बंटी: यार लड़की को प्रपोज़ करने के लिये Safe जगह बता।<br/>
पप्पू: मंदिर।<br/>
बंटी: क्यों?<br/>
पप्पू: वहाँ लड़की के पाँव में चप्पल नहीं होती।
बंटी: यार लड़की को प्रपोज़ करने के लिये Safe जगह बता।
पप्पू: मंदिर।
बंटी: क्यों?
पप्पू: वहाँ लड़की के पाँव में चप्पल नहीं होती।
पत्नी: डॉक्टर साहब मेरे पति को रात में बड़बड़ाने की आदत है, कोई उपाय बताएं।<br/>
डॉक्टर: आप उन्हें दिन में बोलने का मौका दिया करें।
पत्नी: डॉक्टर साहब मेरे पति को रात में बड़बड़ाने की आदत है, कोई उपाय बताएं।
डॉक्टर: आप उन्हें दिन में बोलने का मौका दिया करें।
चुनाव आयोग मुलायम सिंह से,<br/>
'माना कि साइकिल आपकी थी लेकिन ताला तो लगाना चाहिये था, बेटे को चलाने दी थी लेकर भाग गया।'
चुनाव आयोग मुलायम सिंह से,
"माना कि साइकिल आपकी थी लेकिन ताला तो लगाना चाहिये था, बेटे को चलाने दी थी लेकर भाग गया।"
बेटे का दिमाग ज्यादा चले  तो मुसीबत<br/>
(अखिलेश)<br/>
कम चले, तो मुसीबत<br/>
(राहुल)
बेटे का दिमाग ज्यादा चले तो मुसीबत
(अखिलेश)
कम चले, तो मुसीबत
(राहुल)
भाई किसी को चाहिए तो बताना टिप-टॉप कंडीशन, 1 साल चला हुआ।<br/>
2016 का कैलेंडर!
भाई किसी को चाहिए तो बताना टिप-टॉप कंडीशन, 1 साल चला हुआ।
2016 का कैलेंडर!
पप्पू घर से मार खा कर स्कूल जा रहा था, रास्ते में किसी  ने पूछा, 'बेटा पढ़ते हो?'<br/>
पप्पू: नहीं, Uniform पहन के तेरे बाप की बारात में जा रहा हूँ।
पप्पू घर से मार खा कर स्कूल जा रहा था, रास्ते में किसी ने पूछा, "बेटा पढ़ते हो?"
पप्पू: नहीं, Uniform पहन के तेरे बाप की बारात में जा रहा हूँ।
मोबाइल आने से एक अच्छा काम तो हुआ।<br/>
जब इंसान फ्री होता है तो मोबाइल चला लेता है।<br/>
पहले तो नाक में ऊँगली डाल-डाल कर, नाक की ऐसी-तैसी कर देता है।
मोबाइल आने से एक अच्छा काम तो हुआ।
जब इंसान फ्री होता है तो मोबाइल चला लेता है।
पहले तो नाक में ऊँगली डाल-डाल कर, नाक की ऐसी-तैसी कर देता है।
रिश्तेदारों की सबसे बड़ी गलतफहमी काफी दिनों से इनके घर नहीं गये हैं आज चलते हैं,<br/>
'वरना वो बुरा मान जायेंगे'।
रिश्तेदारों की सबसे बड़ी गलतफहमी काफी दिनों से इनके घर नहीं गये हैं आज चलते हैं,
"वरना वो बुरा मान जायेंगे"।
इतनी ठण्ड में आधी रात को बाथरूम जाने के लिए गर्म रज़ाई से बाथरूम तक का सफर किसी 'मिनी वनवास' से कम नहीं होता है।
इतनी ठण्ड में आधी रात को बाथरूम जाने के लिए गर्म रज़ाई से बाथरूम तक का सफर किसी 'मिनी वनवास' से कम नहीं होता है।
कुछ लोग तो ऐसे खुश हो रहे हैं जैसे नया साल नहीं बल्कि नई साली आई हो।
कुछ लोग तो ऐसे खुश हो रहे हैं जैसे नया साल नहीं बल्कि नई साली आई हो।