• लड़की मंदिर में प्रसाद लेकर पंडित के पैर छु कर बोली, "कोई ज्ञान की बात बताओ, पंडित जी!"
    पंडित: बेटी ब्रा पहना करो, जब झुकती हो तो ध्यान और ज्ञान दोनों की वाट लग जाती है।
  • उनकी गली से गुज़रे, तो चौबारा नज़र आया;
    उनकी गली से गुज़रे, तो चौबारा नज़र आया;
    उसकी माँ बाहर आ कर बोली:
    गांड फाड़ दूंगी भोसड़ी के, जो दोबारा नज़र आया!
  • भारत-ऑस्ट्रेलिया का मैच मानो सुहागरात सा हो गया है, इंतज़ार भी है और घबराहट भी।Upload to Facebook
    भारत-ऑस्ट्रेलिया का मैच मानो सुहागरात सा हो गया है, इंतज़ार भी है और घबराहट भी।
  • सेक्स करते वक्त लड़की को हिचकी आई।
    लड़का: क्या हुआ, मैंने बहुत जोर से डाला क्या?
    लड़की: नहीं रे चूतिये, जल्दी कर, और भी लोग याद कर रहे हैं।
  • तू हज़ार बार रूठे,
    तो भी मना लूँगा तुझे, ... .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    बस मगर देख, फिर दो बार देनी पड़ेगी।
  • होटल के एक कमरे में सेक्स करने के बाद लड़की और लड़का लेटे हुए थे।
    लड़की: जानू, तुम्हें पता है तुम्हारी लुल्ली दुनिया की सबसे बड़ी लुल्ली है।
    लड़का (खुश होकर): अच्छा।
    लड़की: हाँ, क्योंकि इसके बाद लंड की किस्में शुरू हो जाती हैं।
  • जो लोग बोलते हैं बिना डीजे की बारात, बिना पानी के होली मनानी चाहिए और बिना पटाखे की दिवाली मनानी चाहिए।
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    ऐसे गंडमरों को बिना चूत की बीवी देनी चाहिए।
  • आज का घंटा ज्ञान:<br/>
बचपन मे  `भूतों`  के, जवानी मे `चूतों` के और बुढापे मे `यमदूतों` के सपने दिमाग की माँ चोदकर रख देते हैं।Upload to Facebook
    आज का घंटा ज्ञान:
    बचपन मे "भूतों" के, जवानी मे "चूतों" के और बुढापे मे "यमदूतों" के सपने दिमाग की माँ चोदकर रख देते हैं।
  • जमाने के लिए अभी होली आनी है,<br/>
मैं तो तेरी याद में हर रोज पिचकारी छोड़ता हूँ।Upload to Facebook
    जमाने के लिए अभी होली आनी है,
    मैं तो तेरी याद में हर रोज पिचकारी छोड़ता हूँ।
  • कल मैं मैराथन देखने गया, वहाँ पड़ोस की भाभी टाइट टी-शर्ट पहन के खड़ी थी।
    उसने पूछा, "मेराथन देख रहे हो?"
    अब मैं इस कश्मकश में हूँ कि उसने मेरा मन भाँप लिया था, या उसके उच्चारण में ही गड़बड़ थी?
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT