• सकारात्मक सोच (Positive Thinking) को कैसे बढाया जा सकता है:
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    आप एफ टीवी (FTV) चैनल देखें।
    आप हमेशा सोचेंगे कि "इसका नहीं तो अगली वाली का जरूर दिखेगा।"
  • चाँद देखकर सितारे बने;
    आसमान देखकर बादल बने;
    नदी देखकर किनारे बने;
    आपके कारनामे देखकर कंडोम के कारखाने बने।
  • मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    वाह वाह...
    भोसड़ी के पहले सुन तो।
    मेरे हैं सिर्फ दो ही टट्टे;
    यार चूस के बता, मीठे हैं या खट्टे।
  • आज बैठे बैठे मन में यूँ ही एक विचार आया
    पाकिस्तान चाह कर भी भारत के आगे नहीं झुक सकता...क्योंकि पाकिस्तान के पीछे अफगानिस्तान है।
    पठानों की बस्ती!
  • लड़का: पंडित जी,क्या एक ही गोत्र में शादी संभव है?
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    पंडित: बेटा, आज के समय में गोत्र कोई भी चलेगा...
    बस मूत्र का मार्ग अलग अलग होना चाहिए।
  • आज का घंटा ज्ञान:
    रहते हैं इस संसार में भांति-भांति के लोग;
    कुछ तो मादरचोद हैं, कुछ बहुत ही मादरचोद।
  • 50-50 कोस दूर गाँव में जब रात को बच्चा रोता है तो उसकी माँ कहती है, "सो जा बेटे सो जा...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    वरना...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    दूसरा कैसे होगा?"
  • आज का कुविचार:
    अगर आपकी पांचो उंगलियाँ घी में और सर कड़ाही में हो तो ज्यादे खुश ना हों, क्यूंकि आपकी गांड अभी भी बाहर है जो कोई भी कभी भी मार सकता है।
  • एक 16 साल की लड़की ने अपनी भाभी से पूछा, "यह प्यार, इश्क़, मोहब्बत, दीवानगी क्या होता है?"
    भाभी ने गहरी साँस ली और बोली,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    "कुछ नहीं पगली, यह सब तो ठोकने के बहाने होते हैं।"
  • उसके बहुत बड़े थे...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    हौसले,
    इसलिए, मोहब्बत हो ही गई।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT