Hindi SMS (Page 4)

Page: 4
अधर्म पर धर्म की विजय,<br/>
असत्य पर सत्य की विजय,
बुराई पर अच्छाई की विजय,<br/>
पाप पर पुण्य की विजय,<br/>
अत्याचार पर सदाचार की विजय,<br/>
क्रोध पर दया, क्षमा की विजय,<br/>
अज्ञान पर ज्ञान की विजय,<br/>
रावण पर श्रीराम की विजय,<br/>
के प्रतीक पावन पर्व विजयादशमी की हार्दीक शुभकामनायेँ।
अधर्म पर धर्म की विजय,
असत्य पर सत्य की विजय, बुराई पर अच्छाई की विजय,
पाप पर पुण्य की विजय,
अत्याचार पर सदाचार की विजय,
क्रोध पर दया, क्षमा की विजय,
अज्ञान पर ज्ञान की विजय,
रावण पर श्रीराम की विजय,
के प्रतीक पावन पर्व विजयादशमी की हार्दीक शुभकामनायेँ।
केवल सीमा पर जाकर गोली खाना ही देश सेवा नहीं है,
अगर गुटखा खाकर हर जगह थूकना छोड़ दो तो भी देश पर बहुत बड़ा एहसान होगा।
सितम को हमने बेरुखी समझा;<br/>
प्यार को हमने बंदगी समझा;<br/>
तुम चाहे हमे जो भी समझो;<br/>
हमने तो तुम्हे अपनी ज़िंदगी समझा।
सितम को हमने बेरुखी समझा;
प्यार को हमने बंदगी समझा;
तुम चाहे हमे जो भी समझो;
हमने तो तुम्हे अपनी ज़िंदगी समझा।
एक लड़का और एक डॉक्टर शॉपिंग कर रहे थे। लड़का डॉक्टर का बेटा था। पर डॉक्टर लड़के का पिता नहीं था।<br/>
तो डॉक्टर कौन था?
एक लड़का और एक डॉक्टर शॉपिंग कर रहे थे। लड़का डॉक्टर का बेटा था। पर डॉक्टर लड़के का पिता नहीं था।
तो डॉक्टर कौन था?

तकदीर पे लिखे पर शिकवा न कर;
तू अभी इतना समझदार नहीं कि रब के इरादे समझ सके।
भूल होना 'प्रकृति' है;
उसे मान लेना 'संस्कृति' है;
और भूल को सुधार लेना 'प्रगति' है।
दूसरे की गलती निकालने के लिए 'भेजा' चाहिए,
पर खुद की गलती कबूल करने के लिए 'कलेजा' चाहिए।
सपनो की दुनिया में हम खोते चले गए;<br/>
होश में थे मगर मदहोश होते चले गए;<br/>
जाने क्या बात थी उनकी आवाज़ में;<br/>
न चाहते हुए भी उनके होते चले गए।<br/>
शुभ रात्रि!
सपनो की दुनिया में हम खोते चले गए;
होश में थे मगर मदहोश होते चले गए;
जाने क्या बात थी उनकी आवाज़ में;
न चाहते हुए भी उनके होते चले गए।
शुभ रात्रि!
एक नयी सी सुबह चुरा के लाये हैं;<br/>
दिल में एक नया एहसास भरने आये हैं;<br/>
नींद की ख़ामोशी में जो लिपटे हुए हैं;<br/>
उन्हें प्यार से जगाने आये हैं।<br/>
सुप्रभात!
एक नयी सी सुबह चुरा के लाये हैं;
दिल में एक नया एहसास भरने आये हैं;
नींद की ख़ामोशी में जो लिपटे हुए हैं;
उन्हें प्यार से जगाने आये हैं।
सुप्रभात!
जिस उम्र में हमारे दाँत टूटे थे;
.
.
.
.
.
.
.
.
आज-कल के बच्चों के उस उम्र में दिल टूट जाते हैं।

Quotes

मैंने प्यार के बारे में चिंता न करना सीखा है, और अपने दिल से इसे सम्मानित किया है।

Trivia

Salman Khan likes to collect soaps. In his bathroom, there is a collection of all kinds of handmade and herbal soaps. His favorites are soaps made from natural fruit and vegetable extracts.

Graffiti

Never, never, never, never repeat.