हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो; 
चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो; 
एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे; 
सिर्फ एक शुरुआत तो दो। 
सुप्रभात!
हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब दो;
चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो;
एक पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;
सिर्फ एक शुरुआत तो दो।
सुप्रभात!
बधाई...
रेलवे प्लेटफार्म टिकट 10/- की हो गई है।
नहीं खरीदने पर पहले 5/- बचते थे अब 10/- बचेंगें।
अच्छे दिन आ गए।
भगवान से हर वक़्त शिकायत रखने वालो,<BR>
भगवान ने तुम्हारा पेट भरने की जिम्मेदारी ली है... तुम्हारी पेटी भरने की नहीं।
भगवान से हर वक़्त शिकायत रखने वालो,
भगवान ने तुम्हारा पेट भरने की जिम्मेदारी ली है... तुम्हारी पेटी भरने की नहीं।
जो आसानी से मिले वो है धोखा;<BR>
जो मुश्किल से मिले वो है इज़्ज़त;<BR>
जो दिल से मिले वो है प्यार;<BR>
और जो नसीब से मिले वो है दोस्त।
जो आसानी से मिले वो है धोखा;
जो मुश्किल से मिले वो है इज़्ज़त;
जो दिल से मिले वो है प्यार;
और जो नसीब से मिले वो है दोस्त।
एक नेता जी भाषण दे रहे थे,<BR>
'स्त्री को अबला कहना उसका अपमान है।'<BR>
तभी भीड़ में से आवाज आई,<BR>
'तो ठीक है आप एक बार उसे बला कहकर भी देख लीजिए।'
एक नेता जी भाषण दे रहे थे,
"स्त्री को अबला कहना उसका अपमान है।"
तभी भीड़ में से आवाज आई,
"तो ठीक है आप एक बार उसे बला कहकर भी देख लीजिए।"
बंदर पेड़ों पर क्यों सोते हैं?
.
.
.
.
.
.
.
.
.
चलो जाने दो यार, तुम्हारा निजी मामला है। तुम कहीं भी सो सकते हो, मुझे क्या!
लड़की: प्यार तो कल भी था और आज भी है।<BR>
लड़का: सच?<BR>
लड़की: हाँ, कल वो तेरे लिए था आज किसी और के लिए है।
लड़की: प्यार तो कल भी था और आज भी है।
लड़का: सच?
लड़की: हाँ, कल वो तेरे लिए था आज किसी और के लिए है।
ऑफिस से घर आते ही पति गुस्से से पत्नी पर चिल्लाया,<BR>
'मैंने जब फोन किया तो मेरा फोन क्यों नहीं उठाया?'<BR>
पत्नी ने भी चिढ़कर जवाब दिया, 'मैं 'Ringtone' पर नाच रही थी, इसलिए।'
ऑफिस से घर आते ही पति गुस्से से पत्नी पर चिल्लाया,
"मैंने जब फोन किया तो मेरा फोन क्यों नहीं उठाया?"
पत्नी ने भी चिढ़कर जवाब दिया, "मैं 'Ringtone' पर नाच रही थी, इसलिए।"
ਰਿਸ਼ਤੇ ਕਦੇ ਵੀ ਕੁਦਰਤੀ ਮੌਤ ਨਹੀ ਮਰਦੇ;<BR>
ਇਨਹਾਂ ਨੂੰ ਹਮੇਸ਼ਾ ਇਨਸਾਨ ਹੀ ਕਤਲ ਕਰਦਾ ਹੈ -<BR>
ਨਫਰਤ ਨਾਲ, ਨਜ਼ਰ ਅੰਦਾਜੀ ਨਾਲ ਅਤੇ ਕਦੇ ਗਲਤਫ਼ਹਮੀ ਨਾਲ।
ਰਿਸ਼ਤੇ ਕਦੇ ਵੀ ਕੁਦਰਤੀ ਮੌਤ ਨਹੀ ਮਰਦੇ;
ਇਨਹਾਂ ਨੂੰ ਹਮੇਸ਼ਾ ਇਨਸਾਨ ਹੀ ਕਤਲ ਕਰਦਾ ਹੈ -
ਨਫਰਤ ਨਾਲ, ਨਜ਼ਰ ਅੰਦਾਜੀ ਨਾਲ ਅਤੇ ਕਦੇ ਗਲਤਫ਼ਹਮੀ ਨਾਲ।
जो कुछ भी मैंने खोया वह मेरी नादानी थी,<BR>
और जो कुछ भी मैंने पाया वह रब की मेहरबानी थी।
जो कुछ भी मैंने खोया वह मेरी नादानी थी,
और जो कुछ भी मैंने पाया वह रब की मेहरबानी थी।