• `ठंडे-ठंडे` पानी से नहाना चाहिए` ये गाना सिर्फ गर्मियों में अच्छा लगता है!<br/>
सर्दियों में तो इस पर बैन लगा देना चाहिए!Upload to Facebook
    "ठंडे-ठंडे" पानी से नहाना चाहिए" ये गाना सिर्फ गर्मियों में अच्छा लगता है!
    सर्दियों में तो इस पर बैन लगा देना चाहिए!
  • ध्यान का अर्थ है भीतर से मुस्कुराना और सेवा का अर्थ है इस मुस्कुराहट को औरों तक पँहुचाना।<br/>
सुप्रभात!Upload to Facebook
    ध्यान का अर्थ है भीतर से मुस्कुराना और सेवा का अर्थ है इस मुस्कुराहट को औरों तक पँहुचाना।
    सुप्रभात!
  • लड़का (दुकानदार से): नए साल का कैलेंडर दे दो!<br/>
दुकानदार: कौन सा दूँ?<br/>
लड़का: जिसमें छुट्टियाँ ज़्यादा हो!Upload to Facebook
    लड़का (दुकानदार से): नए साल का कैलेंडर दे दो!
    दुकानदार: कौन सा दूँ?
    लड़का: जिसमें छुट्टियाँ ज़्यादा हो!
  • जिस शादी में दारू न हो... उस शादी के रिसेप्शन को रिसेप्शन नहीं, भंडारा बोलते हैं!Upload to Facebook
    जिस शादी में दारू न हो... उस शादी के रिसेप्शन को रिसेप्शन नहीं, भंडारा बोलते हैं!
  • लड़कियों की फेवरेट डिश 'भाव' खाना है!Upload to Facebook
    लड़कियों की फेवरेट डिश 'भाव' खाना है!
  • मुबारक हो!<br/>
बस कुछ दिनों बाद सन 2000 भी 18 साल का हो जायेगा!Upload to Facebook
    मुबारक हो!
    बस कुछ दिनों बाद सन 2000 भी 18 साल का हो जायेगा!
  • नाराज़ हुए लोगों को इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए कि...<br/>
मनाने वाले बोल दे भाड़ में जाओ!Upload to Facebook
    नाराज़ हुए लोगों को इतना भी नाराज़ नहीं होना चाहिए कि...
    मनाने वाले बोल दे भाड़ में जाओ!
  • अंकल: अरे बेटा पहचाना नहीं हमें?<br/>
पप्पू: नहीं?<br/>
अंकल: अरे कैसे पहचानोगे बहुत छोटे थे तुम जब हमें मिले थे।<br/>
पप्पू: जब आप इतने समझदार हो, तो बेवकूफों वाले सवाल क्यों पूछते हो?Upload to Facebook
    अंकल: अरे बेटा पहचाना नहीं हमें?
    पप्पू: नहीं?
    अंकल: अरे कैसे पहचानोगे बहुत छोटे थे तुम जब हमें मिले थे।
    पप्पू: जब आप इतने समझदार हो, तो बेवकूफों वाले सवाल क्यों पूछते हो?
  • अगर कोई किसी की Crush को निचोड़ कर देखें तो उसमें इतना सारा Attitude निकलेगा,<br/>
जो उसकी Self Respect को ख़त्म बिलकुल ख़त्म करने के लिए काफ़ी हैं।Upload to Facebook
    अगर कोई किसी की Crush को निचोड़ कर देखें तो उसमें इतना सारा Attitude निकलेगा,
    जो उसकी Self Respect को ख़त्म बिलकुल ख़त्म करने के लिए काफ़ी हैं।
  • अगर राहुल गाँधी ये कहते कि एक तरफ से ''वाटर'' डालूंगा और दूसरी तरफ से ''क्वाटर'' निकालूंगा, तो अब तक वो प्रधानमंत्री बन भी चुके होते। Upload to Facebook
    अगर राहुल गाँधी ये कहते कि एक तरफ से ''वाटर'' डालूंगा और दूसरी तरफ से ''क्वाटर'' निकालूंगा, तो अब तक वो प्रधानमंत्री बन भी चुके होते।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT