• व्हाटसअप के कारण, जनसंख्या में 25% गिरावट।
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पहले चूत चोदते थे... अब केवल बातें चोदते हैं।
  • एक कोमा ( , ) तय करता है आप पिटोगे या नहीं।
    जैसे "ए, चंदा देगी क्या?"
    या फिर "ए चंदा, देगी क्या?"
  • सर्दी की हद तो इस कदर हो गयी है कि मूतने से पहले भी अंडरवियर में तलाशी अभियान चलाना पड़ता है।
  • लंड ज्ञान की तरह है,
    देना सब चाहते है पर लेना कोई नहीं चाहता।
  • धोनी के सन्यास से ज्यादा खुश होने की ज़रुरत नहीं है...
    रोज़ सुबह तो 'धोनी' है, सर्दी का बहाना नहीं चलेगा।
  • लड़का केमिस्ट की दुकान पर गया।
    लड़का: एक कंडोम का पैकेट देना।
    केमिस्ट: तुम शर्मा जी के बेटे हो ना?
    लड़का: अंकल पहले स्ट्रेपसिल्स देना, दवाई का नाम भी नहीं निकल रहा ठीक से गले से।
  • प्यार में कोई दिल तोड़ता है;
    तो कोई सील, अपना अपना नसीब है!
  • ये जितने लोग अभी से हैप्पी न्यू इयर के मैसेज फॉरवर्ड करने लगे हैं,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    ये वो लोग है जो साले सुहागरात से 20 दिन पहले ही हल्दी वाला दूध पीना शुरु कर देते हैं।
  • ज़िंदगी में कुछ पकड़ना हो तो बुलंदियों को पकड़ो,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    बात बात पर "लंड" पकड़ने से कुछ नहीं मिलेगा।
  • आज का घंटा ज्ञान:
    "लौडियों पे ध्यान देना और चूतियों को ज्ञान देना"
    दोनों ही सूरतो में घंटा हासिल होता है।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT