Hindi SMS (Page 2)

Page: 2
वो सो जाते हैं अक्सर हमें याद किए बगैर;
हमें नींद नहीं आती उनसे बात किए बगैर;
कसूर उनका नहीं, कसूर तो हमारा है;
उन्हें चाहा भी तो उनकी इजाज़त लिए बगैर।
शुभ रात्रि!
एक कब्र खोदने वाले ने खूब शराब पी ली और नशे की हालत में इतनी गहरी कब्र खोदी कि उसमें से बाहर निकलना ही मुश्किल हो गया। रात हो चली थी।
सर्दी बेहद थी उसे आहट सुनाई दी तो चिल्लाया, "अरे मुझे बड़ी सर्दी लग रही है। कोई कुछ करो।"
एक पठान ने कब्र में झांककर देखा और बोला: "सर्दी तो लगेगी ही। लोग तुम पर मिट्टी डालना भूल गए हैं।"
युवक झिझकता हुआ अपनी प्रेमिका के बाप के सामने पहुंचा: मैं आपसे आपकी लड़की का हाथ मांगने आया हूँ।
बाप बोला: "सिर्फ हाथ नहीं मिल सकता! मांगनी है तो पूरी लड़की मांगो।"
दूसरी शादी करने के 4 तरीके
.
.
.
.
.
.
.
कमीने, बहुत स्पीड में नीचे आए हो; पहले एक शादी को तो हैंडल कर लो।
एक बार यमराज नरक के दौरे पर निकले।
उन्होंने देखा कि एक कोने में बहुत सी औरतें आपस में हंसी मज़ाक कर रही थी।
उन्होंने यमदूत को बुला कर पूछा, "ये कौन लोग हैं जो नरक में भी इतना मज़ा कर रही हैं?"
यमदूत ने कहा: हिन्दुस्तानी बहुएँ हैं। कमबख्त जहाँ जाती हैं, adjust हो जाती हैं। कहती हैं बिलकुल ससुराल जैसा माहौल है।
जिंदगी का एक कड़वा मजाक:

वकील चाहता है कि हम किसी विवाद में पड़ें।
चिकित्सक चाहता है कि हम बीमार पड़ें।
पुलिस चाहती है कि हम कुछ अपराध करें।
अध्यापक की नज़रों में हम पैदाइशी बेवकूफ हैं।
कफ़न बनाने वाला चाहता है कि हम मर जाएँ... पर
केवल एक चोर चाहता है कि हम सुख की नींद सोएं और धनवान रहें।
कान मरोड़े पानी दूंगा,<br/>
मैं कोई पैसा नही लूंगा।<br/>
बताओ कौन हूँ मैं?
कान मरोड़े पानी दूंगा,
मैं कोई पैसा नही लूंगा।
बताओ कौन हूँ मैं?

दुनियां जिसे नींद कहती है;<br/>
जाने वो क्या चीज़ होती है;<br/>
आँखें तो हम भी बंद करते हैं;<br/>
और वो आपसे मिलने की तरकीब होती है।<br/>
शुभ रात्रि!
दुनियां जिसे नींद कहती है;
जाने वो क्या चीज़ होती है;
आँखें तो हम भी बंद करते हैं;
और वो आपसे मिलने की तरकीब होती है।
शुभ रात्रि!
रिश्ते चाहे कितने भी बुरे हों, लेकिन कभी भी उन्हें मत तोड़ना;
क्योंकि पानी चाहे कितना भी गंदा हो, प्यास नहीं तो आग तो बुझा ही देता है।
बूँदें बारिश की यूँ ज़मीन पर आने लगी;<br/>
सोंदी सी महक माटी की जगाने लगी;<br/>
हवाओं में भी जैसे मस्ती छाने लगी;<br/>
वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी।
बूँदें बारिश की यूँ ज़मीन पर आने लगी;
सोंदी सी महक माटी की जगाने लगी;
हवाओं में भी जैसे मस्ती छाने लगी;
वैसे ही हमें भी आपकी याद आने लगी।

Quotes

​चर्च जाने से ही कोई ईसाई नहीं हो जाता, जैसे गैराज में खड़े होने से कोई कार नहीं बन जाता।

Trivia

Ketchup was sold in the 1830s as a medicine.

Graffiti

There are two kinds of fools - one who give advice and the others who won't take it!