• कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है| ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है| अगर कोई पाप है, तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं|
    कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है| ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है| अगर कोई पाप है, तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं|
    ~ Swami Vivekananda
  • विश्व एक व्यायामशाला है जहाँ हम खुद को मजबूत बनाने के लिए आते हैं।
    विश्व एक व्यायामशाला है जहाँ हम खुद को मजबूत बनाने के लिए आते हैं।
    ~ Swami Vivekananda
  • पहले हर अच्छी बात का मज़ाक बनता है, फिर उसका विरोध होता है और फिर उसे स्वीकार कर लिया जाता है।
    ~ Swami Vivekananda
  • हम भगवान को खोजने कहाँ जा सकते हैं, अगर हम उसे अपने इस दिल में नहीं ढूंढ सकते।
    हम भगवान को खोजने कहाँ जा सकते हैं, अगर हम उसे अपने इस दिल में नहीं ढूंढ सकते।
    ~ Swami Vivekananda
  • इंसान कभी नहीं मरता ना ही कभी पैदा होता है; शरीर मरते हैं वो नहीं।
    इंसान कभी नहीं मरता ना ही कभी पैदा होता है; शरीर मरते हैं वो नहीं।
    ~ Swami Vivekananda
  • जिस तरह से विभिन्न स्रोतों से उत्पन्न धाराएँ अपना जल समुद्र में मिला देती हैं, उसी प्रकार मनुष्य द्वारा चुना हर मार्ग, चाहे अच्छा हो या बुरा भगवान तक जाता है।
    ~ Swami Vivekananda
  • जिसमे आत्मविश्वास नहीं उसमे अन्य चीजों के प्रति विश्वास कैसे उत्पन्न हो सकता है​​।
    जिसमे आत्मविश्वास नहीं उसमे अन्य चीजों के प्रति विश्वास कैसे उत्पन्न हो सकता है​​।
    ~ Swami Vivekananda
  • संभव की सीमा जानने का केवल एक ही तरीका है, कि असंभव से भी आगे निकल जाओ।
    ~ Swami Vivekananda
  • बिना अनुभव के कोरा शाब्दिक ज्ञान अंधा है।
    ~ Swami Vivekananda
  • कभी भी अपने पर से विश्वास मत खोओ, तुम इस विश्व में कुछ भी कर सकते हो।
    कभी भी अपने पर से विश्वास मत खोओ, तुम इस विश्व में कुछ भी कर सकते हो।
    ~ Swami Vivekananda