले दिल से फिर ज़िन्दगी से जुड़ जाते हैं;<br/>
कहते हैं उस दौर को दोस्ती;<br/>
जिसमे अनजाने ना जाने कब अपने बन जाते हैं।
कुछ रिश्ते अनजाने में बन जाते हैं;
पहले दिल से फिर ज़िन्दगी से जुड़ जाते हैं;
कहते हैं उस दौर को दोस्ती;
जिसमे अनजाने ना जाने कब अपने बन जाते हैं।
आँधियों से न बुझूं ऐसा उजाला हो जाऊँ;<br/>
तू नवाज़े तो जुगनू से सितारा हो जाऊँ;<br/>
एक बून्द हूँ मुझे ऐसी फितरत दे मेरे मालिक;<br/>
कोई प्यासा दिखे तो दरिया हो जाऊँ।
आँधियों से न बुझूं ऐसा उजाला हो जाऊँ;
तू नवाज़े तो जुगनू से सितारा हो जाऊँ;
एक बून्द हूँ मुझे ऐसी फितरत दे मेरे मालिक;
कोई प्यासा दिखे तो दरिया हो जाऊँ।