• लकीर मिट गई हाथों की,
    और वो कहती है हम उसे याद नहीं करते!
  • टीचर: रोशनी हमें दीपक से मिलती है, इस वाक्य में दीपक क्या है?
    पप्पू: दीपक दल्ला है!
  • एक नया गाना आया है मेरी चढ़ती जवानी मांगे पानी रे पानी!
    अब ये नहीं समझ आ रहा 'नल का या लंड का'!
  • लंड जब हवस की चरम सीमा पार कर देता है तो हम उसे...
    स्वपनदोष का नाम दे देते हैं!
  • बचपन में जब भी मेरी पतंग कट जाती थी तो बुरा लगता था,
    पर अब चूतिया कटता है तो लगता है पतंग कटना कम दुःख देता है!
  • चाईनीज मोहब्बत थी साहब, टूट कर बिखर गई,
    पर लण्ड हिन्दुस्तानी था, टाँका भिड़ा के दूसरी चोद ली!
  • लोग कहते है कि संसार मे 2 तरह के लोग है काले व गोरे,
    मैं तीसरी प्रजाति को भी जानता हूँ उन्हें कहते है बहन के लौड़े!
  • लड़का: भईया अदरक फ्लेवर वाला कंडोम मिलेगा?<br/>
केमिस्ट: वो क्यों चाहिए?<br/>
लड़का: गर्लफ्रेंड को खाँसी हो गयी है।
    लड़का: भईया अदरक फ्लेवर वाला कंडोम मिलेगा?
    केमिस्ट: वो क्यों चाहिए?
    लड़का: गर्लफ्रेंड को खाँसी हो गयी है।
  • अपने देश में लोगों को प्रोत्साहित करने का अलग ही तरीका है। जब किसी को प्रोत्साहित करना होता है तो कहते हैं...<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
क्यों फट गयी?
    अपने देश में लोगों को प्रोत्साहित करने का अलग ही तरीका है। जब किसी को प्रोत्साहित करना होता है तो कहते हैं...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    क्यों फट गयी?
  • एक मोहतरमा बोल रही थी कि मैने अच्छे अच्छों को सीधा कर दिया है<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
.<br/>
मैने पूछ लिया जिनका लिंग मुट्ठ मार के टेढ़ा हो चुका है वो किस समय मिले।
    एक मोहतरमा बोल रही थी कि मैने अच्छे अच्छों को सीधा कर दिया है
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    मैने पूछ लिया जिनका लिंग मुट्ठ मार के टेढ़ा हो चुका है वो किस समय मिले।