• शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है।  शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है।
    शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है। शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है।
    ~ Chanakya
  • सांप के फन, मक्खी के मुख और बिच्छु के डंक में ज़हर होता है; पर दुष्ट व्यक्ति तो इससे भरा होता है।
    सांप के फन, मक्खी के मुख और बिच्छु के डंक में ज़हर होता है; पर दुष्ट व्यक्ति तो इससे भरा होता है।
    ~ Chanakya
  • व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है, और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है, और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है!
    व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है, और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है, और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है!
    ~ Chanakya
  • शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पता है, शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है।
    शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पता है, शिक्षा सौंदर्य और यौवन को परास्त कर देती है।
    ~ Chanakya
  • व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है, और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है, और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है!
    व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है, और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है, और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है!
    ~ Chanakya
  • परिश्रम वह चाबी है,​ ​जो किस्मत का दरवाजा खोल देती है।
    ~ Chanakya
  • कामयाब होने के लिए अच्छे मित्रों की आवश्यकता होती है और ज्यादा कामयाब होने के लिए अच्छे शत्रुओं की आवश्यकता होती है।
    ~ Chanakya
  • आँख से अंधे को दुनिया नहीं दिखती। काम के अंधे को विवेक नहीं दिखता। मद के अंधे को अपने से श्रेष्ठ नहीं दिखता। और स्वार्थी को कहीं भी दोष नहीं दिखता।
    आँख से अंधे को दुनिया नहीं दिखती। काम के अंधे को विवेक नहीं दिखता। मद के अंधे को अपने से श्रेष्ठ नहीं दिखता। और स्वार्थी को कहीं भी दोष नहीं दिखता।
    ~ Chanakya
  • वही मित्र है जिस पर विश्वास किया जा सके और वही​ देश ​​है जहाँ जीविका हो।
    वही मित्र है जिस पर विश्वास किया जा सके और वही​ देश ​​है जहाँ जीविका हो।
    ~ Chanakya
  • ​​​​​कभी भी ​​अपने से कम या ज्यादा हैसियत वालों से दोस्ती मत करो, ऐसी ​दोस्ती कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी​।
    ​​​​​कभी भी ​​अपने से कम या ज्यादा हैसियत वालों से दोस्ती मत करो, ऐसी ​दोस्ती कभी आपको ख़ुशी नहीं देगी​।
    ~ Chanakya
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT