टीचर: तुम्हें पता है हमारे पूर्वज बन्दर थे।<br/>
जाट: थारे होंगे, हमारे तो चौधरी थे।
टीचर: तुम्हें पता है हमारे पूर्वज बन्दर थे।
जाट: थारे होंगे, हमारे तो चौधरी थे।
मंज़िल पाना तो बहुत दूर की बात है अगर गुरूर में रहोगे तो रास्ते भी नहीं देख पाओगे।
मंज़िल पाना तो बहुत दूर की बात है अगर गुरूर में रहोगे तो रास्ते भी नहीं देख पाओगे।
पत्नी : तुम अपनी हद में रहना सीखो, वरना मैं अपना स्टेटस अपडेट करने जा रही हूँ।<br/>
पति: जा कर ले, क्या कर लेगी तू?<br/>
पत्नी: मैं लिखने जा रही हूँ कि मेरे पति को 'व्यापम' घोटाले की पूरी जानकारी है।
पत्नी : तुम अपनी हद में रहना सीखो, वरना मैं अपना स्टेटस अपडेट करने जा रही हूँ।
पति: जा कर ले, क्या कर लेगी तू?
पत्नी: मैं लिखने जा रही हूँ कि मेरे पति को 'व्यापम' घोटाले की पूरी जानकारी है।
एक प्रेमी जोड़ा पार्क में बैठा बातें कर रहा था।<br/>
लड़का: जानू, मुझे तुम्हारी आँखो मे सारा शहर नजर आता है।<br/>
तभी वहाँ एक शराबी आकर बोला,<br/>
'भाई, देखना कि दारू चैकिंग नाका कहाँ लगा है आज?'
एक प्रेमी जोड़ा पार्क में बैठा बातें कर रहा था।
लड़का: जानू, मुझे तुम्हारी आँखो मे सारा शहर नजर आता है।
तभी वहाँ एक शराबी आकर बोला,
"भाई, देखना कि दारू चैकिंग नाका कहाँ लगा है आज?"
सब लोग मंज़िल को मुश्किल मानते हैं;<br/>
हम तो मुश्किल को मंज़िल मानते हैं।<br/>
बहुत बड़ा फर्क है सब में और हम में;<br/>
सब ज़िंदगी को दोस्त और हम दोस्त को ज़िंदगी मानते हैं।
सब लोग मंज़िल को मुश्किल मानते हैं;
हम तो मुश्किल को मंज़िल मानते हैं।
बहुत बड़ा फर्क है सब में और हम में;
सब ज़िंदगी को दोस्त और हम दोस्त को ज़िंदगी मानते हैं।
सभी रिश्तों में पुरुषों का नाम पहले आता है।<br/>
दादा - दादी, नाना - नानी, मामा - मामी, चाचा - चाची, भईया - भाभी, लेकिन सिर्फ एक रिश्ता ऐसा है जिसमे पुरुष बाद में आता है और वो है... माँ - बाप का क्योंकि माँ से बड़ा कोई नहीं।
सभी रिश्तों में पुरुषों का नाम पहले आता है।
दादा - दादी, नाना - नानी, मामा - मामी, चाचा - चाची, भईया - भाभी, लेकिन सिर्फ एक रिश्ता ऐसा है जिसमे पुरुष बाद में आता है और वो है... माँ - बाप का क्योंकि माँ से बड़ा कोई नहीं।
बंता: यार संता गाय घास क्यों खाती है?<br/>
संता: ओये क्योंकि उसके पास और कोई चारा नहीं होता।
बंता: यार संता गाय घास क्यों खाती है?
संता: ओये क्योंकि उसके पास और कोई चारा नहीं होता।
अगर कोई लड़की सज-धज करके नयी ड्रेस पहन के कहीं पार्टी में जा रही है तो समझ लो थोड़ी देर में...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
उसकी DP बदलने वाली है।
अगर स्विच बंद करते वक्त आवाज आये कि...
'मैं हूँ'
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
तो समझ जाओ कि स्विच टॉयलेट का है।
क्या सुनाऊँ अपने सब्र की कहानी,
समंदर का रखवाला था और सारी उम्र प्यासा रहा।
- गंगाराम (गर्ल्स हॉस्टल का चौकीदार)