जब नोट रखते हो हज़ारों में,<br/>
तो कुछ दिन तो गुज़रो कतारों में।<br/>
Bank Tourism Department!
जब नोट रखते हो हज़ारों में,
तो कुछ दिन तो गुज़रो कतारों में।
Bank Tourism Department!
असली दिक्कतें तो बेचारे पुलिस वाले और Income Tax वालों की है।<br/>
आपका माल पकड़ें या अपना ठिकाना लगायें।
असली दिक्कतें तो बेचारे पुलिस वाले और Income Tax वालों की है।
आपका माल पकड़ें या अपना ठिकाना लगायें।
अगर कोई बंदा आज कल भी आपका उधार नहीं दे पा रहा तो यकीन मानिए वो कभी भी नहीं चुका पाएगा।
अगर कोई बंदा आज कल भी आपका उधार नहीं दे पा रहा तो यकीन मानिए वो कभी भी नहीं चुका पाएगा।
मोदी जी,<br/>
न्यूक्लियर डील, आतंकवाद व ब्लेक मनी जैसे छोटे मुद्दे बाद में भी हैंडल हो जाएंगे।<br/>
पहले उस गरीब आशिक़ को न्याय दिलवाइए जिसकी लाइफ सोनम बर्बाद कर दी है।
मोदी जी,
न्यूक्लियर डील, आतंकवाद व ब्लेक मनी जैसे छोटे मुद्दे बाद में भी हैंडल हो जाएंगे।
पहले उस गरीब आशिक़ को न्याय दिलवाइए जिसकी लाइफ सोनम बर्बाद कर दी है।
टीचर: गोलू RBI गवर्नर का नाम बताओ?<br/>
गोलू: नहीं मालूम मैडम।<br/>
टीचर: अरे वही जो नोटों पर लिखा होता है।<br/>
गोलू: पता है, सोनम गुप्ता बेवफा है।
टीचर: गोलू RBI गवर्नर का नाम बताओ?
गोलू: नहीं मालूम मैडम।
टीचर: अरे वही जो नोटों पर लिखा होता है।
गोलू: पता है, सोनम गुप्ता बेवफा है।
मुद्दतों बाद सोनम गुप्ता मिली भी तो बैंक Line में,<br/>
लेकिन उसने एक भी बार पलट कर नहीं देखा।<br/>
सच में सोनम गुप्ता बेवफा है यार।
मुद्दतों बाद सोनम गुप्ता मिली भी तो बैंक Line में,
लेकिन उसने एक भी बार पलट कर नहीं देखा।
सच में सोनम गुप्ता बेवफा है यार।
न वफ़ा का ज़िक्र होगा, न वफ़ा की बात होगी;<br/>
अब मोहब्बत जिससे भी होगी, रुपये ठिकाने लगाने के बाद होगी।<br/>
(कवि टेंशन में है)
न वफ़ा का ज़िक्र होगा, न वफ़ा की बात होगी;
अब मोहब्बत जिससे भी होगी, रुपये ठिकाने लगाने के बाद होगी।
(कवि टेंशन में है)
4500 लेने के बाद ऊँगली पर स्याही, 50,000 लेने पर बैंक में नाई बिठा दो, सिर पे उस्तरा लगाने के लिए।<br/>
2 महीने तक छुट्टी।
4500 लेने के बाद ऊँगली पर स्याही, 50,000 लेने पर बैंक में नाई बिठा दो, सिर पे उस्तरा लगाने के लिए।
2 महीने तक छुट्टी।
वो आज भी सर्दी में ठिठुर रही है दोस्तों;<br/>
मैंने एक बार बस इतना कहा कि स्वेटर के बिना कैटरीना लगती हो।
वो आज भी सर्दी में ठिठुर रही है दोस्तों;
मैंने एक बार बस इतना कहा कि स्वेटर के बिना कैटरीना लगती हो।
मैं लड़कियाँ इसीलिए भी नहीं घुमाता क्योंकि उन्हें चक्कर आ जाते हैं।
मैं लड़कियाँ इसीलिए भी नहीं घुमाता क्योंकि उन्हें चक्कर आ जाते हैं।