कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें पर कोई निकाल कर तो देखे,<br/>
थोबड़ा ना सूजा दूँ तो कहना।
कमियाँ तो बहुत हैं मुझमें पर कोई निकाल कर तो देखे,
थोबड़ा ना सूजा दूँ तो कहना।
लड़के वाले लड़की के घर गए।<br/>
लड़का, लड़की से: आपकी शिक्षा?<br/>
लड़की: MF.I.A.S. <br/>
लड़के ने आगे डिग्री की Detail यह सोचकर नहीं पूछी कि कहीं लड़की उसे अशिक्षित ना समझे। बाद में वे लोग चले आये और शादी भी हो गई। शादी के बाद लड़के ने लड़की से पूछा कि, ये  MF.I.A.S. क्या होता है?<br/>
उसने बताया, 'Matric Fail in All Subjects'।<br/>
लड़का बेहोश!
लड़के वाले लड़की के घर गए।
लड़का, लड़की से: आपकी शिक्षा?
लड़की: MF.I.A.S.
लड़के ने आगे डिग्री की Detail यह सोचकर नहीं पूछी कि कहीं लड़की उसे अशिक्षित ना समझे। बाद में वे लोग चले आये और शादी भी हो गई। शादी के बाद लड़के ने लड़की से पूछा कि, ये MF.I.A.S. क्या होता है?
उसने बताया, "Matric Fail in All Subjects"।
लड़का बेहोश!
हद तो तब हो गई जब बिहार में लड़ते हुए एक औरत ने दूसरी से कहा,<br/>
'भगवान करे अगले साल तेरा बेटा टॉप कर जाये।'
हद तो तब हो गई जब बिहार में लड़ते हुए एक औरत ने दूसरी से कहा,
"भगवान करे अगले साल तेरा बेटा टॉप कर जाये।"
लड़का: तुम लड़कियाँ लव मैरिज क्यों करती हो?<br/>
लड़की: अंजान नमूना मिलने से अच्छा है कि जाना-पहचाना कमीना मिल जाए।
लड़का: तुम लड़कियाँ लव मैरिज क्यों करती हो?
लड़की: अंजान नमूना मिलने से अच्छा है कि जाना-पहचाना कमीना मिल जाए।
लड़का: अपनी फोटो भेजना।<br/>
लड़की: क्यों?<br/>
लड़का: ज्यादा खुश मत हो, छोटे भाई को डरा के सुलाना है।
लड़का: अपनी फोटो भेजना।
लड़की: क्यों?
लड़का: ज्यादा खुश मत हो, छोटे भाई को डरा के सुलाना है।
बचपन में एक बार मैं घर से भाग गया था, लगभग पांच किलोमीटर भागकर हाँफने के बाद ये समझ आया कि सिर्फ फ़िल्मी हीरो ही दौड़ते-दौड़ते बड़े होते हैं।
बचपन में एक बार मैं घर से भाग गया था, लगभग पांच किलोमीटर भागकर हाँफने के बाद ये समझ आया कि सिर्फ फ़िल्मी हीरो ही दौड़ते-दौड़ते बड़े होते हैं।
टीचर: अकबर ने कब तक शासन किया था?
पप्पू: पेज नंबर से 13 से 17 तक।
टीचर: अकबर ने कब तक शासन किया था? पप्पू: पेज नंबर से 13 से 17 तक।
WhatsApp ग्रुप क्या है?
WhatsApp ग्रुप रेल का वो खचाखच भरा डिब्बा है। जहाँ पाद कोई भी मारे सूंघना सभी को पड़ता है।
WhatsApp ग्रुप क्या है? WhatsApp ग्रुप रेल का वो खचाखच भरा डिब्बा है। जहाँ पाद कोई भी मारे सूंघना सभी को पड़ता है।
सरकारी नौकरी पाया हुआ कुँवारा लड़का रिश्तेदारों के बीच वैसे ही चमकता है जैसे आकाश में ध्रुव तारा।
बाकी तो हम बेरोज़गारों को ऐसे देखते हैं जैसे सीधे धारा 302 काट कर आ रहे हों।
~ भड़का हुआ बेरोज़गार!
सरकारी नौकरी पाया हुआ कुँवारा लड़का रिश्तेदारों के बीच वैसे ही चमकता है जैसे आकाश में ध्रुव तारा। बाकी तो हम बेरोज़गारों को ऐसे देखते हैं जैसे सीधे धारा 302 काट कर आ रहे हों। ~ भड़का हुआ बेरोज़गार!
मायके से हमारी मैडम फोन करके बोली: क्या तुम हमें याद करते हो?
हमने कहा: पगली याद करना इतना आसान होता तो दसवीं में टॉप ना कर जाते।
मायके से हमारी मैडम फोन करके बोली: क्या तुम हमें याद करते हो? हमने कहा: पगली याद करना इतना आसान होता तो दसवीं में टॉप ना कर जाते।