Hindi SMS (Page 6)

Page: 6
ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;<br/>
आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है;<br/>
पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे;<br/>
कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है।
ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;
आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है;
पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे;
कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है।
एक दूधवाले के पास 3 लीटर और 5 लीटर के ही बर्तन हैं और अगर उसे केवल 1 लीटर दूध अलग से निकालना हो तो वो क्या करेगा?
एक दूधवाले के पास 3 लीटर और 5 लीटर के ही बर्तन हैं और अगर उसे केवल 1 लीटर दूध अलग से निकालना हो तो वो क्या करेगा?

ज़िंदगी तो सभी के लिए एक रंगीन किताब है;<br/>
फर्क बस इतना है कि कोई हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;<br/>
और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है।
ज़िंदगी तो सभी के लिए एक रंगीन किताब है;
फर्क बस इतना है कि कोई हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;
और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है।
जब टूटने लगे हौंसला तो बस यही याद रखना;<br/>
बिना मेहनत के कभी तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;<br/>
ढूंढ लेना अंधेरों में भी तुम मंज़िल अपनी;<br/>
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
जब टूटने लगे हौंसला तो बस यही याद रखना;
बिना मेहनत के कभी तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;
ढूंढ लेना अंधेरों में भी तुम मंज़िल अपनी;
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
इंसान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा 'दिल' है और अगर वो ही साफ़ ना हो तो चमकता 'चेहरा' भी किसी काम का नहीं।
इंसान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा "दिल" है और अगर वो ही साफ़ ना हो तो चमकता "चेहरा" भी किसी काम का नहीं।
चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;<br/>
तारों ने आसमान को सजाया है;<br/>
कहने को तुम्हें शुभ रात्रि;<br/>
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।<br/>
शुभ रात्रि!
चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;
तारों ने आसमान को सजाया है;
कहने को तुम्हें शुभ रात्रि;
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।
शुभ रात्रि!
ख़ुदा से क्या मांगू तेरे वास्ते;<br/>
सदा ख़ुशियाँ हो तेरे रास्ते;<br/>
हँसी तेरे चेहरे पे रहे इस तरह;<br/>
खुश्बू फूलों का साथ निभाती है जिस तरह।<br/>
सुप्रभात!
ख़ुदा से क्या मांगू तेरे वास्ते;
सदा ख़ुशियाँ हो तेरे रास्ते;
हँसी तेरे चेहरे पे रहे इस तरह;
खुश्बू फूलों का साथ निभाती है जिस तरह।
सुप्रभात!
पठान: मैंने कल एक सपना देखा।<br/>
सिंधी: अच्छा क्या देखा सपने में?<br/>
पठान: यार कुछ दिखाई ही नहीं दिया।<br/>
सिंधी: क्यों?<br/>
पठान: वो मेरी आँखें बंद थी न, इसलिए।
पठान: मैंने कल एक सपना देखा।
सिंधी: अच्छा क्या देखा सपने में?
पठान: यार कुछ दिखाई ही नहीं दिया।
सिंधी: क्यों?
पठान: वो मेरी आँखें बंद थी न, इसलिए।
धर्मेन्द्र ने जब हेमा मालिनी से शादी करने के लिए अपना धर्म बदला तो उनकी पहली पत्नी ने कहा:
"अब धरम बदल गया है।"
आज लोग मंदिर में चप्पल भी ऐसी जगह उतारते हैं,
जहाँ से भगवान भी दिखे और चप्पल भी।

Quotes

कोई सपना देखे बिना कुछ नहीं होता।

Trivia

64 billion messages are sent through WhatsApp every day.

Graffiti

Why it's "raining cats and dogs? It should rather be reindeer!