नब्ज़ मेरी देखी और बीमार लिख दिया;<br/>
रोग मेरा उसने दोस्तों का प्यार लिख दिया;<br/>
कर्ज़दार रहेंगे उम्र भर उस हक़ीम के;<br/>
जिसने दवा में दोस्तों का साथ लिख दिया।<br/>
फ्रेंडशिप डे की शुभ कामनायें!
नब्ज़ मेरी देखी और बीमार लिख दिया;
रोग मेरा उसने दोस्तों का प्यार लिख दिया;
कर्ज़दार रहेंगे उम्र भर उस हक़ीम के;
जिसने दवा में दोस्तों का साथ लिख दिया।
फ्रेंडशिप डे की शुभ कामनायें!
होठों पर उल्फत के फ़साने नहीं आते;<br/>
जो बीत गए फिर वो दीवाने नहीं आते;<br/>
दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द;<br/>
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।<br/>
फ्रेंडशिप डे की बधाई!
होठों पर उल्फत के फ़साने नहीं आते;
जो बीत गए फिर वो दीवाने नहीं आते;
दोस्त ही होते हैं दोस्तों के हमदर्द;
कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।
फ्रेंडशिप डे की बधाई!
काम का आलस और पैसों का लालच,<br/>
हमें महान बनने नहीं देता।
काम का आलस और पैसों का लालच,
हमें महान बनने नहीं देता।
माँ: बेटा, वो लड़की वाले आ रहे हैं।<br/>
बेटा: पर माँ हमारी सोच नहीं मिलती।<br/>
माँ: सोच तो तुम्हारी हमसे भी नहीं मिलती, फिर भी हमने तुम्हें रखा हुआ है न।
माँ: बेटा, वो लड़की वाले आ रहे हैं।
बेटा: पर माँ हमारी सोच नहीं मिलती।
माँ: सोच तो तुम्हारी हमसे भी नहीं मिलती, फिर भी हमने तुम्हें रखा हुआ है न।
रात को देर तक जागने वाले हर इंसान आशिक़ नहीं होते,
कुछ लोग मेरे जैसे भी होते हैं,
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
"जो दोपहर को 5 घंटे सो जाते हैं।"
संता होटल में खाना खाने के बाद उठा और वेटर को 10/- रुपये टिप दिए।<br/>
वेटर: 10/- रुपये की टिप मेरे लिए बेइज़्ज़ती है।<br/>
संता: तो फिर?<br/>
वेटर: 20/- रुपये तो दो।<br/>
संता: नहीं यार मैं तुम्हारी दो बार बेइज़्ज़ती नहीं कर सकता।
संता होटल में खाना खाने के बाद उठा और वेटर को 10/- रुपये टिप दिए।
वेटर: 10/- रुपये की टिप मेरे लिए बेइज़्ज़ती है।
संता: तो फिर?
वेटर: 20/- रुपये तो दो।
संता: नहीं यार मैं तुम्हारी दो बार बेइज़्ज़ती नहीं कर सकता।
बाला साहेब जाते वक़्त कसाब को ले गये और अब कलाम साहब याकूब को। ये कोई संयोग नही देश प्रेम है।
.
.
.
.
.
.
दाऊद को भी लेकर आओ बहुत अहम नेता इंतज़ार कर रहे हैं।
News: Yakub Hanged.<br/>
आलिया: एक बार Restart करके देखो। फिर Hang नहीं होगा।
News: Yakub Hanged.
आलिया: एक बार Restart करके देखो। फिर Hang नहीं होगा।
रिश्तों में दूरियां तो आती रहती हैं;<br/>
फिर भी दूरियां दिलों को मिला देती हैं;<br/>
वो रिश्ता ही क्या जिसमें नाराज़गी ना हो;<br/>
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना लेती है।<br/>
फ्रेंडशिप डे की शुभ कामनायें!
रिश्तों में दूरियां तो आती रहती हैं;
फिर भी दूरियां दिलों को मिला देती हैं;
वो रिश्ता ही क्या जिसमें नाराज़गी ना हो;
पर सच्ची दोस्ती दोस्तों को मना लेती है।
फ्रेंडशिप डे की शुभ कामनायें!
टूटी कलम और औरो से जलन, खुद का भाग्य लिखने नहीं देती ।
टूटी कलम और औरो से जलन, खुद का भाग्य लिखने नहीं देती ।