• अनुशासन केवल फौजों के लिए नहीं, जीवन के हर क्षेत्र के लिए है।
    ~ Mahatma Gandhi
  • नियम के बिना और अभिमान के साथ किया गया तप व्यर्थ ही होता है।
    ~ Veda Vyasa
  • बाहरी दुनिया की भांति अपने मन और शरीर को भी अनुशासन में रखना चाहिए।Upload to Facebook
    बाहरी दुनिया की भांति अपने मन और शरीर को भी अनुशासन में रखना चाहिए।
    ~ Mahatma Gandhi
  • अनुशासन का पालन तभी संभव है, जब मनुष्य का उस काम में अनुराग हो जिसमें वह लगा हुआ है। इसके बिना तो अनुशासन अनुकरण-मात्र होगा। Upload to Facebook
    अनुशासन का पालन तभी संभव है, जब मनुष्य का उस काम में अनुराग हो जिसमें वह लगा हुआ है। इसके बिना तो अनुशासन अनुकरण-मात्र होगा।
    ~ Mahatma Gandhi
  • अनुशासन परिष्कार की अग्नि है, जिससे प्रतिभा योग्यता बन जाती है।
    ~ Author Unknown
ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT