अब तो 100 का नोट देख कर बड़ी दया आती है।<br/>
बेचारे के माँ-बाप नहीं रहे और परिवार का पूरा बोझ इसी पर आ गया है।
अब तो 100 का नोट देख कर बड़ी दया आती है।
बेचारे के माँ-बाप नहीं रहे और परिवार का पूरा बोझ इसी पर आ गया है।
ATM से जाकर आओ तो आस-पड़ोस वाले शोले के गब्बर सिंह की तरह पूछते हैं,<br/>
'कितने आदमी थे?'
ATM से जाकर आओ तो आस-पड़ोस वाले शोले के गब्बर सिंह की तरह पूछते हैं,
"कितने आदमी थे?"
भाई नोटबंदी का तो पता नहीं पर पिछले 2 हफ्ते में जोक्स में मोदी जी ने ज़रूर केजरीवाल और राहुल बाबा को पीछे छोड़ दिया।
भाई नोटबंदी का तो पता नहीं पर पिछले 2 हफ्ते में जोक्स में मोदी जी ने ज़रूर केजरीवाल और राहुल बाबा को पीछे छोड़ दिया।
अभी तक टीवी पर एक भी आदमी को यह कहते हुए नहीं देखा कि नोटबंदी से दारू खरदीने में समस्या हो रही है।<br/>
इसे कहते हैं संयम।<br/>
अखिल भारतीय बेवड़ा समाज।
अभी तक टीवी पर एक भी आदमी को यह कहते हुए नहीं देखा कि नोटबंदी से दारू खरदीने में समस्या हो रही है।
इसे कहते हैं संयम।
अखिल भारतीय बेवड़ा समाज।
यूँ ना खींच मुझे अपनी तरफ बेबस कर के,<br/>
ऐसा ना हो कि खुद से भी बिछड़ जाऊं और तू भी ना मिले।<br/>
भावार्थ यहाँ कवि को ATM की लाइन से दूर पड़ा एक 100 का नोट दिखाई देता है, कवि सोच रहा है, <br/>
नकली हुआ तो नोट भी गया, लाइन भी।
यूँ ना खींच मुझे अपनी तरफ बेबस कर के,
ऐसा ना हो कि खुद से भी बिछड़ जाऊं और तू भी ना मिले।
भावार्थ यहाँ कवि को ATM की लाइन से दूर पड़ा एक 100 का नोट दिखाई देता है, कवि सोच रहा है,
नकली हुआ तो नोट भी गया, लाइन भी।
साल 2040<br/>
बेटा: पापा आप मम्मी कैसे मिले?<br/>
पापा: बेटा उन दिनों की बात है जब हम (2016) ATM की लाइन में खड़े थे, 5-6 घंटे बात हुई, और प्यार हो गया।
साल 2040
बेटा: पापा आप मम्मी कैसे मिले?
पापा: बेटा उन दिनों की बात है जब हम (2016) ATM की लाइन में खड़े थे, 5-6 घंटे बात हुई, और प्यार हो गया।
पहले ये न्यूज़ ये आती थी।<br/>
रेलवे स्टेशन पर लावारिस बैग मिला। बम होने की आशंका।<br/>
अब खबर आती है कि रेलवे स्टेशन पर नोटों से भरा लावारिस बैग मिला।
पहले ये न्यूज़ ये आती थी।
रेलवे स्टेशन पर लावारिस बैग मिला। बम होने की आशंका।
अब खबर आती है कि रेलवे स्टेशन पर नोटों से भरा लावारिस बैग मिला।
ATM में लाइन लगाकर लोगों की इतनी प्रैक्टिस हो गयी है कि शादियों में पनीर और Ice-Cream के लिए लगी कतार बिलकुल खल नहीं रही।
ATM में लाइन लगाकर लोगों की इतनी प्रैक्टिस हो गयी है कि शादियों में पनीर और Ice-Cream के लिए लगी कतार बिलकुल खल नहीं रही।
कहावत बदल ही गयी।<br/>
हम चले जायेंगे ये माया यहीं रह जायेगी,<br/>
अब हम यही हैं पर माया चली गयी है।
कहावत बदल ही गयी।
हम चले जायेंगे ये माया यहीं रह जायेगी,
अब हम यही हैं पर माया चली गयी है।
बैंक कर्मचारी ग्राहक से, 'सर पैसे बदलने से पहले हाथ में स्याही लगेगी।<br/>
ग्राहक: भाई चाहे तू गर्म-गर्म चिमटा लगा दे, पर नोट बदल दे।
बैंक कर्मचारी ग्राहक से, "सर पैसे बदलने से पहले हाथ में स्याही लगेगी।
ग्राहक: भाई चाहे तू गर्म-गर्म चिमटा लगा दे, पर नोट बदल दे।