एक डॉक्टर साहब अपने दोस्त के साथ खाने की मेज पर बैठे ही थे कि टेलीफोन की घंटी बजी।  
डॉक्टर ने दोस्त से कहा, 'भाई माफ़ करना, एक मरीज मर रहा है और मुझे तुरंत जाना है।' 
उनके दोस्त ने उनका हाथ पकड़ा और बोला, 'बैठ जाओ यार आज तो किसी बेचारे को अपनी मौत मर जाने दो।'
एक डॉक्टर साहब अपने दोस्त के साथ खाने की मेज पर बैठे ही थे कि टेलीफोन की घंटी बजी।
डॉक्टर ने दोस्त से कहा, "भाई माफ़ करना, एक मरीज मर रहा है और मुझे तुरंत जाना है।"
उनके दोस्त ने उनका हाथ पकड़ा और बोला, "बैठ जाओ यार आज तो किसी बेचारे को अपनी मौत मर जाने दो।"
पाक मे कोई बंदा अगर अपनी मोटर साइकिल की टंकी फुल करवा ले तो आसपास के लोग समझ जाते हैं कि इस बंदे को अमेरिका से मदद पहुंच गई है।
दिल्ली के एक अनपढ़ देहाती की समस्या: 
आम आदमी पार्टी को बहुमत इस लिए मिला है क्योंकि वो दिल्ली में फ्री वाईफ देगी,  
पर समझ में ये नहीं आ रहा है कि इतनी वाईफें आयेंगी कहां से और हम लोग अपनी पुरानी वाईफों का करेंगें क्या?
दिल्ली के एक अनपढ़ देहाती की समस्या:
आम आदमी पार्टी को बहुमत इस लिए मिला है क्योंकि वो दिल्ली में फ्री वाईफ देगी,
पर समझ में ये नहीं आ रहा है कि इतनी वाईफें आयेंगी कहां से और हम लोग अपनी पुरानी वाईफों का करेंगें क्या?
लड़का: डार्लिंग, मैं तुम्हारे पिताजी से शादी की बात कब करूं? 
लड़की: जब मेरे पिताजी के पांव में जूते न हों।
लड़का: डार्लिंग, मैं तुम्हारे पिताजी से शादी की बात कब करूं?
लड़की: जब मेरे पिताजी के पांव में जूते न हों।
नज़र चाहती है दीदार करना; 
दिल चाहता है प्यार करना; 
क्या बताएं इस दिल का आलम; 
नसीब में लिखा है इंतज़ार करना।
नज़र चाहती है दीदार करना;
दिल चाहता है प्यार करना;
क्या बताएं इस दिल का आलम;
नसीब में लिखा है इंतज़ार करना।
कोई साथ दे ना दे, तू चलना सीख ले; 
हर आग से हो जा वाकिफ तू जलना सीख ले; 
कोई रोक नहीं पायेगा बढ़ने से तुझे मंज़िल की तरफ; 
हर मुश्किल का सामना करना तू सीख ले।
कोई साथ दे ना दे, तू चलना सीख ले;
हर आग से हो जा वाकिफ तू जलना सीख ले;
कोई रोक नहीं पायेगा बढ़ने से तुझे मंज़िल की तरफ;
हर मुश्किल का सामना करना तू सीख ले।
छोटा बन कर रहोगे तो, मिलेगी हर बड़ी रहमत दोस्तों; 
बड़ा होने पर तो माँ भी गोद से उतार देती है।
छोटा बन कर रहोगे तो, मिलेगी हर बड़ी रहमत दोस्तों;
बड़ा होने पर तो माँ भी गोद से उतार देती है।
पत्रकार: मोदी जी क्या सूट के पैसे से गंगा साफ़ हो पायेगी? 
मोदी: जब सूट के चक्कर मे दिल्ली से भाजपा साफ हो गयी ये 'गंगा' क्या चीज है!
पत्रकार: मोदी जी क्या सूट के पैसे से गंगा साफ़ हो पायेगी?
मोदी: जब सूट के चक्कर मे दिल्ली से भाजपा साफ हो गयी ये 'गंगा' क्या चीज है!
गर्मी आ रही है।
लड़किया जहाँ खुश हैं कि अब बिना स्वेटर के अंग प्रदर्शन कर सकती हैं।
वही लड़के दुखी है कि बिना जैकेट के ठेके से बोतल कैसे लायेंगे।
टीचर: चुम्बकीय शक्ति प्रभाव किसे कहते हैं? 
पप्पू: जब कोई लड़की स्कूटी पर जाते हुए किसी बाइक सवार लड़के के पास से गुजरती है तो उस लड़के की बाइक की गति अपने आप ही बढ़ जाती है। लड़की द्वारा उत्पन्न किये गये इस गति परिवर्तन को ही 'चुम्बकीय शक्ति प्रभाव'
कहते हैं और यदि ये प्रक्रिया नहीं होती है तो इसका सीधा अर्थ ये है कि लड़के में आयरन की कमी है।
टीचर: चुम्बकीय शक्ति प्रभाव किसे कहते हैं?
पप्पू: जब कोई लड़की स्कूटी पर जाते हुए किसी बाइक सवार लड़के के पास से गुजरती है तो उस लड़के की बाइक की गति अपने आप ही बढ़ जाती है। लड़की द्वारा उत्पन्न किये गये इस गति परिवर्तन को ही "चुम्बकीय शक्ति प्रभाव" कहते हैं और यदि ये प्रक्रिया नहीं होती है तो इसका सीधा अर्थ ये है कि लड़के में आयरन की कमी है।