• अधिक से अधिक भोले, कम ज्ञानी और बच्चों की तरह बनिए। जीवन को मजे के रूप में लीजिये - क्योंकि वास्तविकता में यही जीवन है।
    अधिक से अधिक भोले, कम ज्ञानी और बच्चों की तरह बनिए। जीवन को मजे के रूप में लीजिये - क्योंकि वास्तविकता में यही जीवन है।
    ~ Osho
  • खुद को खोजिये, नहीं तो आपको दुसरे लोगों की राय पर निर्भर रहना पड़ेगा जो खुद को नहीं जानते!
    खुद को खोजिये, नहीं तो आपको दुसरे लोगों की राय पर निर्भर रहना पड़ेगा जो खुद को नहीं जानते!
    ~ Osho
  • मनुष्य का हमेशा डर के माध्यम से शोषण किया जाता है।
    मनुष्य का हमेशा डर के माध्यम से शोषण किया जाता है।
    ~ Osho
  • वो जो आपको दुखी बनाता है केवल वही पाप है। वो जो आपको खुद से दूर ले जाता है केवल उसी से बचने की ज़रूरत है।
    वो जो आपको दुखी बनाता है केवल वही पाप है। वो जो आपको खुद से दूर ले जाता है केवल उसी से बचने की ज़रूरत है।
    ~ Osho
  • सम्बन्ध उनकी ज़रुरत हैं जो अकेले नहीं रह सकते।
    सम्बन्ध उनकी ज़रुरत हैं जो अकेले नहीं रह सकते।
    ~ Osho
  • जीवन ठहराव और गति के बीच का संतुलन है।
    जीवन ठहराव और गति के बीच का संतुलन है।
    ~ Osho
  • जब प्यार और नफरत दोनों ही ना हो तो हर चीज साफ़ और स्पष्ट हो जाती है!
    जब प्यार और नफरत दोनों ही ना हो तो हर चीज साफ़ और स्पष्ट हो जाती है!
    ~ Osho
  • यहाँ कोई भी आपका सपना पूरा करने के लिए नहीं है! हर कोई अपनी तकदीर और अपनी हक़ीकत बनाने में लगा है!
    यहाँ कोई भी आपका सपना पूरा करने के लिए नहीं है! हर कोई अपनी तकदीर और अपनी हक़ीकत बनाने में लगा है!
    ~ Osho
  • जब प्यार और नफरत दोनों ही ना हो तो हर चीज साफ़ और स्पष्ट हो जाती है!
    जब प्यार और नफरत दोनों ही ना हो तो हर चीज साफ़ और स्पष्ट हो जाती है!
    ~ Osho
  • निषेध से आकर्षण बढ़ता है। जिस चीज का इंकार किया जाए,उसमे एक तरह का रस पैदा होना शुरू हो जाता है।
    निषेध से आकर्षण बढ़ता है। जिस चीज का इंकार किया जाए,उसमे एक तरह का रस पैदा होना शुरू हो जाता है।
    ~ Osho