Hindi SMS

Page: 1
मैंने एक दोस्त को दुआ दी कि सदा हँसते मुस्कुराते रहो, आज वो पागलखाने में है।
दूसरे को दुआ दी कि दुनिया तेरे इशारे पर चले, आज वो ट्रैफिक पुलिस में है।
तीसरे को दुआ दी कि तेरी जिंदगी में फूल ही फूल हो, आज वो माली है।
चौथे को दुआ दी कि सदा चमकते रहो, आज उसके सर पर एक भी बाल नही है।
अब दोस्तों आप बताओ आपके लिए क्या दुआ करूं?
आप भी अक्सर कहते हो दुआओं में याद रखना।
एक लड़की ने मुझसे पूछा क्या आप WhatsApp चलाते हो?
.
.
.
.
.
.
.
.
मैंने कहा नही ड्राइवर रखा हुआ है।
है
स्मार्ट
बहुत
वो
है
भेजा
ने
जिस
और
हूँ
रहा
पढ़
से
नीचे
को
मैसेज
जो
हूँ
पागल
वो
मैं
.
.
.
.
.
क्या हुआ समझ नहीं आया।
.
.
.
.
.
अब मैसेज नीचे से ऊपर की ओर पढ़ो।
संता पप्पू को डांटते हुए, "पानी सर से ऊँचा होता जा रहा है।"
अंदर से जीतो जो बाथरूम में टब में नहा रही थी बोली, "जी तुम कहाँ से देख रहे हो? दरवाजा तो बंद है।"
ले गए हैं आप हमें जीवन के उस मुकाम पर;<br/>
गर्व से उठते हैं जहाँ हमारे सिर;<br/>
आप ही ने बनाया हमें इस काबिल<br/>
कि अब तो लगे आसान भी हर मुश्किल।<br/>
शिक्षक दिवस की शुभ कामनायें!
ले गए हैं आप हमें जीवन के उस मुकाम पर;
गर्व से उठते हैं जहाँ हमारे सिर;
आप ही ने बनाया हमें इस काबिल
कि अब तो लगे आसान भी हर मुश्किल।
शिक्षक दिवस की शुभ कामनायें!
दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान है;<br/>
दोस्त ना हो तो महफ़िल भी शमशान है;<br/>
सारा खेल दोस्ती का है वरना;<br/>
जनाज़ा और बारात एक समान है।
दोस्त साथ हो तो रोने में भी शान है;
दोस्त ना हो तो महफ़िल भी शमशान है;
सारा खेल दोस्ती का है वरना;
जनाज़ा और बारात एक समान है।
ऐसी कौन सी चीज़ है जो धूप में आने पर जलने लगती है और छाँव में आने पर मुरझा जाती है,
और हवा चलने पर मर जाती है?
ऐसी कौन सी चीज़ है जो धूप में आने पर जलने लगती है और छाँव में आने पर मुरझा जाती है, और हवा चलने पर मर जाती है?

ना दूर मुझसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;<br/>
हमेशा तेरे ख्यालों में दिन गुज़र जाता है;<br/>
दिल ने एक सवाल पूछा था तुमसे;<br/>
क्या दूर रह कर तुम्हें भी मेरा ख्याल आता है।
ना दूर मुझसे जाया करो, दिल तड़प जाता है;
हमेशा तेरे ख्यालों में दिन गुज़र जाता है;
दिल ने एक सवाल पूछा था तुमसे;
क्या दूर रह कर तुम्हें भी मेरा ख्याल आता है।
शिवाय विष्णु रुपाय<br/>
शिव रुपाय विष्णवे<br/>
शिवस्य हृदयं विष्णुः<br/>
विष्णोश्च हृदयं शिव:
शिवाय विष्णु रुपाय
शिव रुपाय विष्णवे
शिवस्य हृदयं विष्णुः
विष्णोश्च हृदयं शिव:
संभव और असंभव के बीच की दूरी व्यक्ति के निशचय पर निर्भर करती है।
संभव और असंभव के बीच की दूरी व्यक्ति के निशचय पर निर्भर करती है।

Quotes

आध्यात्मिक जीवन हमें संसार से दूर नहीं करता बल्कि इसे और गहराई से समझने लायक बनाता है।

Trivia

There's a Japanese island that has been taken over by cats - It's called Tashirojima.

Graffiti

Glass house jokes are always transparent.