बचपन की मासूमियत कब जवानी के जोश में बदल गयी ये तब जाना,<br/>
जब चोट लगने पर मुँह से 'ओह माँ' की बजाय 'इसकी माँ का साकी नाका' निकलने लगा।
बचपन की मासूमियत कब जवानी के जोश में बदल गयी ये तब जाना,
जब चोट लगने पर मुँह से 'ओह माँ' की बजाय 'इसकी माँ का साकी नाका' निकलने लगा।
आज हिम्मत करके एक लड़की को प्रोपोज़ किया, वो बोली:<br/>
फ्रेंडशिप की डेट निकल गई है... अब तो राखी के फॉर्म भरे जा रहे हैं।
आज हिम्मत करके एक लड़की को प्रोपोज़ किया, वो बोली:
फ्रेंडशिप की डेट निकल गई है... अब तो राखी के फॉर्म भरे जा रहे हैं।
बीवी: मैं तुमसे नाराज़ हूँ।<br/>
पति: मैंने क्या किया?<br/>
बीवी: तुमने सॉरी बोलकर मेरे लड़ाई के मूड का सत्यानाश कर दिया।
बीवी: मैं तुमसे नाराज़ हूँ।
पति: मैंने क्या किया?
बीवी: तुमने सॉरी बोलकर मेरे लड़ाई के मूड का सत्यानाश कर दिया।
चोर (बन्दूक तानते हुए): ज़िन्दगी चाहते हो तो अपना पर्स मेरे हवाले कर दो।<br/>
आदमी: यह लो।<br/>
चोर: कितने मूर्ख हो तुम, मेरी बंदूक में तो गोली ही नहीं थी।<br/>
आदमी: मेरे पर्स में भी कहाँ रुपये थे।
चोर (बन्दूक तानते हुए): ज़िन्दगी चाहते हो तो अपना पर्स मेरे हवाले कर दो।
आदमी: यह लो।
चोर: कितने मूर्ख हो तुम, मेरी बंदूक में तो गोली ही नहीं थी।
आदमी: मेरे पर्स में भी कहाँ रुपये थे।
ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई , मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता;<br/>
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमट कर मरे हैं कई , मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।<br/>
आओ नमन करें उन शहीदों का जो हुए हैं कुर्बान इस ज़ज्बे से और हमें दे गए हैं यह आज़ादी तोहफे में।
ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई , मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता;
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमट कर मरे हैं कई , मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता।
आओ नमन करें उन शहीदों का जो हुए हैं कुर्बान इस ज़ज्बे से और हमें दे गए हैं यह आज़ादी तोहफे में।
भारत भूमि है महान, इसकी मिट्टी मेरा मान,<br/>
इसके गली और कूचे पल-पल भूले न भूलें;<br/>
रंग यहाँ के हैं दो-चार, भारत भूमि है महान,<br/>
माटी की सोंधी खुशबू लिए तितलियाँ घूमे चारों ओर,<br/>
इसकी भीनी खूशबू फैलायें चारो ओर<br/>
भारत भूमि है महान, इसकी मिट्टी मेरा मान।<br/>
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
भारत भूमि है महान, इसकी मिट्टी मेरा मान,
इसके गली और कूचे पल-पल भूले न भूलें;
रंग यहाँ के हैं दो-चार, भारत भूमि है महान,
माटी की सोंधी खुशबू लिए तितलियाँ घूमे चारों ओर,
इसकी भीनी खूशबू फैलायें चारो ओर
भारत भूमि है महान, इसकी मिट्टी मेरा मान।
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
इस तिरंगे को कभी मत तुम झुकने देना,<br/>
देश की बढ़ती शान को तुम कभी न रुकने देना,<br/>
यही अरमान है बस अब इस दिल में, कि ऐसे ही आगे तुम बढ़ते रहना।<br/>
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
इस तिरंगे को कभी मत तुम झुकने देना,
देश की बढ़ती शान को तुम कभी न रुकने देना,
यही अरमान है बस अब इस दिल में, कि ऐसे ही आगे तुम बढ़ते रहना।
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
मेरा भारत सब देशों से महान है।<br/>
नहीं है ऐसा कोई अन्य देश,<br/>
युगों बीतने पर भी वैसा ही है परिवेश,<br/>
विभिन्नता में एकता के लिए, प्रसिद्ध है हर प्रदेश,<br/>
प्रेम, अहिंसा, भाईचारे का जो है देता संदेश।
मेरा भारत सब देशों से महान है।
नहीं है ऐसा कोई अन्य देश,
युगों बीतने पर भी वैसा ही है परिवेश,
विभिन्नता में एकता के लिए, प्रसिद्ध है हर प्रदेश,
प्रेम, अहिंसा, भाईचारे का जो है देता संदेश।
भारत माता तेरी गाथा,सबसे ऊँची तेरी शान;<br/>
तेरे आगे शीश झुकायें, दे तुझको हम सब सम्मान।<br/>
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
भारत माता तेरी गाथा,सबसे ऊँची तेरी शान;
तेरे आगे शीश झुकायें, दे तुझको हम सब सम्मान।
स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,<br/>
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,<br/>
शांति प्रेम की देता शिक्षा,<br/>
मेरा भारत सदा सर्वदा।<br/>
सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!
गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा,
शांति प्रेम की देता शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा।
सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभ कामनायें!