दरवाजा खोलते ही:<br/>
लड़की: परसों मेरी शादी है, अब क्यों आये हो मेरी जिंदगी में वापिस?<br/>
लड़का: टेंट लगाने का और केटरिंग का आर्डर हमको ही मिला है। काम-धंधा भी छोड़ दें क्या?
दरवाजा खोलते ही:
लड़की: परसों मेरी शादी है, अब क्यों आये हो मेरी जिंदगी में वापिस?
लड़का: टेंट लगाने का और केटरिंग का आर्डर हमको ही मिला है। काम-धंधा भी छोड़ दें क्या?
संता: तेरी बीवी मर गयी तो तुमने अपनी साली से शादी क्यों कर ली?<br/>
बंता: अब नयी सास को झेलने की हिम्मत मुझ में नहीं रही।
संता: तेरी बीवी मर गयी तो तुमने अपनी साली से शादी क्यों कर ली?
बंता: अब नयी सास को झेलने की हिम्मत मुझ में नहीं रही।
टीचर: चाँद पर पहला कदम किसने रखा?<br/>
पप्पू: नील आर्मस्ट्रांग ने।<br/>
टीचर: और दूसरा?<br/>
पप्पू: दूसरा भी उसी ने रखा होगा... लंगड़ी खेलने थोड़े ही गया होगा।
टीचर: चाँद पर पहला कदम किसने रखा?
पप्पू: नील आर्मस्ट्रांग ने।
टीचर: और दूसरा?
पप्पू: दूसरा भी उसी ने रखा होगा... लंगड़ी खेलने थोड़े ही गया होगा।
साला हैंड्सम होना भी एक प्रॉब्लम है।<br/>
कोई लड़की लाइन ही नहीं मारती।<br/>
बस देखते ही कहती है, 'पता नहीं कमीने की कितनी गर्लफ्रेंड होंगी?'
साला हैंड्सम होना भी एक प्रॉब्लम है।
कोई लड़की लाइन ही नहीं मारती।
बस देखते ही कहती है, "पता नहीं कमीने की कितनी गर्लफ्रेंड होंगी?"
देव और पति देव दोनों में क्या फर्क है?<br/>
देव की आरती - सुखकर्ता दुखहर्ता...<br/>
पति देव की आरती - ऐसाकर्ता वैसाकर्ता...!
देव और पति देव दोनों में क्या फर्क है?
देव की आरती - सुखकर्ता दुखहर्ता...
पति देव की आरती - ऐसाकर्ता वैसाकर्ता...!
पत्नी:शादी के बाद तुम मुझसे प्यार नही करते अब।<br/>
पति: एग्जाम क्लियर होने के बाद कौन पढ़ता है यार?
पत्नी:शादी के बाद तुम मुझसे प्यार नही करते अब।
पति: एग्जाम क्लियर होने के बाद कौन पढ़ता है यार?
जब हम कुछ गलत करते हैं तो दायें - बायें, आगे - पीछे देख लेते हैं... <br/>
बस ऊपर देखना भूल जाते हैं।
जब हम कुछ गलत करते हैं तो दायें - बायें, आगे - पीछे देख लेते हैं...
बस ऊपर देखना भूल जाते हैं।
उधर बाबा सहगल पुलिस को ये नहीं समझा पा रहा कि... <br/>
वो रेप नहीं, रैप करता है।
उधर बाबा सहगल पुलिस को ये नहीं समझा पा रहा कि...
वो रेप नहीं, रैप करता है।
जिस दिन सब मोह माया छोड़कर बाबा बनने की सोचता हूँ, उसी दिन कोई ना कोई बाबा जेल चला जाता है!
जिस दिन सब मोह माया छोड़कर बाबा बनने की सोचता हूँ, उसी दिन कोई ना कोई बाबा जेल चला जाता है!
गुरमीत सिंह को सजा भी GST की तर्ज पर ही हुई,<br/><br/>

CGST   +   UT GST<br/><br/>

10 साल + 10 साल<br/>
15 लाख + 15 लाख
गुरमीत सिंह को सजा भी GST की तर्ज पर ही हुई,

CGST + UT GST

10 साल + 10 साल
15 लाख + 15 लाख