• अमीर गरीब के लिए कुछ भी कर सकते हैं लेकिन उनके ऊपर से हट नहीं सकते|
    अमीर गरीब के लिए कुछ भी कर सकते हैं लेकिन उनके ऊपर से हट नहीं सकते|
    ~ Karl Marx
  • ज़रुरत तब तक अंधी होती है जब तक उसे होश न आ जाये, आज़ादी ज़रुरत की चेतना होती है|
    ज़रुरत तब तक अंधी होती है जब तक उसे होश न आ जाये, आज़ादी ज़रुरत की चेतना होती है|
    ~ Karl Marx
  • सामाजिक प्रगति समाज में महिलाओं को मिले स्थान से मापी जा सकती है|
    सामाजिक प्रगति समाज में महिलाओं को मिले स्थान से मापी जा सकती है|
    ~ Karl Marx
  • किसी के गुणों की प्रशंसा करने में अपना समय व्यर्थ नष्ट न करो, उसके गुणों को अपनाने का प्रयत्न करो।
    किसी के गुणों की प्रशंसा करने में अपना समय व्यर्थ नष्ट न करो, उसके गुणों को अपनाने का प्रयत्न करो।
    ~ Karl Marx
  • पूँजी मृत श्रम है, जो पिशाच की तरह केवल जीवित श्रमिकों  का खून चूस कर जिंदा रहता है, और जितना अधिक ये जिंदा रहता है उतना ही अधिक श्रमिकों को चूसता है।
    पूँजी मृत श्रम है, जो पिशाच की तरह केवल जीवित श्रमिकों का खून चूस कर जिंदा रहता है, और जितना अधिक ये जिंदा रहता है उतना ही अधिक श्रमिकों को चूसता है।
    ~ Karl Marx
  • इतिहास खुद को दोहराता है, पहले एक त्रासदी की तर , दुसरे एक मज़ाक की तरह।
    इतिहास खुद को दोहराता है, पहले एक त्रासदी की तर , दुसरे एक मज़ाक की तरह।
    ~ Karl Marx
  • इतिहास खुद को दोहराता है। पहले एक त्रासदी की तरह फिर एक मज़ाक की तरह।
    ~ Karl Marx
  • किसी समाज की प्रगति समाज में महिलाओं को मिले स्थान से मापी जा सकती है।
    ~ Karl Marx
  • सामाजिक प्रगति समाज में महिलाओं को मिले स्थान से मापी जा सकती है।
    ~ Karl Marx
  • पूंजीवादी समाज में पूंजी स्वतंत्र और व्यक्तिगत है, जबकि जीवित व्यक्ति आश्रित है और उसकी कोई वयक्तिकता नहीं है।
    ~ Karl Marx