• माँ जब जगाती थी तो कभी लेट नहीं होते थे क्योंकि...
    माँ के पास Snooze के बाद एक और Option होता था। पता क्या...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    थप्पड़!
    Smartphone में वो बात कहाँ!
  • जानते हो विदेशों में तलाक लेना बहुत ही आसान है,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    तभी तो वहां लड़कियां शादी के समय रोती नहीं हैं।
  • गिन कर लाये थे, जितने सुकून के पल खुदा से;
    सारे बचा ले जाऊंगा वापस,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    शादी जो हो गयी है।
  • ज्ञान:
    बिना मतलब की लड़ाई और इंजीनियरिंग की पढाई सबके बस की बात नहीं।
  • एक औरत तेज चल रही ट्रेन मे दौड लगाकर चढी तो सब लोग कहने लगे, "कमाल की औरत है, कमाल की औरत है।"
    तो वह औरत बोली, "कमाल तो मेरा देवर है, मैं जमाल की औरत हूँ।"
  • दारू पीते समय जब दोस्त का पैग अपने से बड़ा होता है तब एहसास होता है कि देश से भ्रष्टाचार व बेईमानी का खात्मा कितना जरुरी है।
  • दोस्त है तू मेरा सबसे न्यारा;<br/>
मुबारक हो तुझे जन्मदिन यह प्यारा;<br/>
नज़र न लगे खुशियों को कभी तेरी;<br/>
ना गम की कोई शिकन आये उस चेहरे पे;<br/>
जो है इस दुनिया में सबसे प्यारा।<br/>
जन्मदिन की शुभ कामनायें!
    दोस्त है तू मेरा सबसे न्यारा;
    मुबारक हो तुझे जन्मदिन यह प्यारा;
    नज़र न लगे खुशियों को कभी तेरी;
    ना गम की कोई शिकन आये उस चेहरे पे;
    जो है इस दुनिया में सबसे प्यारा।
    जन्मदिन की शुभ कामनायें!
  • छोटी सी बात पे लोग रूठ जाते हैं;<br/>
हाथ उनसे अनजाने में छूट जाते हैं;<br/>
कहते हैं बड़ा नाज़ुक है अपनेपन का यह रिश्ता;<br/>
इसमें हँसते-हँसते भी दिल टूट जाते हैं।
    छोटी सी बात पे लोग रूठ जाते हैं;
    हाथ उनसे अनजाने में छूट जाते हैं;
    कहते हैं बड़ा नाज़ुक है अपनेपन का यह रिश्ता;
    इसमें हँसते-हँसते भी दिल टूट जाते हैं।
  • एक शब्द से वो अलग हो जाते हैं वरना वो अलग नही होते।<br/>
बताओ यह क्या है?
    एक शब्द से वो अलग हो जाते हैं वरना वो अलग नही होते।
    बताओ यह क्या है?
  • कहा ये किसी ने कि फूलों से दिल लगाऊं मैं;<br/>
अगर तेरा ख्याल न सोचूं तो मर जाऊं मैं;<br/>
माँग ना मुझसे तू हिसाब मेरी मोहब्बत का;<br/>
आ जाऊं इम्तिहान पे तो हद से गुज़र जाऊं मैं।
    कहा ये किसी ने कि फूलों से दिल लगाऊं मैं;
    अगर तेरा ख्याल न सोचूं तो मर जाऊं मैं;
    माँग ना मुझसे तू हिसाब मेरी मोहब्बत का;
    आ जाऊं इम्तिहान पे तो हद से गुज़र जाऊं मैं।
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT