• टीचर: सेमेस्टर सिस्टम से क्या फायदा है, बताओ?<br/>
पप्पू: फायदा तो पता नहीं, पर बेइज्जती साल में दो बार हो जाती है।Upload to Facebook
    टीचर: सेमेस्टर सिस्टम से क्या फायदा है, बताओ?
    पप्पू: फायदा तो पता नहीं, पर बेइज्जती साल में दो बार हो जाती है।
  • एक कंजूस बनिया अपने बच्चे को पीट रहा था।<br/>
पडोसी: बच्चे को क्यों पीट रहे हो?<br/>
बनिया: नालायक से कहा था कि एक सीढी छोडकर चढना, चप्पल कम घिसेगी। ये दो सीढी छोडकर चढा।<br/>
पडोसी: फिर क्या हो गया?<br/>
बनिया: अरे कमबख्त ने पजामा फाड लिया है।Upload to Facebook
    एक कंजूस बनिया अपने बच्चे को पीट रहा था।
    पडोसी: बच्चे को क्यों पीट रहे हो?
    बनिया: नालायक से कहा था कि एक सीढी छोडकर चढना, चप्पल कम घिसेगी। ये दो सीढी छोडकर चढा।
    पडोसी: फिर क्या हो गया?
    बनिया: अरे कमबख्त ने पजामा फाड लिया है।
  • हरियाणा रोडवेज प्रशासन को शिकायत मिली कि हरियाणा रोडवेज के कंडक्टर बहुत बदतमीजी से बोलते हैं। उन्होने फौरन आदेश दिया कि सभी कंडक्टर कुछ भी कहने से पहले "कृपया" शब्द का इस्तेमाल करेंगे। दूसरे दिन एक बस में कई आदमी चढ़ गए और दरवाजे पर लटक लिये। थोड़ी देर बाद कंडक्टर आया और बोला,
    "कृपा करकै आगे-नै मर ल्यो।"
  • उस चाँद को बहुत गुरूर है कि उसके पास नूर है;<br/>
मगर वो क्या जाने कि मेरा तो पूरा ग्रुप कोहिनूर है।Upload to Facebook
    उस चाँद को बहुत गुरूर है कि उसके पास नूर है;
    मगर वो क्या जाने कि मेरा तो पूरा ग्रुप कोहिनूर है।
  • होके मायूस ना यूँ शाम की तरह ढलते रहिये,<br/>
ज़िंदगी एक भोर है सूरज की तरह निकलते रहिये,<br/>
ठहरोगे एक पाँव पर तो थक जाओगे,<br/>
धीरे धीरे ही सही मगर राह पे चलते रहिये।Upload to Facebook
    होके मायूस ना यूँ शाम की तरह ढलते रहिये,
    ज़िंदगी एक भोर है सूरज की तरह निकलते रहिये,
    ठहरोगे एक पाँव पर तो थक जाओगे,
    धीरे धीरे ही सही मगर राह पे चलते रहिये।
  • बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,<br/>
अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।Upload to Facebook
    बस एक ही बात सीखी है ज़िन्दगी में,
    अगर अपनों के करीब रहना है तो मौन रहो और अपनों को करीब रखना है तो बात दिल पर मर लो।
  • तू नहीं तेरे अंदर बैठे रब्ब से मोहब्बत है मुझे,<br/>
तू तो बस एक जरिया है मेरी इबादत का।Upload to Facebook
    तू नहीं तेरे अंदर बैठे रब्ब से मोहब्बत है मुझे,
    तू तो बस एक जरिया है मेरी इबादत का।
  • मोदी: याकूब आदमी ठीक था, जाते-जाते हमारे लिए कितना कुछ कर के गया।<br/>
पी. ए. : सर क्या कह रहे हैं आप?<br/>
मोदी: और क्या,  यह व्यापम, चिक्की, ललित वगैरह सब लोग एकदम से भूल गए।Upload to Facebook
    मोदी: याकूब आदमी ठीक था, जाते-जाते हमारे लिए कितना कुछ कर के गया।
    पी. ए. : सर क्या कह रहे हैं आप?
    मोदी: और क्या, यह व्यापम, चिक्की, ललित वगैरह सब लोग एकदम से भूल गए।
  • जिस तेजी से टूथ पेस्ट में नमक, पुदीना, नींबू, बबूल, अदरक मिलाए जा रहे हैं...
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    जल्द ही इसे 'राष्ट्रीय चटनी' घोषित कर देना चाहिए।
  • पूरा दिन गुजर गया, ना तो किसी ने बियर के लिए बुलाया, ना ही दारू पीने की दावत दी।<br/>
कैसा फ्रेंडशिप डे था ये?Upload to Facebook
    पूरा दिन गुजर गया, ना तो किसी ने बियर के लिए बुलाया, ना ही दारू पीने की दावत दी।
    कैसा फ्रेंडशिप डे था ये?
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT