Hindi SMS (Page 4)

Page: 4
को काहू को मित्र नहीं, शत्रु काहू को नाय;<br/>
अपने ही गुण दोष से, शत्रु मित्र बन जाय।<br/><br/>

संसार का एक ही नियम है, आप जिसके लिए उपयोगी हैं वो आप को मित्र मानेगा। जिस को आप के कारण नुक्सान हो रहा होगा, वो आप का शत्रु हो जायेगा।
को काहू को मित्र नहीं, शत्रु काहू को नाय;
अपने ही गुण दोष से, शत्रु मित्र बन जाय।

संसार का एक ही नियम है, आप जिसके लिए उपयोगी हैं वो आप को मित्र मानेगा। जिस को आप के कारण नुक्सान हो रहा होगा, वो आप का शत्रु हो जायेगा।
नींद नहीं बदलती बस सपने बस सपने बदल जाते हैं;<br/>
मंज़िलें नहीं बदलती बस रास्ते बदल जाते हैं;<br/>
जगा लो जज़्बा जीतने का दिल में;<br/>
क्योंकि कोशिश करने से तो वक़्त बदल जाते हैं।
नींद नहीं बदलती बस सपने बस सपने बदल जाते हैं;
मंज़िलें नहीं बदलती बस रास्ते बदल जाते हैं;
जगा लो जज़्बा जीतने का दिल में;
क्योंकि कोशिश करने से तो वक़्त बदल जाते हैं।
मैं 'किसी से' बेहतर करूँ क्या फ़र्क पड़ता है;<br/>
मैं 'किसी का' बेहतर करूँ बहुत फर्क पड़ता है।
मैं 'किसी से' बेहतर करूँ क्या फ़र्क पड़ता है;
मैं 'किसी का' बेहतर करूँ बहुत फर्क पड़ता है।
दूर रहते हैं  मगर दिल से दुआ करते हैं हम;<br/>
प्यार का फ़र्ज़ घर बैठे अदा करते हैं हम;<br/>
आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम;<br/>
दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं हम।<br/>
शुभ रात्रि!
दूर रहते हैं मगर दिल से दुआ करते हैं हम;
प्यार का फ़र्ज़ घर बैठे अदा करते हैं हम;
आपकी याद सदा साथ रखते हैं हम;
दिन हो या रात आपको ही याद करते हैं हम।
शुभ रात्रि!
जीवन में छोटी-छोटी चीज़ों का आनंद लीजिये,<br/>
क्योंकि एक दिन जब आप पीछे मुड़ कर देखेंगे तो यह छोटी-छोटी चीज़ें भी आपको बड़ी लगेंगी।<br/>
सुप्रभात!
जीवन में छोटी-छोटी चीज़ों का आनंद लीजिये,
क्योंकि एक दिन जब आप पीछे मुड़ कर देखेंगे तो यह छोटी-छोटी चीज़ें भी आपको बड़ी लगेंगी।
सुप्रभात!
कोई दोस्त हो तुम जैसा,
कोई चाहने वाला हो तुम जैसा;
कोई दिल से प्यारा हो तुम जैसा;
.
.
.
.
.
.
पता नहीं क्यों सब मुझे यही कहते रहते हैं।
एक बै एक छोरा अपनी माँ गैल बस मै किते जावे था।
वो कंडक्टर ती बोल्या, "डेढ़ टिकट दे दे। आधी मेरी आर एक मेरी माँ की।"
कंडक्टर: मुछ आ री है इब्बी आधी टिकट तेरी पूरी टिकट लगेगी।
छोरा भी कसुता था नु बोल्या, "फेर मेरी पूरी दे दे आर मेरी माँ की आधी, उसके मुछ कोनी आरी।"
भगवान का दिया हुआ सब कुछ है,
किताबें हैं, नोट्स हैं, समय है,
और हौंसला तो इतना कि जब चाहूँ पढ़ कर टॉप कर लूँ, मगर...
.
.
.
.
.
.
ये साला मूड ही नहीं बन रहा।
रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी;<br/>
दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी;<br/>
जिसे दोस्त मिल जाये कोई आप जैसा;<br/>
उसे ज़िंदगी से शिकायत और क्या होगी।
रिश्तों से बड़ी चाहत और क्या होगी;
दोस्ती से बड़ी इबादत और क्या होगी;
जिसे दोस्त मिल जाये कोई आप जैसा;
उसे ज़िंदगी से शिकायत और क्या होगी।
वो क्या है जो जितना ज्यादा सूखता है, उतना ज्यादा गीला होता है?
वो क्या है जो जितना ज्यादा सूखता है, उतना ज्यादा गीला होता है?

Quotes

जो यह जानता है कि वो कब लड़ सकता है और कब नहीं हमेशा विजयी होता है।

Trivia

Studies show that people who spend more time on the Internet are more likely to develop social problems and self-esteem issues.

Graffiti

A closed mouth gathers no foot!