भूल होना 'प्रकृति' है;<BR>
मान लेना 'संस्कृति' है;<BR>
सुधार लेना 'प्रगति' है।<BR>
सुप्रभात!
भूल होना 'प्रकृति' है;
मान लेना 'संस्कृति' है;
सुधार लेना 'प्रगति' है।
सुप्रभात!
खालसा मेरो रूप है ख़ास; 
खालसे मैं हौं करूँ निवास; 
खालसा मेरो मुख है अंगा; 
खालसे के हौं हौं सदा सदा संगा। 
खालसे के साजना दिवस की आप सब को बधाई!
खालसा मेरो रूप है ख़ास;
खालसे मैं हौं करूँ निवास;
खालसा मेरो मुख है अंगा;
खालसे के हौं हौं सदा सदा संगा।
खालसे के साजना दिवस की आप सब को बधाई!
खत्म हुई अब फसलों की राखी; 
नाचो, गाओ ख़ुशी मनाओ; 
ख़ुशी का त्यौहार देखो आई बैसाखी। 
बैसाखी की आप सभी को हार्दिक बधाई!
खत्म हुई अब फसलों की राखी;
नाचो, गाओ ख़ुशी मनाओ;
ख़ुशी का त्यौहार देखो आई बैसाखी।
बैसाखी की आप सभी को हार्दिक बधाई!
सबसे अलग कुछ कर गुज़र गए वो भीम थे; 
दुनिया को जगाने वाले हमारे प्यारे भीम थे; 
हमने तो सिर्फ इतिहास पढ़ा है यारो; 
इतिहास को बनाने वाले हमारे भीम थे। 
बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर के जन्मदिन की बधाई!
सबसे अलग कुछ कर गुज़र गए वो भीम थे;
दुनिया को जगाने वाले हमारे प्यारे भीम थे;
हमने तो सिर्फ इतिहास पढ़ा है यारो;
इतिहास को बनाने वाले हमारे भीम थे।
बाबा साहेब भीम राव आंबेडकर के जन्मदिन की बधाई!
सुबह का भेजा, शामको वापस अपने पास आए,
उसे...
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
Whatsapp मैसेज कहते हैं।
ये लड़कियाँ भी ना
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
ये सिर्फ आपका ध्यान खीचने के लिए था,
कृप्या सड़क पर कचरा ना फेंके, उसके लिए कूड़ेदान का प्रयोग करें।
स्वच्छ भारत अभियान!
नाच लो गा लो  हमारे साथ; 
आया है बैसाखी का त्यौहार; 
मना लो खुशियाँ सबके साथ; 
आई है अब मौजों की बहार; 
 मुबारक हो आपको बैसाखी का त्यौहार।
नाच लो गा लो हमारे साथ;
आया है बैसाखी का त्यौहार;
मना लो खुशियाँ सबके साथ;
आई है अब मौजों की बहार;
मुबारक हो आपको बैसाखी का त्यौहार।
देश के लिए जिन्होंने विलास को ठुकराया था; 
गिरे हुओं को जिन्होंने स्वाभिमान सिखाया था; 
जिसने हम सब को तूफानों से टकराना सिखाया था; 
देश का वो अनमोल दीपक जो बाबा साहेब कहलाया था; 
आओ सब मिल कर उन्हें हम याद करें; 
बाबा साहेब का जन्मदिन मनायें। 
अंबेडकर जयंती मुबारक!
देश के लिए जिन्होंने विलास को ठुकराया था;
गिरे हुओं को जिन्होंने स्वाभिमान सिखाया था;
जिसने हम सब को तूफानों से टकराना सिखाया था;
देश का वो अनमोल दीपक जो बाबा साहेब कहलाया था;
आओ सब मिल कर उन्हें हम याद करें;
बाबा साहेब का जन्मदिन मनायें।
अंबेडकर जयंती मुबारक!
समोसे वाले ने भी अब दो समोसे के 30/- रु के कर दिय़े। रेट बढाने का कारण पूछा तो बोला, "20 तो उसका रेट है और 10 की सब्सिडी आपके बैंक खाते में जमा होगी।
मैं लिख दूँ तुम्हारी उम्र चाँद सितारों से; 
जन्मदिन मनाऊँ मैं फूल बहारों से; 
हर एक ख़ूबसूरती दुनिया से मैं लेकर आऊं; 
महफ़िल यह सजाऊँ मैं हर हसीन नज़ारों से। 
जन्मदिन मुबारक!
मैं लिख दूँ तुम्हारी उम्र चाँद सितारों से;
जन्मदिन मनाऊँ मैं फूल बहारों से;
हर एक ख़ूबसूरती दुनिया से मैं लेकर आऊं;
महफ़िल यह सजाऊँ मैं हर हसीन नज़ारों से।
जन्मदिन मुबारक!