• बहुत पुरानी कहावत है,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    इसलिए मुझे याद नहीं।
  • बंता: यार संता, अगर हम मरने के बाद नरक में गए तो क्या करेंगे?<br/>
संता: क्या करेंगे मतलब?<br/>
बंता: मतलब हमें तो नरक के बारे में कुछ पता ही नहीं है।<br/>
संता: ओये यह जो शादी होती है न यह आदमी को नरक का अनुभव दिलाने के लिए ही होती है।
    बंता: यार संता, अगर हम मरने के बाद नरक में गए तो क्या करेंगे?
    संता: क्या करेंगे मतलब?
    बंता: मतलब हमें तो नरक के बारे में कुछ पता ही नहीं है।
    संता: ओये यह जो शादी होती है न यह आदमी को नरक का अनुभव दिलाने के लिए ही होती है।
  • ज़िन्दगी एक सफ़र है सुहाना,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    सर्दी आ गई अब भाङ में जाए नहाना।
  • ज्ञान:
    एक आदर्श आदमी ना तो शराब पीता है ना सिगरेट, ना ही गुस्सा करता है और ना गाली देता है और ना ही
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    इस दुनिया में कहीं पाया जाता है।
  • ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;<br/>
आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है;<br/>
पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे;<br/>
कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है।
    ना दूर हमसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;
    आपके ख्यालों में ही हमारा दिन गुज़र जाता है;
    पूछता है यह दिल एक सवाल आपसे;
    कि क्या दूर रहकर भी आपको हमारा ख्याल आता है।
  • एक दूधवाले के पास 3 लीटर और 5 लीटर के ही बर्तन हैं और अगर उसे केवल 1 लीटर दूध अलग से निकालना हो तो वो क्या करेगा?
    एक दूधवाले के पास 3 लीटर और 5 लीटर के ही बर्तन हैं और अगर उसे केवल 1 लीटर दूध अलग से निकालना हो तो वो क्या करेगा?
  • ज़िंदगी तो सभी के लिए एक रंगीन किताब है;<br/>
फर्क बस इतना है कि कोई हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;<br/>
और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है।
    ज़िंदगी तो सभी के लिए एक रंगीन किताब है;
    फर्क बस इतना है कि कोई हर पन्ने को दिल से पढ़ रहा है;
    और कोई दिल रखने के लिए पन्ने पलट रहा है।
  • जब टूटने लगे हौंसला तो बस यही याद रखना;<br/>
बिना मेहनत के कभी तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;<br/>
ढूंढ लेना अंधेरों में भी तुम मंज़िल अपनी;<br/>
क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
    जब टूटने लगे हौंसला तो बस यही याद रखना;
    बिना मेहनत के कभी तख्तो-ताज हासिल नहीं होते;
    ढूंढ लेना अंधेरों में भी तुम मंज़िल अपनी;
    क्योंकि जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते।
  • इंसान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा `दिल` है और अगर वो ही साफ़ ना हो तो चमकता `चेहरा` भी किसी काम का नहीं।
    इंसान के जिस्म का सबसे खूबसूरत हिस्सा "दिल" है और अगर वो ही साफ़ ना हो तो चमकता "चेहरा" भी किसी काम का नहीं।
  • चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;<br/>
तारों ने आसमान को सजाया है;<br/>
कहने को तुम्हें शुभ रात्रि;<br/>
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।<br/>
शुभ रात्रि!
    चाँद ने चाँदनी बिखेरी है;
    तारों ने आसमान को सजाया है;
    कहने को तुम्हें शुभ रात्रि;
    देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।
    शुभ रात्रि!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT