• रहें न रिंद ये वाइज़ के बस की बात नहीं;<br/>
तमाम शहर है दो-चार-दस की बात नहीं।
    रहें न रिंद ये वाइज़ के बस की बात नहीं;
    तमाम शहर है दो-चार-दस की बात नहीं।
    ~ Kaifi Azami