• इतना तो साला बगुला भी मछली पकड़ने के लिये चोंच नहीं निकालता होगा,
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    जितना लड़कियां आजकल 'सेल्फी' लेने के समय होठ निकालती हैं।
  • अकेले पीने के बाद सबसे बड़ी दिक्कत तो यह होती है कि
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    अब अंग्रेजी किसके साथ बोलें।
  • एक छोटी सी कहानी:
    एक था चिड़ा और थी चिड़ी;
    खुश थे दोनों शादी से पहले;
    और शादी के बाद:
    चिड़ा, चिढ़चिढ़ा हो गया;
    और चिड़ी चिढ़चिढ़ी हो गयी।
  • भूकंप के बाद बिहार सरकार ने लड़कियों के लिपस्टिक लगाने पर रोक लगा दी है, क्योंकि...
    तू लगावेल जब लिपस्टिक, हिलेला सारा डिस्टिक!
  • भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले क्षेत्र -
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    .
    फेसबुक, व्हाट्सएप्प और ट्विटर!
  • रिश्तों की है यह दुनिया निराली;<br />
सब रिश्तों से प्यारी है यह दोस्ती तुम्हारी;<br />
मंज़ूर हैं आँसू भी आँखों में तुम्हारी;<br />
ऐ दोस्त अगर आ जाये होंठों पे मुस्कान तुम्हारी।Upload to Facebook
    रिश्तों की है यह दुनिया निराली;
    सब रिश्तों से प्यारी है यह दोस्ती तुम्हारी;
    मंज़ूर हैं आँसू भी आँखों में तुम्हारी;
    ऐ दोस्त अगर आ जाये होंठों पे मुस्कान तुम्हारी।
  • हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब तो दो;<br />
चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो;<br />
एक दिन पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;<br />
सिर्फ कोशिश करके एक शुरुआत तो दो।Upload to Facebook
    हर दिन अपनी ज़िन्दगी को एक नया ख्वाब तो दो;
    चाहे पूरा ना हो पर आवाज़ तो दो;
    एक दिन पूरे हो जायेंगे सारे ख्वाब तुम्हारे;
    सिर्फ कोशिश करके एक शुरुआत तो दो।
  • तेरी मेहर पर शक नहीं है मेरे सतगुरु,<br />
मैं तेरे रहम के काबिल हूँ, इस बात पर शक है मुझे।Upload to Facebook
    तेरी मेहर पर शक नहीं है मेरे सतगुरु,
    मैं तेरे रहम के काबिल हूँ, इस बात पर शक है मुझे।
  • 'मुसीबत' और 'ख़ुशी' बिना किसी अपॉइंटमेंट के आ जाती है,
    इसलिए अपने आप को इतना तैयार रखो कि मुसीबत के समय 'होश' और ख़ुशी के समय 'जोश' कायम रहे।
  • जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना;<br />
तारों का काम है सारी रात चमकते रहना;<br />
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना;<br />
वैसे हमारा है काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना।<br />
शुभ रात्रि!Upload to Facebook
    जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना;
    तारों का काम है सारी रात चमकते रहना;
    दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना;
    वैसे हमारा है काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना।
    शुभ रात्रि!
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT