• आदमी इतना रहम दिल होता है कि उसे 40 साल की औरत भी 'हॉट' लगती है।<br />
वहीं लड़कियां इतनी कमीनी होती हैं कि उन्हें 35 साल का लड़का भी 'अंकल' लगता है।Upload to Facebook
    आदमी इतना रहम दिल होता है कि उसे 40 साल की औरत भी 'हॉट' लगती है।
    वहीं लड़कियां इतनी कमीनी होती हैं कि उन्हें 35 साल का लड़का भी 'अंकल' लगता है।
  • इंसान कम थे क्या?<br />
जो अब मौसम भी धोखा देने लगे।Upload to Facebook
    इंसान कम थे क्या?
    जो अब मौसम भी धोखा देने लगे।
  • झूठा था वो दोस्त!<br />
जो कहता था जान भी माँगो तो दे देँगे,<br />
आज वो अपनी महबूबा को जान कहता है,<br />
और माँगो तो कमीना गालियाँ देता है।Upload to Facebook
    झूठा था वो दोस्त!
    जो कहता था जान भी माँगो तो दे देँगे,
    आज वो अपनी महबूबा को जान कहता है,
    और माँगो तो कमीना गालियाँ देता है।
  • जज: तुम्हारा वकील कहाँ है?<br />
चोर: जी मेरा वकील नहीं है।<br />
जज: लेकिन वकील होना ज़रूरी है। कोई बात नहीं हम तुम्हें सरकारी वकील दे देंगे।<br />
चोर: नहीं हुज़ूर, मुझ पर रहम कीजिये। मुझे कोई वकील नहीं चाहिए।<br />
जज: क्यों?<br />
चोर: हुज़ूर बात यह है कि मैं अपनी चुराई मुर्गियां अकेले ही खाना चाहता हूँ।Upload to Facebook
    जज: तुम्हारा वकील कहाँ है?
    चोर: जी मेरा वकील नहीं है।
    जज: लेकिन वकील होना ज़रूरी है। कोई बात नहीं हम तुम्हें सरकारी वकील दे देंगे।
    चोर: नहीं हुज़ूर, मुझ पर रहम कीजिये। मुझे कोई वकील नहीं चाहिए।
    जज: क्यों?
    चोर: हुज़ूर बात यह है कि मैं अपनी चुराई मुर्गियां अकेले ही खाना चाहता हूँ।
  • लड़की: मैं कल तुम से मिलने नहीं आ सकती।<br />
लड़का: चलो मैं तुम्हारा गिफ्ट किसी और को दे देता हूँ।<br />
लड़की: मेरा मतलब था कल नहीं आ सकती, अभी कहाँ हो तुम? मैं आ रही हूँ।Upload to Facebook
    लड़की: मैं कल तुम से मिलने नहीं आ सकती।
    लड़का: चलो मैं तुम्हारा गिफ्ट किसी और को दे देता हूँ।
    लड़की: मेरा मतलब था कल नहीं आ सकती, अभी कहाँ हो तुम? मैं आ रही हूँ।
  • कौन कहता है कि दिल सिर्फ लफ़्ज़ों से ही दुखाया जाता है;<br />
ग्रुप के मेंबर की ख़ामोशी भी कभी-कभी आँखें नम कर देती हैं।Upload to Facebook
    कौन कहता है कि दिल सिर्फ लफ़्ज़ों से ही दुखाया जाता है;
    ग्रुप के मेंबर की ख़ामोशी भी कभी-कभी आँखें नम कर देती हैं।
  • ये बारिश नहीं सरकारी कर्मचारी के आँसू हैं, जेटली साहब।Upload to Facebook
    ये बारिश नहीं सरकारी कर्मचारी के आँसू हैं, जेटली साहब।
  • विकल्प मिलेंगे बहुत, मार्ग भटकाने के लिए;<br />
संकल्प एक ही काफी है मंज़िल तक जाने के लिए।Upload to Facebook
    विकल्प मिलेंगे बहुत, मार्ग भटकाने के लिए;
    संकल्प एक ही काफी है मंज़िल तक जाने के लिए।
  • पीपल के पत्तों जैसे ना बनो, जो वक़्त आने पर सूख कर गिर जाते हैं,<br />
बनना है तो मेहँदी के पत्तों जैसा बनो जो खुद पिस कर भी दूसरों की ज़िन्दगी में रंग भर जाते हैं। Upload to Facebook
    पीपल के पत्तों जैसे ना बनो, जो वक़्त आने पर सूख कर गिर जाते हैं,
    बनना है तो मेहँदी के पत्तों जैसा बनो जो खुद पिस कर भी दूसरों की ज़िन्दगी में रंग भर जाते हैं।
  • आम आदमी पार्टी ने जो कहा था उसमे से पहला वादा पूरा किया:<br />
दिल्ली वालों को 1 मार्च से पानी मुफ्त!Upload to Facebook
    आम आदमी पार्टी ने जो कहा था उसमे से पहला वादा पूरा किया:
    दिल्ली वालों को 1 मार्च से पानी मुफ्त!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT