• अतीत को देखते रहना व्यर्थ है, जब तक उस अतीत पर गर्व करने योग्य भविष्य के निर्माण के लिये कार्य न किया जाये!
    अतीत को देखते रहना व्यर्थ है, जब तक उस अतीत पर गर्व करने योग्य भविष्य के निर्माण के लिये कार्य न किया जाये!
    ~ Lala Lajpat Rai
  • मनुष्य अपने गुणों से आगे बढता है न कि दूसरों की कृपा से।
    मनुष्य अपने गुणों से आगे बढता है न कि दूसरों की कृपा से।
    ~ Lala Lajpat Rai
  • मनुष्य अपने गुणों से आगे बढता है न कि दूसरों कि कृपा से।
    मनुष्य अपने गुणों से आगे बढता है न कि दूसरों कि कृपा से।
    ~ Lala Lajpat Rai